NDTV Khabar

चिन्नास्वामी विस्फोट मामला: कोर्ट ने तीन लोगों को सात साल की सज़ा सुनाई

वर्ष 2010 में चिन्नास्वामी स्टेडियम में हुए विस्फोटों के मामले में यहां की एक अदालत ने आज 14 आरोपियों में से तीन को सात साल कैद की सजा सुनाई.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
चिन्नास्वामी विस्फोट मामला: कोर्ट ने तीन लोगों को सात साल की सज़ा सुनाई

प्रतीकात्मक फोटो

खास बातें

  1. चिन्नास्वामी विस्फोट मामले में तीन को सजा
  2. एनआईए कोर्ट ने सुनाया फैसला
  3. अदालत ने गत चार जुलाई को फैसला सुरक्षित रख लिया था
बेंगलुरु: वर्ष 2010 में चिन्नास्वामी स्टेडियम में हुए विस्फोटों के मामले में यहां की एक अदालत ने आज 14 आरोपियों में से तीन को सात साल कैद की सजा सुनाई. एनआईए अदालत के न्यायाधीश सिद्दालिंगा प्रभु ने इन लोगों को सात साल के साधारण कारावास और एक साल के कठोर कारावास की सजा सुनाई. अदालत ने गत चार जुलाई को फैसला सुरक्षित रख लिया था. तीनों लोगों - गौहर अजीज खोमानी , कमाल हसन और मोहम्मद कफील अख्तर ने उस दिन अपराध स्वीकार करते हुए अदालत में हलफनामा दायर किया था. उन्होंने नरमी बरतने और कम सजा देने का आग्रह किया था. ये लोग मुकदमे के दौरान पहले ही छह साल जेल में गुजार चुके हैं. 

यह भी पढ़ें: बेंगलुरु पुलिस के कांस्टेबल को बहादुरी का अनोखा इनाम, गिफ्ट में मिला हनीमून पैकेज...

टिप्पणियां
आरोपियों के वकील बालन ने कहा, ‘‘ उन्होंने काफी दबाव के बाद गुनाह कबूल किया क्योंकि वे पहले ही छह साल दो महीने जेल में गुजार चुके हैं.’’ मामले में 14 आरोपी हैं. इनमें से सात जेल में हैं और कुछ अन्य फरार हैं. चिन्नास्वामी स्टेडियम के प्रवेश द्वार पर अप्रैल 2010 में तब पांच विस्फोटक लगाए गए थे जब वहां मुंबई इंडियंस और रायल चैलेंजर्स के बीच आईपीएल मैच होना था. 

VIDEO: बेंगलुरु के कांस्टेबल को इनाम में मिला हनीमून पैकेज
इनमें से दो विस्फोटक फट गए थे जिनमें पांच सुरक्षाकर्मियों सहित 15 लोग घायल हुए थे.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement