राजस्थान: अलवर के जिला अस्पताल में आग से झुलसी मासूम की इलाज के दौरान मौत

अस्पताल में मंगलवार को सुबह 5 बजे लगी आग के समय नवजात यूनिट में झुलसी मासूम बच्ची सहित 15 बच्चों का उपचार चल रहा था. 14 अन्य मासूमों को अन्य यूनिट में स्थानांतरित कर दिया गया था.

राजस्थान: अलवर के जिला अस्पताल में आग से झुलसी मासूम की इलाज के दौरान मौत

आग में 70 प्रतिशत तक झुलसी मासूम बच्ची की बुधवार को मौत हो गई. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

जयपुर:

राजस्थान (Rajasthan) में अलवर (Alwar) के जिला अस्पताल में मंगलवार को आग से झुलसी मासूम की बुधवार को जयपुर के जेके लोन अस्पताल में उपचार के दौरान मौत हो गई. मंगलवार को अलवर के जिला अस्पताल में लगी आग से 70 प्रतिशत तक झुलसी मासूम को जयपुर के जेके लोन अस्पताल में वेंटीलेटर पर रखा गया था. जयपुर के जेके लोन अस्पताल के अधीक्षक डॉ. अशोक गुप्ता ने बुधवार को बताया कि 70 प्रतिशत तक झुलसी मासूम बच्ची की बुधवार को मौत हो गई.

यह भी पढ़ें: राजस्थान ट्रांसपोर्ट डिपार्टमेंट प्रदूषण कम करने के लिए महीने में एक दिन मनाएगा 'नो व्हीकल डे'

बता दें कि अस्पताल की नवजात यूनिट में लगी आग से मासूम बच्ची का चेहरा, छाती और कंधे झुलस गये थे. उसे अलवर के गीतआनंद अस्पताल में निमोनिया होने के कारण नवजात यूनिट में रखा गया था. नवजात यूनिट के रेडियंट वार्मर के साथ लगे ऑक्सीजन पाइप में आग लग जाने के कारण बच्ची झुलस गई थी. अस्पताल में मंगलवार को सुबह 5 बजे लगी आग के समय नवजात यूनिट में झुलसी मासूम बच्ची सहित 15 बच्चों का उपचार चल रहा था. 14 अन्य मासूमों को अन्य यूनिट में स्थानांतरित कर दिया गया था.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

वहीं स्वास्थ्य विभाग के संयुक्त निदेशक के नेतृत्व में तीन सदस्यीय एक दल ने अलवर अस्पताल के नवजात यूनिट के इंजार्च और नर्सिंग इंचांर्ज को लापरवाही का दोषी माना है. स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि दोषी अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाही की जायेगी. जांच दल ने प्राथमिक तौर पर रेडियंट वार्मर में लगी आग के लिये रखरखाव में कमी को मुख्य कारण माना है. अलवर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. ओपी मीणा ने बताया कि तेज वोल्टेज के कारण रेडियंट वार्मर के पैनल में स्पार्किंग से आक्सीजन पाइप के हुड में आग लग गई.  

Video: कोटा में 48 घंटों में 10 बच्चों की मौत से हड़कंप



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)