NDTV Khabar

अल्पसंख्यकों के आरक्षण पर बोले अमित शाह- बीजेपी धर्म के आधार पर कोटा न लागू करेगी और न किसी को करने देगी

अमित शाह शाह ने कहा कि उनकी पार्टी अनुसूचित जातियों, अनुसूचित जनजातियों और पिछड़े वर्गों के आरक्षण की रक्षा के लिए एक चट्टान के रूप में खड़ी होगी

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
अल्पसंख्यकों के आरक्षण पर बोले अमित शाह- बीजेपी धर्म के आधार पर कोटा न लागू करेगी और न किसी को करने देगी

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ( फाइल फोटो )

नई दिल्ली:

भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह  ने रविवार को कहा कि भाजपा तेलंगाना सरकार को अल्पसंख्यकों के लिए 12 प्रतिशत आरक्षण को लागू करने की इजाजत नहीं देगी. वारंगल जिले के पार्कला में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि भाजपा न तो धर्म के आधार पर कोटा प्रदान करेगी और न ही दूसरों को ऐसा करने देगी.  वह तेलंगाना विधानसभा द्वारा पारित प्रस्ताव का जिक्र कर रहे थे जिसमें मुस्लिमों के लिए नौकरियों और शिक्षा में मौजूदा चार प्रतिशत आरक्षण को बढ़कर 12 प्रतिशत किए जाने की मांग की गई है. इस प्रस्ताव को केंद्र सरकार को भेज दिया गया है. तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) के अध्यक्ष के. चंद्रशेखर राव (केसीआर) अपने चुनावी भाषणों में मुसलमानों के लिए कोटा न बढ़ाने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साध रहे हैं.  टीआरएस के कदम को 'असंवैधानिक' बताते हुए भाजपा प्रमुख ने कहा कि सर्वोच्च अदालत ने कुल आरक्षण पर 50 फीसदी की सीमा तय कर दी है. उन्होंने टीआरएस से यह स्पष्ट करने के लिए कहा कि उन्होंने किस का आरक्षण कम कर अल्पसंख्यकों को आरक्षण प्रदान करने का प्रस्ताव दिया है. 

...तो 1 साल बाद दिल्ली में मुस्लिमों की कब्र के लिए नहीं बचेगी जगह, DMC की रिपोर्ट में किया गया आगाह


शाह ने कहा कि उनकी पार्टी अनुसूचित जातियों, अनुसूचित जनजातियों और पिछड़े वर्गों के आरक्षण की रक्षा के लिए एक चट्टान के रूप में खड़ी होगी. चुनाव रैलियों को संबोधित करने के लिए तेलंगाना की एक दिवसीय दौरे पर आए भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने दावा किया कि केवल उनकी पार्टी तेलंगाना में वह सरकार प्रदान कर सकती है जो मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एमआईएम) और उसके नेता असदुद्दीन ओवैसी पर निर्भर नहीं होगी.  उन्होंने कहा कि सात दिसंबर के चुनाव राज्य का भविष्य तय करेंगे. अमित शाह ने कहा कि टीआरएस प्रमुख केसीआर ने अपने बेटे और बेटी को आगे बढ़ाने के लिए विधानसभा चुनाव समय से पहले कराने का निर्णय लेकर अतिरिक्त चुनाव खर्च का बोझ डाल दिया है.

नीतीश का मुस्लिम समाज को संदेश, वोट जहां देना हो दीजिये, पर आपको मुख्यधारा में लाने में कसर नहीं छोड़ेंगे

टिप्पणियां

उन्होंने आरोप लगाया कि केसीआर मोदी के प्रभाव के कारण विधानसभा चुनाव 2019 में लोकसभा चुनावों के साथ कराने से डरते थे.  उन्होंने दावा किया कि केंद्र सरकार ने पिछले चार वर्षों के दौरान तेलंगाना के विकास के लिए 2.30 लाख करोड़ रुपये से अधिक जारी किए जिसमें से आधी राशि 14वें वित्त आयोग के तहत आवंटित की गई थी. उन्होंने कहा कि तेलंगाना राजस्व सरप्लस राज्य था लेकिन टीआरएस सरकार ने राज्य पर 2 लाख करोड़ रुपये कर्ज का बोझ डाल दिया है. केसीआर पिछले चुनावों में किए गए वादे को लागू करने में भी असफल रहे. भाजपा के लिए मतदान करने की लोगों से अपील करते हुए शाह ने कहा कि अकेले भाजपा एक ऐसी सरकार है जो तेलंगाना को बचा सकती है और विकास के रास्ते पर आगे बढ़ा सकती है. 

सरयू किनारे कुरान पढ़ने पर रोक

 



NDTV.in पर विधानसभा चुनाव 2019 (Assembly Elections 2019) के तहत हरियाणा (Haryana) एवं महाराष्ट्र (Maharashtra) में होने जा रहे चुनाव से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरें (Election News in Hindi), LIVE TV कवरेज, वीडियो, फोटो गैलरी तथा अन्य हिन्दी अपडेट (Hindi News) हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement