NDTV Khabar
होम |   रवीश से पूछें 

आपके सवाल, रवीश के जवाब

प्राइम टाइम एंकर, तीन बार रामनाथ गोयनका पुरस्कार से सम्मानित, 20 साल की पत्रकारिता, ब्लॉगर, फेसबुक पेज @RavishKaPage, ट्विटर @ravishndtv, लेखक - The Free Voice, इश्क़ में शहर होना, हिन्दी मेरी जान, भोजपुरी मेरा ईमान.

सवाल

नकारात्मक माहौल में सकारात्मक तथा न्यायपूर्ण आचरण / व्यवहार बनाए रखने के लिए आप क्या करते हैं, क्या आपको कभी लगा कि आपमें भी नकारात्मकता आ गई हो या आप अकेले पड़ गए हों? आपको देख कर पत्रकारिता पर विश्वास बना रहता है. आपकी लम्बी आयु की कामना करता हूं. धन्यवाद!

jeetendra singh
जवाब

@jeetendra singh , मुझमें नकारात्मकता नहीं है. चूंकि सरकार के झूठ को पकड़ लेता हूं, तो आपको लगता होगा. ज़रूर निराश होता हूं. यह एक सामान्य मानवीय प्रक्रिया है. मैं किताबें पढ़ता हूं. नई जानकारियां हासिल करता हूं और ज़मीन पर रहता हूं.

सवाल

क्या आप उनका फेवर भी करना चाहेंगे, जो नेता, पार्टी, आईएएस, आईपीएस देश के लिए, जनहित के लिए अच्छा काम कर रहे हैं या अपनी ड्यूटी को अच्छे से अंजाम देते हैं? या पब्लिक के लिए कुछ भी एक या अधिक काम अच्छा करते हों?

pankaj
जवाब

@PANKAJ KUMAR , जो अच्छा काम करते हैं, उनको किसी के फेवर की ज़रूरत नहीं होती है. उनके भीतर की इच्छाशक्ति काफी होती है.

सवाल

आपको डर नहीं लगता, सत्ता में रहने वाली पार्टियों के खिलाफ आप खरी-खरी बातें ढूंढ-ढूंढकर निकाल लाते हो? खासकर आरएसएस और बीजेपी वालों से? अभी-अभी इसी गवर्नमेंट के कार्यकाल में कितने पत्रकार लोगों के साथ गलत (मर्डर) हो गया है.

pankaj
जवाब

@PANKAJ KUMAR , मुझे डर लगता है, क्योंकि गुंडे-बदमाश सत्ता में आ जाते हैं. इसलिए उनसे डरना चाहिए, मगर यह सिर्फ सतर्क रहने के लिए है. देखिए जज लोया की मौत को लेकर 'कैरेवान' पत्रिका लगातार खबरें कर रही है. आप उन ख़बरों को पढ़िए तो पता चलेगा कि सत्ता में क्रूर होने की कितनी संभावना है. इसलिए इसका एक ही उपाय है. बोलते रहिए. बोलने से आप डर से आज़ाद होते हैं. इसका अभ्यास रोज़ करना चाहिए. एक-दो बातों पर नहीं बोल पाए, तो कोई बात नहीं, अगली किसी बात पर बोल दीजिए.

सवाल

अन्ना हजारे का प्रोटेस्ट इस बार बहुत निर्जीव रहा है और बहुत जल्दी समाप्त भी हो गया, क्या कारण रहा?

Farooq
जवाब

@Farooq , अन्ना हज़ारे ही अपने आप में कारण हैं. मेरे ख्याल से किरण बेदी बेहतर बता सकती हैं.

«23456

Advertisement