NDTV Khabar

पंजाब में आप-अकाली दल (टकसाली) का गठबंधन तय, जल्द हो सकता है- सूत्र

आम आदमी पार्टी आनंदपुर साहिब सीट छोड़ने को तैयार नहीं है जबकि बठिंडा सीट की जगह आम आदमी पार्टी अकाली दल टकसाली को गुरुदासपुर देने को तैयार है.

3 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
पंजाब में आप-अकाली दल (टकसाली) का गठबंधन तय, जल्द हो सकता है- सूत्र

लोकसभा चुनाव को लेकर आप ने कसी कमर

चंडीगढ़:

पंजाब में आम आदमी पार्टी और शिरोमणि अकाली दल (टकसाली) का लोकसभा चुनाव के लिए गठबंधन हो गया है. सूत्रों के मुताबिक अकाली दल (टकसाली) पंजाब की 3-4 लोकसभा सीटों पर चुनाव लड़ सकती है जबकि आम आदमी पार्टी 9-10 लोकसभा सीटों पर चुनाव लड़ेगी. सीटों की सही संख्या का औपचारिक ऐलान जल्द होने की संभावना है. कुछ महीनों पहले सुखबीर बादल के नेतृत्व वाली शिरोमणि अकाली दल से कुछ नेता अलग हुए थे जिन्होंने अकाली दल (टकसाली) पार्टी बनाई थी. सूत्रों के मुताबिक अकाली दल टकसाली आम आदमी पार्टी से 4 लोकसभा सीटें मांग रही है. भटिंडा, खड़ूर साहिब, फ़िरोज़पुर और आंनदपुर साहिब.

नहीं होगा कांग्रेस के साथ गठबंधन: आम आदमी पार्टी ने दिल्ली की 6 सीटों पर उम्मीदवारों का ऐलान किया

आम आदमी पार्टी आनंदपुर साहिब सीट छोड़ने को तैयार नहीं है जबकि बठिंडा सीट की जगह आम आदमी पार्टी अकाली दल टकसाली को गुरुदासपुर देने को तैयार है. पंजाब आम आदमी पार्टी के लिए बेहद अहम राज्य है. लोकसभा चुनाव 2014 में पंजाब में आम आदमी पार्टी ने 4 लोकसभा सीटें जीती थी. जबकि 2017 के विधानसभा चुनावों में आम आदमी पार्टी ने 20 सीटें जीतकर मुख्य विपक्षी पार्टी का दर्जा हासिल किया था. बता दें कि शनिवार को ही दिल्ली की तरह ही आम आदमी पार्टी अब हरियाणा में भी लोकसभा चुनाव अकेले ही लड़ने का ऐलान किया. आम आदमी पार्टी के हरियाणा संयोजक नवीन जयहिंद ने ट्वीट कर कहा कि 'हरियाणा में आप सभी 10 लोकसभा और 90 विधानसभा पर अपने दम पर चुनाव लड़ेगी. JJP के साथ गठबंधन की बातचीत समाप्त.


दिल्ली में AAP और कांग्रेस के बीच गठबंधन की चर्चा गर्म, शीला दीक्षित के घर पर आपात बैठक: सूत्र

इससे पहले आम आदमी पार्टी और जननायक जनता पार्टी (JJP) के बीच गठबंधन को लेकर बात हो रही थी. लेकिन सीटों के बंटवारे को लेकर बात न बन पाने की वजह से दोनों ही पार्टियों ने चुनाव में अकेले ही जाने का फैसला किया है. नवीन जयहिंद ने कहा कि JJP हमें 10 में से केवल 2 सीट दे रही है और बदले में दिल्ली में एक सीट मांग रही है. उनका यह प्रस्ताव हमारी पार्टी को मंजूर नहीं है. हमारा ऐसा मानना है कि अगर यह गठबंधन होता है तो इससे केवल बीजेपी को ही फ़ायदा होगा. उन्होंने कहा कि हमनें JJP को काफ़ी समझाया पर वह नहीं मान रही.

आम आदमी पार्टी ने हाल ही में हुए जींद विधानसभा उप-चुनाव में JJP के उम्मीदवार दिग्विजय चौटाला का समर्थन किया था. आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद सुशील गुप्ता ने सक्रिय रूप से JJP के उम्मीदवार के लिए चुनाव प्रचार भी किया था. खुद आम आदमी पार्टी के मुखिया और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल JJP उम्मीदवार के लिए प्रचार करने जींद भी गए थे. बता दें कि हरियाणा दिल्ली से लगा हुआ राज्य है.

नहीं होगा कांग्रेस के साथ गठबंधन: आम आदमी पार्टी ने दिल्ली की 6 सीटों पर उम्मीदवारों का ऐलान किया

दिल्ली में आम आदमी पार्टी की सरकार है. इसलिए पार्टी दिल्ली और पंजाब के बाद अब हरियाणा में चुनाव के लिए पूरा जोर लगा रही है. खुद पार्टी के मुखिया अरविंद केजरीवाल लगातार हरियाणा के अलग-अलग इलाकों में रैली करके दिल्ली सरकार के स्कूल और अस्पताल में किए गए कामों का जमकर बखान कर रहे हैं. पार्टी को उम्मीद थी कि JJP के साथ गठबंधन करके वह आगामी लोकसभा चुनाव में अच्छा प्रदर्शन करेगी लेकिन गठबंधन की डोर परवान न चढ़ने से पार्टी को एक के बाद एक चार झटके लगे हैं.

दिल्ली में AAP और कांग्रेस के बीच गठबंधन की चर्चा गर्म, शीला दीक्षित के घर पर आपात बैठक: सूत्र

आपको ध्यान हो कि JJP असल में हरियाणा के चौटाला परिवार के इंडियन नेशनल लोकदल से निकली पार्टी है. चौटाला परिवार में मतभेद हुए जिसके बाद हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री और पार्टी के मुखिया रहे ओम प्रकाश चौटाला ने अपने पोते और सांसद दुष्यंत चौटाला को पार्टी से निकाल दिया. सांसद दुष्यंत चौटाला ने अपने भाई दिग्विजय चौटाला के साथ मिलकर जननायक जनता पार्टी बनाई. जननायक जनता पार्टी के उम्मीदवार के तौर पर दिग्विजय चौटाला ने जींद विधानसभा चुनाव में पहली बार चुनाव लड़ा और बीजेपी को कड़ी टक्कर दी. चुनाव बीजेपी ने जीता लेकिन जननायक जनता पार्टी के उम्मीदवार दूसरे नंबर पर रहे. 

VIDEO: दिल्ली में कांग्रेस-आप के बीच गठबंधन नहीं. 

टिप्पणियां

 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement