NDTV Khabar

पंजाब के गुरदासपुर में ‘आप’ उम्मीदवार के सुरक्षा कर्मी ने चलाई अंधाधुंध गोलियां

पुलिस के मुताबिक गुरदासपुर लोकसभा उप-चुनाव के लिए ‘आप’ के उम्मीदवार मेजर जनरल (सेवानिवृत) सुरेश खजूरिया के आवास पर तैनात सिंह ‘मतिभ्रम’ का शिकार था.

447 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
पंजाब के गुरदासपुर में ‘आप’ उम्मीदवार के सुरक्षा कर्मी ने चलाई अंधाधुंध गोलियां

प्रतीकात्मक तस्वीर

खास बातें

  1. कमांडो रिहायशी इलाके में सड़क पर चलते हुए फायरिंग करता रहा.
  2. मेडिकल रिपोर्ट के अनुसार, वह मतिभ्रम का शिकार था.
  3. सिंह ने करीब 20 गोलियां चलाई.
पठानकोट: आम आदमी पार्टी के उम्मीदवार के घर तैनात कमांडो ने गुरुवार को अचानक अंधाधुंध फायरिंग शुरु कर दी जिससे आस पास के लोग सकते में आ गए. गुरदासपुर लोकसभा सीट पर होने वाले उप-चुनाव के लिए आम आदमी पार्टी (आप) के उम्मीदवार के आवास पर तैनात पंजाब पुलिस के एक कमांडो ने गुरुवार को अंधाधुंध गोलीबारी की, जिससे कई गाड़ियों को नुकसान पहुंचा और इलाके के लोग घबरा गए. पुलिस ने बताया कि लखविंदर सिंह (47) ने स्थानीय विक्टोरिया एस्टेट इलाके में तड़के करीब 4:45 बजे अपनी एसएलआर राइफल से गोलियां चलानी शुरू कर दी. घटना में किसी के हताहत होने की खबर नहीं है .
 
पुलिस के मुताबिक गुरदासपुर लोकसभा उप-चुनाव के लिए ‘आप’ के उम्मीदवार मेजर जनरल (सेवानिवृत) सुरेश खजूरिया के आवास पर तैनात सिंह ‘मतिभ्रम’ का शिकार था.

यह भी पढे़ं : पंजाब में कर्ज के बोझ तले दबे किसान ने आत्महत्या की

पठानकोट के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) विवेक शील सोनी ने कहा, ‘हमने उसका मेडिकल परीक्षण कराया और मेडिकल रिपोर्ट के अनुसार, वह मतिभ्रम का शिकार था.’ उन्होंने कहा कि हो सकता है कि वह ‘सिजोफ्रेनिया’ का भी शिकार रहा हो. सिजोफ्रेनिया एक मानसिक बीमारी है जिसमें रोगी सच और कल्पना के बीच का अंतर नहीं समझ पाता .
 
एसएसपी सोनी ने बताया कि आरोपी कमांडो को गिरफ्तार कर लिया गया है और उसके खिलाफ शस्त्र कानून की धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है. उन्होंने बताया, ‘शुरू में उसने हवा में गोलियां चलाई और फिर वह रिहायशी इलाके में सड़क पर चलते हुए फायरिंग करता रहा.’ सिंह ने करीब 20 गोलियां चलाई . उसने इलाके में घरों के बाहर खड़ी गाड़ियों पर गोलियां चलाई. एसएसपी ने बताया, ‘चार गाड़ियों को नुकसान हुआ. इसके अलावा, कुछ गोलियां तो घरों की खिड़कियों और दीवारों पर भी लगीं. इससे इलाके के लोगों में घबराहट फैल गई.’ पुलिस ने बताया कि सिंह को तुरंत काबू में किया गया और पुलिस को सौंप दिया गया. वह शराब के नशे में था.सिंह चुनाव आयोग की ओर से खजूरिया को मुहैया कराई गई सुरक्षा टीम का हिस्सा था .

VIDEO : विदेश भेजने का झांसे में लाखों गंवा बैठा शहीद का भाई, थाने के सामने एजेंट ने की पिटाई​
गुरदासपुर लोकसभा उपचुनाव 11 अक्तूबर को होने वाले हैं . इस साल अप्रैल में भाजपा सांसद विनोद खन्ना के निधन के कारण यह सीट खाली हुई थी.(इनपुट भाषा से)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement