NDTV Khabar

पंजाब के मंत्री ने 'जल आपात स्थिति' की चेतावनी दी

कैबिनेट मंत्री राणा गुरजीत सिंह ने कहा, 'अगर पानी का सही से इस्तेमाल और अच्छी तरह से संरक्षण नहीं किया गया तो आने वाले समय में पानी की आपात स्थिति पैदा होना निश्चित है.'

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पंजाब के मंत्री ने 'जल आपात स्थिति' की चेतावनी दी

पंजाब सरकार के मंत्री राणा गुरजीत सिंह.

खास बातें

  1. आने वाले समय में पानी की आपात स्थिति पैदा होना निश्चित है
  2. धान की खेती का क्षेत्रफल नहीं घटाया गया तो...
  3. फसल विविधता पर जल्द ध्यान नहीं दिया गया
फगवाड़ा: पंजाब के विद्युत एवं सिंचाई मंत्री ने कहा कि अगर फसल विविधता पर जल्द ध्यान नहीं दिया गया और धान की खेती का क्षेत्रफल नहीं घटाया गया तो पंजाब को आने वाले समय में पानी की आपात स्थिति का सामना करना पड़ सकता है.

कैबिनेट मंत्री राणा गुरजीत सिंह ने कहा, 'अगर पानी का सही से इस्तेमाल और अच्छी तरह से संरक्षण नहीं किया गया तो आने वाले समय में पानी की आपात स्थिति पैदा होना निश्चित है.'

उन्होंने फसल विविधता को पंजाब के किसान वर्ग की समस्याओं का असली इलाज बताते हुए मौजूदा गेहूं-धान फसल चक्र को तेजी से छोड़कर बागबानी, फलों, सब्जियों एवं दूसरी फसलों की खेती पर ध्यान देने की वकालत की जिनमें कम पानी की जरूरत होती है.

टिप्पणियां
मंत्री ने चेताया, 'अगर पानी जैसे कीमती संसाधन को बचाया नहीं गया तो ना केवल पंजाब बल्कि देश के दूसरे हिस्से भी जल युद्ध में उलझ जाएंगे.' उन्होंने कहा कि पंजाब के करीब 104 प्रखंडों को जल संसाधन मंत्रालय ने 'काला' घोषित कर दिया है जिसका मतलब है कि इन प्रखंडों का पानी प्रदूषित है और पीने के लायक नहीं है.

सिंह ने पूर्ववर्ती शिअद-भाजपा सरकार पर जनभावनाओं से खेलने का आरोप लगाते हुए कहा कि प्रकाश सिंह बादल के नेतृत्व वाली सरकार ने नीबू प्रजाति की फसलों की खेती को बढ़ावा देने के लिए 2002-07 में तत्कालीन अमरिंदर सिंह सरकार द्वारा शुरू की गई फसल विविधता को खत्म कर दिया था.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement