NDTV Khabar

राजस्थान और मध्य प्रदेश में सिर्फ विकास नहीं मुद्दा, राजसमंद की रैली में अमित शाह ने उठाया बांग्लादेशियों का मुद्दा
पढ़ें | Read IN

शाह ने कहा,'बांग्लादेशी घुसपैठियों को चिन्हित करने, उनकी जांच करने का काम भारतीय जनता पार्टी ने शुरू किया लेकिन कांग्रेस इसका विरोध कर रही है क्योंकि वह चाहती है कि उसका वोट बैंक बना रहे.'

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
राजस्थान और मध्य प्रदेश में सिर्फ विकास नहीं मुद्दा, राजसमंद की रैली में अमित शाह ने उठाया बांग्लादेशियों का मुद्दा

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने सीएम वसुंधरा के साथ कांकरोली में एक रैली को संबोधित किया

खास बातें

  1. अमित शाह ने पूछा कांग्रेस से सवाल
  2. NRC के बताया सुरक्षा से जुड़ा मुद्दा
  3. कांग्रेस पर साधा निशाना
जयपुर: शनिवार को राजस्थान के राजसमंद में सीएम वसुंधरा राजे की रथयात्रा  की शुरुआत के बाद कांकरोली में हुई रैली में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह  ने  चुनाव का एजेंडा भी तय कर दिया. उन्होंने इस रैली में असम में एनआरसी के मुद्दा जोर-शोर से उठाया. शाह ने कहा,'बांग्लादेशी घुसपैठियों को चिन्हित करने, उनकी जांच करने का काम भारतीय जनता पार्टी ने शुरू किया लेकिन कांग्रेस इसका विरोध कर रही है क्योंकि वह चाहती है कि उसका वोट बैंक बना रहे.' शाह ने कहा, 'यह देश की सुरक्षा का सवाल है कांग्रेस को इसमें वोट बैंक दिखाई पड़ता है. भाजपा की मोदी सरकार वोट बैंक के आधार पर नहीं चली. हमने एनआरसी का काम हाथ में लिया, सुप्रीम कोर्ट का आदेश है और हम न्यायालय के आदेश का पालन करते हुए इन्हें चिन्हित करने का काम पूरा करके ही मानेंगे.'    उन्होंने कांग्रेस से कहा कि राष्ट्रीय नागरिक पंजी पर पार्टी अपना रुख स्पष्ट करे और बताए कि देश में बांग्लादेशी घुसपैठिए रहने चाहिए या नहीं तथा एनआरसी लागू होना चाहिए या नहीं. 

राजस्थान : अमित शाह ने सीएम वसुंधरा राजे के चुनावी रथ को किया रवाना

अमित शाह ने सीधे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से सीधे सवाल पूछते हुए कहा, क्या हमारा सिटीजन रजिस्टर होना चाहिए? क्या अवैध रूप से रह रहे बांग्लादेशियों को बाहर भेजना चाहिये या नहीं? हम कांग्रेस के रुख को जानना चाहते हैं. जब राहुल गांधी राजस्थान आएं तो पूछना. यह सवाल देश की सुरक्षा से जुड़ा हुआ है. 

टिप्पणियां
राजस्थान की CM वसुंधरा राजे की गौरव यात्रा​

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के इस भाषण के बाद से साफ है कि राजस्थान और मध्य प्रदेश के विधानसभा चुनाव में सिर्फ विकास ही एजेंडा नहीं होगा. एनआरसी और 'घुसपैठियों' का भी मुद्दा भी होगा. आधिकारिक जानकारी के मुताबिक 1 हजार बांग्लादेशी राजस्थान में अवैध रूप से रहते हैं. वहीं गृह मंत्रालय से जुड़े एक सूत्र का दावा है कि यह संख्या 1 लाख से ज्यादा हो सकती है. राजस्था में 25 हजार हिंदू शरणार्थी भी रहते हैं. लेकिन अमित शाह ने इस पर कुछ न बोलकर एजेंडा साफ कर दिया.

 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement