NDTV Khabar

VIDEO : मेरिट के आधार पर नहीं, इस राज्य में मनपसंद नियुक्ति के लिए मंत्री ने 'सिक्का उछालकर' किया फैसला

पंजाब में सिक्का उछालकर प्रोफेसर की नियुक्ति करने का एक वीडियो वायरल हो रहा है. प्रोफेसर की पोस्टिंग के लिए पंजाब के शिक्षा मंत्री मेरिट की जगह अभ्यर्थियों की 'किस्मत' को तरजीह दे रहे हैं.

184 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
VIDEO : मेरिट के आधार पर नहीं, इस राज्य में मनपसंद नियुक्ति के लिए मंत्री ने 'सिक्का उछालकर' किया फैसला

पंजाब के तकनीकी शिक्षा मंत्री चरणजीत सिंह चन्नी.

खास बातें

  1. पंजाब में नियुक्ति के लिए सिक्का उछालते देखे गए मंत्री
  2. वीडियो वायरल होने पर सरकार ने दी सफाई
  3. एक सीट पर नियुक्ति चाह रहे थे दो प्रोफेसर
चंडीगढ़ : पंजाब में सिक्का उछालकर प्रोफेसर की नियुक्ति करने का वीडियो वायरल हो रहा है. पंजाब के कैबिनेट मंत्री को एक पॉलिटेक्निक संस्थान में प्रोफेसर की नियुक्ति के दौरान योग्यता का मजाक उड़ाते देखा जा रहा है. प्रोफेसर की नियुक्ति के लिए वह मेरिट की जगह अभ्यर्थियों की 'किस्मत' को तरजीह देते देखे जा रहे हैं. घटना का वीडियो टीवी चैनल पर भी दिखाया गया है. 

यह भी पढ़ें : बस सिक्का उछालकर मैच जीती कुवैत की क्रिकेट टीम

दरअसल, पोलिटेक्निक संस्थान में नियुक्ति की चाह रखने वाले दो प्रोफेसरों में से सही उम्मीदवार का चयन करने के लिए पंजाब के तकनीकी शिक्षा मंत्री ने सिक्का उछालकर फैसला किया. यह घटना कैमरे में कैद हो गई. हालांकि, प्रदेश की कांग्रेस सरकार के प्रवक्ता ने दावा किया कि मंत्री की मंशा 'पारदर्शी' तरीके से स्थान का आवंटन करने की थी. उन्होंने मीडिया पर गैरजरूरी विवाद पैदा करने का आरोप लगाया. गौरतलब है कि नाभा और पटियाला के दो प्रोफेसर पटियाला स्थित सरकारी पोलिटेक्निक संस्थान में अपनी तैनाती चाहते थे. एक ने अधिक अंक लाने का हवाला दिया तो दूसरे ने खुद को अधिक अनुभवी बताया.
 
इस मामले को सुलझाने के लिए प्रदेश के तकनीकी शिक्षा मंत्री चरनजीत सिंह चन्नी ने सिक्का उछालकर इसका फैसला करने का निर्णय किया. यह घटना सोमवार को उस समय हुई जब मंत्री ने पंजाब लोक सेवा आयोग की तरफ से भर्ती किए गए सभी 37 मैकेनिकल प्रोफेसरों को उन्हें उनका नियुक्ति आदेश देने के लिए बुलाया था.

VIDEO : पंजाब के सीएम अमरिंदर सिंह ने कई बड़े फैसलों को दी मंजूरी


इस बीच सरकारी प्रवक्ता ने चन्नी के इस कदम का बचाव करते हुए कहा कि मंत्री 'पारदर्शी' तरीके से तैनाती की जगह का निर्णय करना चाहते थे.

(इनपुट : PTI)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement