नागौर में दलित उत्पीड़न के लिए केंद्रीय मंत्री मेघवाल ने गहलोत सरकार को ठहराया जिम्मेदार

नागौर में दो दलित युवकों को बन्धक बनाकर मारपीट करने और आपत्तिजनक वीडियो बनाने की घटना सामने आई है.

नागौर में दलित उत्पीड़न  के लिए केंद्रीय मंत्री मेघवाल ने गहलोत सरकार को ठहराया जिम्मेदार

नागौर में दलित उत्पीड़न के लिए मेघवाल ने राजस्थान सरकार को जिम्मेदार ठहराया है.

खास बातें

  • नागौर पहुंचे केंद्रीय मंत्री मेघवाल
  • दलित उत्पीड़न के लिए गहलोत सरकार को कसूरवार ठहराया
  • नागौर में दलित उत्पीड़न का मामला सामने आया है
जयपुर :

केंद्रीय मंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने नागौर में दो दलित युवकों को बन्धक बनाकर मारपीट करने और आपत्तिजनक वीडियो बनाने की घटना के लिए राज्य की कांग्रेस सरकार को जिम्मेदार ठहराया है. बीकानेर से बीजेपी सांसद मेघवाल शुक्रवार को बीजेपी विधायक मदन दिलावर और मोहन राम चौधरी के साथ नागौर पहुंचे और पीड़ितों से मुलाकात की. मेघवाल उस जगह भी गए जहां मारपीट की घटना हुई थी. मेघवाल ने कहा, ‘‘यह पुलिस की विफलता है कि उन्हें समय रहते घटना का पता तक नहीं चला. राज्य के मुख्यमंत्री के पास गृह विभाग भी है लेकिन अपराध पर कोई लगाम नहीं है, इस घटना के लिए राज्य सरकार जिम्मेदार है.'' 

राजस्थान में चोरी के आरोप में दलित भाइयों को बुरी तरह पीटा, तो स्वरा भास्कर बोलीं- राहुल गांधी और अशोक गहलोत...

उन्होंने आरोप लगाया कि पुलिस मामले को 'तोड़ मरोड़' रही है और पीड़ितों पर दबाव बना रही है. उल्लेखनीय है कि बीजेपी ने इस मामले की जांच के लिए मेघवाल की अध्यक्षता में चार सदस्यीय समिति गठित की जिसमें मेघवाल के साथ विधायक दिलावर और चौधरी भी शामिल हैं. समिति पांचौड़ी थाने भी गयी जहां घटना को लेकर मामला दर्ज हुआ है. मेघवाल ने कहा कि समिति अपनी रिपोर्ट शनिवार को पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष को सौंपेगी. 

राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के विधायक नारायण बेनीवाल भी पीड़ितों से उनके गांव में मिले. कांग्रेस ने भी मामले की जांच के लिए समिति बनाई है. इसमें सामाजिक न्याय मंत्री मास्टर भंवर लाल मेघवाल, कांग्रेस के प्रदेश महासचिव महेश शर्मा और विधायक हरीश चंद्र मीणा शामिल हैं, जो शुक्रवार को पीड़ितों से मिल सकते हैं.

राजस्थान: चोरी के आरोप में दो दलित भाइयों को बुरी तरह पीटा, प्राइवेट पार्ट्स में डाला पेट्रोल, VIDEO आया सामने

पुलिस ने इस घटना के सिलसिले में सात लोगों को गिरफ्तार किया है. दलित युवकों से मारपीट की यह घटना 16 फरवरी को पांचौड़ी थाना क्षेत्र करणू गांव में मोटरसाइकिल की सर्विस एजेंसी पर हुई. एजेंसी के लोगों ने दो युवकों पर चोरी का आरोप लगाते हुए उनसे बर्बर तरीके से मारपीट की और इसका वीडियो भी बनाया गया. वीडियो वायरल होने पर पीड़ितों ने मामला दर्ज करवाया.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

पुलिस महानिदेशक भूपेंद्र सिंह ने जयपुर में कहा कि मामले की पूरी जांच की जा रही है और किसी भी आरोपी को बख्शा नहीं जाएगा. पुलिस महानिरीक्षक (मानवाधिकार) को जांच की निगरानी के लिए नागौर भेजा गया है. इस बीच बहुजन समाज पार्टी का एक प्रतिनिधि मंडल पुलिस महानिदेशक से मिला और पीड़ितों को न्याय दिलाने की मांग का ज्ञापन उन्हें सौंपा.

देखें Video: राजस्थान: चोरी के आरोप में दो दलित भाइयों को बुरी तरह पीटा, प्राइवेट पार्ट्स में डाला पेट्रोल