NDTV Khabar

कर्नाटक में ख़ुफ़िया विभाग का विशेष कैडर तैयार, 100 सब इंस्पेक्टरों को दी गई विशेष ट्रेनिंग

इन 100 में से 45 सब इंस्पेक्टर इंटेलिजेंस ने नॉकरी जॉइन कर ली है और बचे हुए अगले 15 दिनों में रिपोर्ट करेंगे. इन्हें खास तौर पर ट्रेनिंग दी गई है ताकि हर परिस्‍थिति में ये अपना काम सूझबूझ के साथ कर सकें.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कर्नाटक में ख़ुफ़िया विभाग का विशेष कैडर तैयार, 100 सब इंस्पेक्टरों को दी गई विशेष ट्रेनिंग
बेंगलुरू:

कर्नाटक में तक़रीबन 100 सब इंस्पेक्टरों को पिछले दो सालों में खास तौर पर रिक्रूट किया गया है जिनका काम सिर्फ इंटेलिजेंस जमा कर अपने अधिकारियों को सही वक्त पर देना होगा ताकि वक़्त रहते कार्रवाई की जा सके. इन 100 में से 45 सब इंस्पेक्टर इंटेलिजेंस ने नॉकरी जॉइन कर ली है और बचे हुए अगले 15 दिनों में रिपोर्ट करेंगे. इन्हें खास तौर पर ट्रेनिंग दी गई है ताकि हर परिस्‍थिति में ये अपना काम सूझबूझ के साथ कर सकें. इन अधिकारियों का तबादला पुलिस या किसी और विभाग में नहीं हो सकता है. फिलहाल राज्य के खुफिया विभाग में आम तौर पर डेपुटेशन पर अधिकारियों और कर्मियों को भेजा जाता है. और आम धारणा है कि इस विभाग में ज्‍यादातर पोस्टिंग सज़ा के तौर पर होती है. जो लोग पुलिस विभाग से यहां भेजे जाते हैं वो कुछ वक्त के बाद वापस उस विभाग में लौट जाते है जहां से वो आये थे. और उनके पास खुफिया जानकारी जमा करने की ट्रेनिंग भी नहीं होती, ऐसे में कई वारदात जिन्हें रोक जा सकता था, वो घट जाती हैं.

टिप्पणियां

वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के वार्षिक सम्मेलन के बाद राज्य के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने पुलिस मुख्यालय में बताया कि "दीपक राव और बशीर की हाल में मंगलोर में हत्या खुफिया विभाग की नाकामी का नतीजा थी." उन्होंने कहा कि खुफिया विभाग का डेडिकेटेड कैडर अब लगभग तैयार है मौजूदा दौर की चुनौतियों का सामना करने के लिए. इससे न सिर्फ क्रिमिनल इंटेलिजेंस और बेहतर हो पाएगा बल्कि संगठित अपराध पर भी बेहतर तरीके से नज़र रखी जा सकेगी. नक्सलवाद, आतंकवाद, साइबर क्राइम से निपटने के लिए इनकी ज़रूरत है.


इंटेलिजेंस का ये डेडिकेटेड कैडर भी डीजीपी इंटेलिजेंस के मातहत काम करेगा. कर्नाटक में खुफिया विभाग पुलिस महानिदेशक स्तर के अधिकारी की देखरेख में काम करता है जोकि मुख्यमंत्री को रिपोर्ट करते हैं. कर्नाटक के मौजूदा डीजीपी इंटेलिजेंस एएम प्रसाद हैं. उनके मातहत एक इंस्पेक्टर जनरल स्तर के अधिकारी के साथ-साथ दो डिप्टी इंस्पेक्टर जनरल, पांच एसपी रैंक के अधिकारियों के साथ-साथ तक़रीबन 650 पुलिसकर्मी काम करते हैं. जिन 100 इंटेलिजेंस सब इंस्पेक्टर्स की बहाली हुई है उन्हें ख़ास ट्रेनिंग दी गई है.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement