NDTV Khabar

AAP को टूटने से बचा पाएंगे अरविंद केजरीवाल? पंजाब के विधायकों के साथ बैठक आज

पंजाब के विधायक और विपक्ष के नेता सुखपाल खैरा ने बैठक में आने से मना कर दिया है. अब पार्टी के सामने ये भी बड़ा संकट पैदा हो गया है कि क्या इस बैठक में पंजाब से आम आदमी पार्टी के सभी विधायक हिस्सा लेंगे.

360 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
AAP को टूटने से बचा पाएंगे अरविंद केजरीवाल? पंजाब के विधायकों के साथ बैठक आज

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ( फाइल फोटो )

खास बातें

  1. पंजाब के विधायक सुखपाल खैरा ने आने से किया मना
  2. आज पंजाब के विधायकों से मिलेंगे केजरीवाल
  3. बिक्रम मजीठिया से माफी के बाद पार्टी में बवाल
नई दिल्ली: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल  द्वारा मानहानि मामले में अकाली दल नेता बिक्रम मजीठिया से लिखित माफी मांगने के बाद पंजाब में आप नेताओं ने बगावती बरक़रार हैं. आज दिल्ली में अरविंद केजरीवाल पार्टी के पंजाब विधायकों की बैठक बुलाई है जिसमें वह अपनी बात रखेंगे. लेकिन इस बैठक में पंजाब के विधायक और विपक्ष के नेता सुखपाल खैरा ने बैठक में आने से मना कर दिया है. अब पार्टी के सामने ये भी बड़ा संकट पैदा हो गया है कि क्या इस बैठक में पंजाब से आम आदमी पार्टी के सभी विधायक हिस्सा लेंगे. शनिवार को पंजाब से पार्टी के तीन विधायकों ने केजरीवाल से मिलकर अपना असंतोष ज़ाहिर किया है. वहीं अरविंद केजरीवाल के क़रीबी माने जाने वाले पंजाब आम आदमी पार्टी के बड़े नेता जरनैल सिंह ने भी अरविंद केजरीवाल के बयान पर नाराज़गी जताई. उनका कहना है कि अरविंद केजरीवाल को गलत सलाह दी गई है. एसआईटी की रिपोर्ट मजीठिया के ख़िलाफ़ है. पार्टी को विधायकों से बात करनी ही चाहिए.

अरविंद केजरीवाल के बयान से AAP सांसद संजय सिंह ने किया किनारा, बोले - मैं बयान पर कायम

अरविंद केजरीवाल ने अकाली नेता विक्रम मजीठिया से माफी मांगी, कुमार विश्वास का सबसे बड़ा हमला

आपको बता दें कि पंजाब के प्रभारी और दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने रविवार शाम 5 बजे पंजाब के सभी 20 विधायकों को मीटिंग के दिल्ली बुलाई है. लेकिन पंजाब में पार्टी के विधायक और विपक्ष के नेता सुखपाल खैरा ने मीटिंग को चंडीगढ़ में रखने की बात कहकर दिल्ली आने से मना कर दिया है.

टिप्पणियां
वीडियो : आप की मुश्किल

गौरतलब है कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के शिरोमणि अकाली दल (शिअद) नेता बिक्रम सिंह मजीठिया पर मादक पदार्थों के कारोबार में शामिल होने का आरोप लगाने के लिए माफी मांगने से पार्टी की पंजाब इकाई में संकट शुरू हो गया है और प्रदेश 'आप' नेतृत्व पार्टी से अलग होने एवं एक अलग इकाई के गठन पर विचार कर रहा है. पंजाब 'आप' ने कहा कि केजरीवाल का ‘‘निरीह तरीके से नतमस्तक’’ हो जाना पीड़ादायक और दुर्भाग्यपूर्ण है.


 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement