चुनाव आयोग समिति: कर्नाटक चुनाव कार्यक्रम लीक नहीं हुआ था, महज अनुमान था

कर्नाटक चुनाव कार्यक्रम की आधिकारिक घोषणा से कुछ मिनटों पहले कथित लीक की जांच करने के लिए चुनाव आयोग द्वारा बनाई गई एक आंतरिक समिति ने आज कहा कि सूचना लीक नहीं हुई थी बल्कि ये महज एक अनुमान था.

चुनाव आयोग समिति: कर्नाटक चुनाव कार्यक्रम लीक नहीं हुआ था, महज अनुमान था

फाइल फोटो

खास बातें

  • कर्नाटक चुनाव कार्यक्रम लीक नहीं हुआ था, महज अनुमान था
  • चुनाव आयोग समिति ने कही यह बात
  • विधानसभा चुनावों के कार्यक्रम की आधिकारिक घोषणा 27 मार्च को होनी थी
नई दिल्ली:

कर्नाटक चुनाव कार्यक्रम की आधिकारिक घोषणा से कुछ मिनटों पहले कथित लीक की जांच करने के लिए चुनाव आयोग द्वारा बनाई गई एक आंतरिक समिति ने आज कहा कि सूचना लीक नहीं हुई थी बल्कि ये महज एक अनुमान था. कर्नाटक विधानसभा चुनावों के कार्यक्रम की आधिकारिक घोषणा 27 मार्च को होनी थी लेकिन भारतीय जनता पार्टी के आईटी प्रकोष्ठ के प्रमुख द्वारा ट्वीट में उससे पहले ही कार्यक्रम की घोषणा कर दी गई. हालांकि, उन्होंने मतों की गिनती की तारीख गलत बताई थी. 

यह भी पढ़ें: कर्नाटक विधानसभा चुनाव: BJP की पहली सूची में ज्यादातर दल-बदलुओं को मिली जगह

समिति ने कहा कि मीडिया चुनावी कार्यक्रमों के बारे में पहले भी अटकलें लगाता रहा है और कर्नाटक चुनाव के मामले में भी इसी तरह का प्रयास किया गया.

VIDEO: सिद्धारमैया पर बीजेपी ने लगाया अंधविश्वासी होने का आरोप

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com