NDTV Khabar

बीजेपी का आरोप, कर्नाटक सरकार ने विपक्ष पर नजर रखने के लिए खुफिया विभाग को दिए 10 करोड़

कर्नाटक विधानसभा में विपक्ष दल बीजेपी के नेता जगदीश शेट्टार ने आरोप लगाया कि इस विशेष रकम का इस्तेमाल सिद्दरामैया सरकार "विपक्षी दलों की जासूसी " के लिए करेगी. लेकिन राज्य के गृह मंत्री रामलिंगा रेड्डी बीजेपी के इस आरोप से सहमत नहीं है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बीजेपी का आरोप, कर्नाटक सरकार ने विपक्ष पर नजर रखने के लिए खुफिया विभाग को दिए 10 करोड़

कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया (फाइल फोटो )

बंगलोर:
टिप्पणियां
कर्नाटक  में बीजेपी ने आरोप लगाया है कि कांग्रेस सरकार ने विपक्ष पर नजर रखने के लिए खुफिया विभाग को 10 करोड़ रुपये दिए हैं. बीजेपी का दावा है कि अप्रैल-मई में होने वाले कर्नाटक विधान सभा चुनावों में खुफिया विभाग को 10 करोड़ रुपये अलग से दिए जा रहे हैं. पूरक बजट में कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्दरामैया ने इसको मंजूरी दी है.

कर्नाटक: कांग्रेस के पूर्व ब्लॉक प्रमुख ने दफ्तर में छिड़का पेट्रोल, आग लगाने की धमकी भी दी, देखें वीडियो

कर्नाटक विधानसभा में विपक्ष दल बीजेपी के नेता जगदीश शेट्टार ने आरोप लगाया कि इस विशेष रकम का इस्तेमाल सिद्दरामैया सरकार "विपक्षी दलों की जासूसी " के लिए करेगी. लेकिन राज्य के गृह मंत्री रामलिंगा रेड्डी बीजेपी के इस आरोप से सहमत नहीं है. आपको बता दें कि हाल ही में कर्नाटक सरकार ने खुफिया विभाग को मजबूत करने के लिए अलग से "ख़ुफ़िया कैडर" तैयार करने की क़वायद शुरू की थी. इसके तहत 100 इंटेलिजेंस सब इंस्पेक्टर की बहाली की गई है और इनमें से ज्यादातर अधिकारियों ने काम संभाल लिया है. 

वीडियो : कर्नाटक के रण में मोदी

बताया जा रहा है कि खुफिया जानकारी हासिल करने के तौर तरीके की ट्रेनिंग इन्हें इंटेलिजेंस ब्यूरो के तर्ज पर दी गई है. दक्षिण कन्नडा ज़िला यानी मंगलोर के आसपास के इलाक़ों में सांप्रदयिक दंगे और तटीय इलाक़ा होने की वजह से आतंकी हमलों की आशंका राज्य सरकार के खुफिया तंत्र के एक बड़ी चुनौती रही है. इसके साथ साथ उत्तरी कन्नडा  यानी कारवार और इसके आसपास के इलाक़ों में भी खुफिया चौकसी बढ़ाई गई है.
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement