NDTV Khabar

Movie Review: बेकार ही गए Justice League के सुपरहीरो

फिल्म में बैटमैन है, वंडर वूमन है, एक्वामैन है, सायबोर्ग है और फ्लैश है लेकिन कमजोर कहानी और उलझे हुए प्लॉट की वजह से कुछ काम नहीं कर पाता है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Movie Review: बेकार ही गए Justice League के सुपरहीरो
नई दिल्‍ली: डायरेक्टरः जैक स्नाइडर
कलाकारः बेन एफलेक, हेनरी कैविल, गैल गैडोट, एमी एडम्स और जेसन मोमोआ
नरेंद्र सैनी


टिप्पणियां
सुपरहीरो फिल्मों का बड़ी बेसब्री से इंतजार रहता है. दो हफ्ते पहले ही 'थॉर' और 'हल्क' ने बॉक्स ऑफिस पर तहलका मचाया था, और उनकी केमिस्ट्री को काफी पसंद भी किया गया था. लेकिन हमेशा ही ढेर सारे सुपरहीरोज को एक फेम में लाना कामयाबी की दास्तान लिखने के लिए काफी नहीं होता है. ऐसा ही कुछ ‘जस्टिस लीग’ के साथ भी हुआ है. फिल्म में बैटमैन है, वंडर वूमन है, एक्वामैन है, सायबोर्ग है और फ्लैश है लेकिन कमजोर कहानी और उलझे हुए प्लॉट की वजह से कुछ काम नहीं कर पाता है. सुपरहीरो की ये पूरी जमात एक भीड़ बनकर रह जाती है, और उनके फैन्स को ठगा-सा महसूस कराती है. वैसे भी डीसी कॉमिक्स की पिछली फिल्म ‘बैटमैन वर्सेज सुपरमैन’ भी दर्शकों को झेलनी मुश्किल हो गई थी, इस बार भी कुछ ऐसा ही हुआ है.
 
justice league youtube

धरती खतरे में हैं. बेन एफलेक उर्फ बैटमैन धरती को उसके दुश्मनों से बचाने का बीड़ा उठाता है. वंडर वूमन, सायबोर्ग, एक्वामैन जैसे सुपरहीरो को जुटाया जाता है और इस कहर को खत्म करने की कोशिश होती है. सिर्फ इतनी सी कहानी है जो हर हॉलीवुड सुपरहीरो मूवी की रहती है. लेकिन फिल्म में टेक्नोलॉजी के करिश्मे के अलावा कुछ भी ऐसा नहीं है जो बांधकर रख सके. वंडर वूमन की फिल्म अकेली आई तो उसने झंडे गाड़ दिए थे.
 
justice league youtube

इन सुपरहीरोज की भीड़ में वंडर वूमन का जलवा इस बार भी कायम रहा है. लेकिन फिल्म की कहानी और ट्रीटमेंट उसे भी कमजोर बनाता है. कुल मिलाकर सुपरहीरो की इस भीड़ का सही से इस्तेमाल नहीं किया है. कहानी पर फोकस तो बिल्कुल भी नजर नहीं आता है. इससे ज्यादा मजा तो इनकी कार्टून सीरीज देखने का आता है.
 
justice league youtube

बेन एफलेक की जहां तक बात है तो वे बैटमैन वर्सेज सुपरमैन को भी नहीं बचा सके थे. इस बार भी कुछ ऐसा ही है. बेन का कैरेक्टर एक्टर के तौर पर अच्छा रिकॉर्ड रहा है. लेकिन जब से वे बैटमैन के किरदार में आए हैं. तब से बैटमैन को भी ग्रहण-सा लग गया है. कुल मिलाकर जस्टिस लीग सुपरहीरोज के फैन को निराश करती है, और उस तरह का मजा देने में बिल्कुल भी सफल नहीं रहती है, जैसी उम्मीद थी. डीसी कॉमिक्स को अपने कैरेक्टर्स को और मजबूत बनाने की ओर फोकस करना होगा बनिस्बत सिर्फ टेक्नोलॉजी के सहारे उड़ान भरने के. सबसे बड़ी बात, इन सुपरहीरो का ऑडियंस के साथ इमोशनल कनेक्ट बनना भी जरूरी है.

VIDEO: फिल्म रिव्यू : एक्शन से भरपूर है 'XXX : द रिटर्न ऑफ ज़ेंडर केज'


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement