NDTV Khabar

इवांका ट्रंप की मेजबानी की दौड़ में तेलंगाना ने आंध्र को कैसे पछाड़ा, जानिए क्या है कारण ?

हैदराबाद में तीन दिन के इस बेहद चर्चित समारोह में इवांका का शामिल होना तेलंगाना के लिए जहां गर्व की बात है वहीं आंध्र प्रदेश के लिए यह ईर्ष्या की बात है.

153 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
इवांका ट्रंप की मेजबानी की दौड़ में तेलंगाना ने आंध्र को कैसे पछाड़ा, जानिए क्या है कारण ?

इवांका ट्रंप.

खास बातें

  1. इवांका की मेजबानी के लिए तेलंगाना पूरी तरह तैयार
  2. इवांका यहां वैश्विक उद्यमिता शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेंगी
  3. अमेरिकी अधिकारियों ने नहीं स्वीकारा आंध्र का अनुरोध
अमरावती: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की बेटी और व्हाइट हाउस की सलाहकार इंवाका ट्रंप की मेजबानी के लिए तेलंगाना पूरी तरह से तैयार है. मंगलवार को इवांका यहां ग्लोबल एंटरप्रेन्योरशिप समिट- 2017 (जीईएस) में हिस्सा लेने के लिए आ रही हैं. वहीं इन सबके बीच अपने यहां आमंत्रित करने के आंध्र प्रदेश के तमाम प्रयास तेलंगाना के आगे नाकाफी साबित हुए.

यह भी पढ़ें :  ग्लोबल एंटरप्रेन्योरशिप समिट से दीपिका पादुकोण ने नाम लिया वापस, पीएम मोदी होंगे शामिल

हैदराबाद में तीन दिन के इस बेहद चर्चित समारोह में इवांका का शामिल होना तेलंगाना के लिए जहां गर्व की बात है वहीं आंध्र प्रदेश के लिए यह ईर्ष्या की बात है. उच्च पदस्थ सूत्रों ने कहा कि अमेरिकी अधिकारियों ने चंद्रबाबू नायडू के नेतृत्व वाली आंध्र प्रदेश सरकार के इवांका के दौरे के अनुरोध को स्वीकार नहीं किया.
 
यह भी पढ़ें : डोनाल्ड ट्रंप की बेटी इवांका ने सुषमा स्वराज को बताया 'करिश्माई' विदेश मंत्री

उन्होंने कहा कि आंध्र प्रदेश के आर्थिक विकास बोर्ड (ईडीबी) के मुख्य कार्यकारी जे कृष्णा किशोर ने प्रदेश सरकार की तरफ से अमेरिकी अधिकारियों के समक्ष यह मुद्दा उठाया था, लेकिन इसका कोई फायदा नहीं हुआ. अपने 'छवि निर्माण' प्रयासों के तहत आंध्र सरकार को लगता था कि अमेरिकी राष्ट्रपति की बेटी के दौरे से अंतरराष्ट्रीय स्तर पर इस दक्षिणी राज्य की छवि में सुधार होगा. सूत्रों ने कहा कि सरकार चाहती थी कि कुछ अमेरिकी कंपनियां आंध्र प्रदेश में निवेश करें. 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement