NDTV Khabar

गुर्जर आंदोलन का तीसरा दिन : जनता, गोमती, फरक्का, आम्रपाली और बरौनी एक्सप्रेस रद्द

राज्य सरकार द्वारा गठित समिति के सदस्य पर्यटन मंत्री विश्वेन्द्र सिंह और भारतीय प्रशासनिक सेवा के वरिष्ठ अधिकारी नीरज के पवन ने शनिवार को गुर्जर नेता किरोडी सिंह बैंसला से बातचीत की लेकिन बैंसला अपनी मांग पर अडे रहे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
गुर्जर आंदोलन का तीसरा दिन : जनता, गोमती, फरक्का, आम्रपाली और बरौनी एक्सप्रेस रद्द

गुर्जर समुदाय के लोग तीसरे दिन ट्रेन की पटरियों पर बैठे हैं.

नई दिल्ली:

आरक्षण की मांग को लेकर गुर्जर समुदाय के लोग लगातार तीसरे दिन भी ट्रेन की पटरियों में बैठे हैं.राजस्थान सरकार ने मनाने के लिए अपने मंत्री को भी इनके पास भेजा था लेकिन फिलहाल बात बनती नहीं दिख रही है. गुर्जरों के आंदोलन का ट्रेनों की आवाजाही पर खासा असर पड़ा है. रेलवे ने जनता, गोमती, फरक्का, आम्रपाली और बरौनी एक्सप्रेस समेत दर्जनों गाड़ियों को कुछ दिनों के लिए तक रद्द कर दिया गया है. गुर्जर दिल्ली-मुंबई रेल मार्ग पर पटरियों पर बैठे हैं  5 फीसदी आरक्षण की मांग को लेकर गुर्जरों का ये पांचवां आदोलन है. उल्लेखनीय है कि गुर्जर नेता पांच प्रतिशत आरक्षण की मांग को लेकर शुक्रवार की शाम को सवाईमाधोपुर के मलारना डूंगर में रेल पटरी पर बैठ गए थे. 

टिप्पणियां

आरक्षण की मांग को लेकर गुर्जरों का आंदोलन​


राज्य सरकार द्वारा गठित समिति के सदस्य पर्यटन मंत्री विश्वेन्द्र सिंह और भारतीय प्रशासनिक सेवा के वरिष्ठ अधिकारी नीरज के पवन ने शनिवार को गुर्जर नेता किरोडी सिंह बैंसला से बातचीत की लेकिन बैंसला अपनी मांग पर अडे रहे. आपको बता दें कि गुर्जर समाज सरकारी नौकरियों और शिक्षण संस्‍थानों में प्रवेश के लिए गुर्जर, रायका रेबारी, गडिया, लुहार, बंजारा और गड़रिया समाज के लोगों को पांच प्रतिशत आरक्षण की मांग कर रहा है. वर्तमान में अन्‍य पिछड़ा वर्ग के आरक्षण के अतिरिक्‍त 50 प्रतिशत की कानूनी सीमा में गुर्जरों को अति पिछड़ा श्रेणी के तहत एक प्रतिशत आरक्षण अलग से मिल रहा है. 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement