NDTV Khabar

चेन्नई: BJP नेता की फेसबुक पोस्ट के खिलाफ पत्रकारों का हल्ला बोल

अभिनेता से नेता बने एसवी शेखर की कथित अपमानजनक फेसबुक पोस्ट के खिलाफ पत्रकारों ने आज यहां उग्र प्रदर्शन और नारेबाजी की.

1.5K Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
चेन्नई: BJP नेता की फेसबुक पोस्ट के खिलाफ पत्रकारों का हल्ला बोल

फाइल फोटो

खास बातें

  1. अभिनेता से नेता बने एसवी शेखर की कथित फेसबुक पोस्ट पर प्रदर्शन
  2. पत्रकारों ने उनके आवास पर प्रदर्शन किया
  3. इस दौरान 30 लोगों को हिरासत में लिया गया
चेन्नई: अभिनेता से नेता बने एसवी शेखर की कथित अपमानजनक फेसबुक पोस्ट के खिलाफ पत्रकारों ने आज यहां उग्र प्रदर्शन और नारेबाजी की. भाजपा नेता शेखर की मीडिया और खासकर महिला पत्रकारों के खिलाफ फेसबुक पर साझा किये गये पोस्ट के खिलाफ पत्रकारों ने उनके आवास पर प्रदर्शन किया. एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि पत्रकारों ने यहां शेखर के आवास पर हमला किया. इस दौरान 30 लोगों को हिरासत में लिया गया. अधिकारी ने बताया कि घटना में कोई घायल नहीं हुआ है. बताया जाता है कि हमले के वक्त शेखर घर पर मौजूद नहीं थे. उनके घर पर लगे कुछ पोस्टरों को हालांकि क्षतिग्रस्त कर दिया गया. इससे पूर्व पत्रकारों के भारी विरोध के मद्देनजर शेखर को अपनी पोस्ट के लिए माफी मांगनी पड़ी थी. 

यह भी पढ़ें: महिला प्रोफेसर ने छात्रों को अधिकारियों के साथ दी थी 'संबंध' बनाने की सलाह, जांच समिति गठित

विभिन्न मीडिया संगठनों के सदस्यों ने शेखर के खिलाफ कार्रवाई किये जाने की मांग को लेकर राज्य भाजपा मुख्यालय के निकट प्रदर्शन किया. इससे पूर्व शेखर ने इस पोस्ट पर माफी मांगते हुए कहा था कि उन्होंने तथ्यों को ‘‘ बिना पढ़े ’’ एक मित्र की पोस्ट को साझा कर दिया था. उन्होंने कहा,‘‘ यह पोस्ट ‘‘ तथ्यों को बिना पढ़े’’ गलती से अनजाने में साझा हो गयी थी.’’ शेखर ने एक बयान में कहा,‘‘ एक मित्र ने जब बताया कि पोस्ट के तथ्य अपमानजनक है तो इसे तुरन्त हटा दिया गया. ’’ साझा किये गये उनके फेसबुक पोस्ट में तमिलनाडु के राज्यपाल बनवारी लाल पुरोहित के ‘ थपकी विवाद ’ के आलोक में मीडिया और महिला पत्रकारों के खिलाफ अशोभनीय बातें कही गयी हैं. कल कथित रुप से यह पोस्ट डाली गयी थी और बाद में उसे हटा लिया गया. 

यह भी पढ़ें: भारत में ट्रेन की स्पीड बढ़ाने के लिए मदद दे सकता है चीन

टिप्पणियां
पुरोहित (78) ने एक हफ्ते पहले चेन्नई में संवाददाता सम्मेलन खत्म होने के बाद एक महिला पत्रकार के सवालों को टालने के लिए उसके गाल पर थपथपा दिया था. इस घटना से विवाद पैदा हो गया था तथा द्रमुक समेत राजनीतिक दलों ने उन्हें हटाये जाने की मांग की थी. पुरोहित ने बाद में उस महिला पत्रकार से माफी मांग ली थी. कई पत्रकारों तथा चेन्नई यूनियन ऑफ जनर्लिस्ट ने भी इस पोस्ट को लेकर शेखर की कड़ी निंदा की. शेखर ने कहा,‘‘ मैं उस परिवार से आता हूं जहां महिलाओं और महिला पत्रकारों का सम्मान किया जाता है.

VIDEO: पुराने बंद नोटों से बन रही हैं नई फाइलें
यदि पोस्ट को (साझा) करने के बाद किसी की भावना को कोई ठेस पहुंची हो तो मैं इसके लिए माफी मांगता हूं.’’ इस बीच कुछ लोगों ने शेखर के खिलाफ पुलिस में एक शिकायत भी दर्ज कराई है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement