NDTV Khabar

कर्नाटक में तख्तापलट की तैयारी? 104 BJP विधायकों ने गुरुग्राम में डाल रखा है डेरा, 5 कांग्रेस MLA लापता

भाजपा ने कर्नाटक के सीएम एचडी कुमारस्वामी (HD Kumaraswamy) पर उनके विधायक तोड़ने का आरोप लगाया है. राज्य भाजपा के प्रमुख और पूर्व सीएम बी. एस. येदियुरप्पा (BS Yeddyurappa) ने कहा, 'जनता दल सेक्युलर (जेडीएस) भाजपा विधायकों को तोड़ना चाहती है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कर्नाटक में तख्तापलट की तैयारी? 104 BJP विधायकों ने गुरुग्राम में डाल रखा है डेरा, 5 कांग्रेस MLA लापता

कर्नाटक भाजपा के प्रमुख और पूर्व सीएम बी. एस. येदियुरप्पा.

खास बातें

  1. कर्नाटक का सियासी ड्रामा पहुंचा दिल्ली
  2. गुरुग्राम में ठहरे हैं 104 भाजपा विधायक
  3. सीएम एचडी कुमारस्वामी पर लगाए आरोप
नई दिल्ली :

कर्नाटक (Karnataka) का सियासी ड्रामा बेंगलुरू से चलकर दिल्ली आ गया है. भारतीय जनता पार्टी (BJP) के 104 विधायक देश की राजधानी दिल्ली सटे गुरुग्राम के एक रिसॉर्ट में डेरा डाल रखा है. भाजपा ने कर्नाटक के सीएम एचडी कुमारस्वामी (HD Kumaraswamy) पर उनके विधायक तोड़ने का आरोप लगाया है. राज्य भाजपा के प्रमुख और पूर्व सीएम बी. एस. येदियुरप्पा (BS Yeddyurappa) ने कहा, 'जनता दल सेक्युलर (जेडीएस) भाजपा विधायकों को तोड़ना चाहती है. हम लोग इकट्ठे हैं. हम लोग दिल्ली में अभी एक-दो दिन रुकेंगे.' वहीं कांग्रेस के पांच विधायक भी लापता बताए जा रहे हैं, कयास लगाए जा रहे हैं कि वे विधायक भाजपा के संपर्क में हैं.

साथ ही येदियुरप्पा ने उन खबरों को खारिज कर दिया कि सरकार गिराने के लिए उनकी पार्टी ‘ऑपरेशन कमल' में लगी हुई है. उन्होंने बताया, 'हम लोग 104 भाजपा विधायक हैं और सभी साथ हैं. हमें यहां (गुरुग्राम) में आगामी लोकसभा चुनाव के लिए रणनीति बनाने के लिए बुलाया गया है. सरकार बनाने को लेकर कोई बातचीत नहीं हो रही है. लेकिन अगर ऐसा कुछ होता है तो हमारे नेता आपको बताएंगे.'


कांग्रेस और जेडीएस के बीच लोकसभा चुनावों के लिए सीटों के बंटवारे में न हो 'तीसरे दर्जे' जैसा व्यवहार : कुमारस्वामी

वहीं राज्य में सत्तारूढ़ कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन तथा भाजपा ने एक-दूसरे पर विधायकों को लालच देकर तोड़ने के आरोप लगाए. वहीं, राज्य के मुख्यमंत्री एच. डी. कुमारस्वामी ने कहा कि स्थिर सरकार चलाने के लिए उनके पास ‘पर्याप्त संख्या बल' है. इस तरह के कयास लगाए जा रहे हैं कि कांग्रेस के छह से आठ विधायक भाजपा के साथ जाने के लिए तैयार हैं और कुछ विधायकों से संपर्क नहीं हो पा रहा है. इस बीच, कुमारस्वामी ने कहा कि सरकार में ‘अस्थिरता' का सवाल ही पैदा नहीं होता है. कांग्रेस-जेडीएस ने जहां भाजपा पर विधायकों को लालच देने के आरोप लगाए वहीं राज्य भाजपा के प्रमुख बी. एस. येदियुरप्पा ने इन खबरों को खारिज कर दिया.

डीके शिवकुमार का आरोप, कर्नाटक सरकार गिराने के लिए बीजेपी कर रही है 'ऑपरेशन लोटस' पर काम

येदियुरप्पा ने कहा कि आरोपों में कोई सत्यता नहीं है और कहा कि कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन उनकी पार्टी के विधायकों को लालच देने का प्रयास कर रहा है. दिल्ली में भाजपा विधायकों और सांसदों से मुलाकात करने के बाद येदियुरप्पा ने कहा, ‘हमने नहीं, उन्होंने (जेडीएस-कांग्रेस) खरीद-फरोख्त की शुरुआत की है. हम एक-दो दिनों तक दिल्ली में रूकेंगे क्योंकि कुमारस्वामी हमारे विधायकों से संपर्क साधने के प्रयास में हैं और खरीद-फरोख्त शुरू हो गई है.' उन्होंने कहा कि भाजपा ‘सतर्क और सावधान' है क्योंकि मुख्यमंत्री ‘शक्ति और धन' का इस्तेमाल कर हमारे विधायकों को लुभाने का प्रयास कर रहे हैं.

कांग्रेस ने भी कहा कि येदियुरप्पा, सरकार को अस्थिर करने का ‘व्यर्थ प्रयास' कर रहे हैं. 224 सदस्यीय विधानसभा में भाजपा के 104 विधायक, कांग्रेस के 79, जद एस के 37, बसपा, केपीजेपी और निर्दलीय के एक-एक विधायक हैं. बसपा, केपीजेपी और निर्दलीय विधायक गठबंधन सरकार का समर्थन कर रहे हैं. मीडिया में इस तरह की खबर आई थी कि कांग्रेस विधायक भाजपा में जाने के लिए तैयार हैं और कुछ विधायकों से संपर्क नहीं हो पा रहा है जिसके बाद सरकार को खतरे की संभावना के कयास लगाए जाने लगे थे. ‘ऑपरेशन कमल' का जिक्र 2008 में भाजपा द्वारा विपक्ष के कई विधायकों का दल बदल करवाकर तत्कालीन बी एस येदियुरप्पा सरकार की स्थिरता सुनिश्चत कराने के लिए किया जाता है. 

तमिलनाडु: लोकसभा चुनाव से पहले दक्षिण भारत में बीजेपी को मिल सकता है नया साथी, AIADMK ने दिए संकेत

राज्य के मुख्यमंत्री कुमारस्वामी ने कहा, ‘यहां स्थिर सरकार देने के लिए मेरे पास पर्याप्त संख्या बल है. कांग्रेस या जेडीएस को भाजपा से विधायकों की खरीद-फरोख्त करने की जरूरत नहीं है, हमारे पास पर्याप्त संख्या बल है. किस भाजपा विधायक के नाम किस रिजॉर्ट में कमरे आरक्षित थे, कितने कमरे आरक्षित थे. वे कांग्रेस-जेडीएस के कितने विधायकों को लालच दे रहे थे और साथ ले जाने का प्रयास कर रहे थे... क्या मेरे पास सूचना नहीं है.'

जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक बोले, वोट के लिए नेता किसी भी हद तक जा सकते हैं

कुमारस्वामी ने कहा, ‘मैंने मीडिया में खबर देखी (ऑपरेशन कमल के बारे में). आज भी मैंने खबर देखी कि 17 जनवरी को राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू किया जाएगा.' उन्होंने कहा कि मुझे नहीं मालूम कि मीडिया को कौन इस तरह की खबरें दे रहा है... खबर देखकर मैं आश्चर्यचकित था.' जल संसाधन मंत्री डी के शिवकुमार के इस दावे के बारे में पूछने पर कि कांग्रेस के तीन विधायक मुंबई में डेरा डाले हुए हैं, कुमारस्वामी ने कहा कि वह उन विधायकों के नियमित संपर्क में हैं. शिवकुमार ने दावा किया था कि कांग्रेस के तीन विधायक मुंबई के एक होटल में डेरा डाले हुए हैं और ‘भाजपा के कुछ नेताओं के साथ हैं.'

(इनपुट- भाषा)

टिप्पणियां

VIDEO- मिशन 2019 : कर्नाटक में किसको किसका खौफ?

 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement