हरियाणा : पुलिस से घिरे पंजाब के 3 बदमाशों ने की आत्महत्या, कई मामलों में थे वांछित

सिरसा जिले के दाबवली के पास के जंडवाला बिश्नोईयां गांव में एक घर में छिपे तीन बदमाशों ने पुलिस की घेराबंदी देख गोली मार कर आत्महत्या कर ली. पुलिस का कहना है कि ये बदमाश कई मामलों में वांछित चल रहे थे.

हरियाणा : पुलिस से घिरे पंजाब के 3 बदमाशों ने की आत्महत्या, कई मामलों में थे वांछित

चारोंं ओर पुलिस से घिरता देख बदमाशों ने आत्महत्या कर ली (फाइल फोटो)

खास बातें

  • सिरसा जिले में अपने एक रिश्तेदार के यहां छिपे थे बदमाश
  • हरियाणा और पंजाब पुलिस ने मिलकर की बदमाशों की घेराबंदी
  • हत्या सहित कई मामलों में वांछित थे तीनों कुख्यात बदमाश
चंडीगढ़:

सिरसा जिले के दाबवली के पास के जंडवाला बिश्नोईयां गांव में एक घर में छिपे तीन बदमाशों ने पुलिस की घेराबंदी देख गोली मार कर आत्महत्या कर ली. पुलिस का कहना है कि कुख्यात अपराधी विकी गोंडर गिरोह के तीन वांछित गुर्गो को पंजाब पुलिस ने मंगलवार को हरियाणा में घेर लिया था, जिसके बाद उन्होंने आत्महत्या कर ली.

बदमाशों की पहचान कमलजीत सिंह उर्फ बंटी ढिल्लन, जसप्रीत सिंह उर्फ जंपी और निशान सिंह के रूप में हुई है. ढिल्लन और जंपी की घटनास्थल पर ही मौत हो गई, जबकि निशान ने अस्पताल ले जाते समय दम तोड़ दिया

पंजाब के फरीदकोट की पुलिस ने हरियाणा पुलिस के साथ तड़के सिरसा जिले के दाबवली के पास के एक गांव में एक घर को घेर लिया. पुलिस को सूचना मिली थी कि इस घर में पंजाब के कुछ कुख्यात बदमाश छिपे हैं. यह घटना सुबह 4 बजे के आसपास की है. पुलिस ने बदमाशों से आत्मसमर्पण करने के लिए कहा. पहले तो बदमाशों ने पुलिस पर गोलियां चलाईं, दोनों पक्षों के बीच गोलीबारी हुई. बाद में खुद को घिरता देख बदमाशों ने अपने हथियारों से खुद को गोली मार ली.  

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

पुलिस अक्षीक्षक सतेंद्र गुप्ता ने संवाददाताओं के बताया कि पुलिस द्वारा घेर लिए जाने के बाद बदमाशों ने आत्महत्या कर ली. उन्होंने बताया कि ढिल्लन और जंपी को सिर में गोली लगने से मृत पाया, जबकि निशान गोली लगने से घायल अवस्था में था. पुलिस ने मुठभेड़स्थल से पांच हथियार और कुछ नकदी बरामद की है. गोंडर पिछले साल नवंबर में पंजाब की उच्च सुरक्षा वाली नाभा जेल से भाग गया था. 

(इनपुट आईएएनएस से भी)