NDTV Khabar

कर्नाटक : सुप्रीम कोर्ट कांग्रेस के 5 और बागी विधायकों को याचिका को सुनने पर जताई सहमति

उधर मुंबई के एक होटल में रूके हुए बागी विधायकों ने शहर के पुलिस प्रमुख को पत्र लिखकर कहा है कि वह मल्लिकार्जुन खड़गे या कांग्रेस के किसी भी अन्य नेता से मिलना नहीं चाहते हैं.  ऐसी अटकलें हैं कि खड़गे कांग्रेस के कुछ अन्य नेताओं और कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी के साथ पोवई में स्थित रिनेसां होटल में उनसे मिलने जा सकते हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कर्नाटक : सुप्रीम कोर्ट कांग्रेस के 5 और बागी विधायकों को याचिका को सुनने पर जताई सहमति

फाइल फोटो

नई दिल्ली:

सुप्रीम कोर्ट ने कांग्रेस के पांच और बागी विधायकों की याचिका को 10 बागी विधायकों की लंबित याचिका के साथ सुनने पर सहमति जता दी है. ये विधायक कोर्ट से उनका इस्तीफा स्वीकार करने के लिए कर्नाटक विधानसभा अध्यक्ष को निर्देश देने की मांग कर रहे हैं. प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता में एक पीठ ने बागी विधायकों की तरफ से पेश होने वाले वरिष्ठ वकिल मुकुल रोहतगी की अर्जी पर संज्ञान लिया. याचिका में कहा गया है कि इन पांच विधायकों को भी उन 10 बागी विधायकों की लंबित याचिका में पक्षकार माना जाए जिनकी सुनवाई मंगलवार को होनी है. कांग्रेस के पांच और बागी विधायकों ने 13 जुलाई को सुप्रीम उच्चतम न्यायालय का दरवाजा खटखटाया. इन बागी विधायकों की मांग है कि उच्चतम न्यायालय इनका इस्तीफा स्वीकार करने का निर्देश कर्नाटक विधानसभा के अध्यक्ष को दे. ये विधायक आनंद सिंह, के सुधाकर, एन नागराज, मुनिरत्न और रोशन बेग हैं. कोर्ट ने 12 जुलाई को कर्नाटक विधानसभा के अध्यक्ष केआर रमेश कुमार को 16 जुलाई तक कांग्रेस - जेडीएस गठबंधन के 10 बागी विधायकों को अयोग्य ठहराने के मामले में किसी भी तरह के निर्णय लेने से रोका था. 

होटल में रुके कर्नाटक के बागी MLAs ने फिर लिखा मुंबई पुलिस को खत, कहा- कांग्रेस नेताओं से हमें खतरा है


उधर मुंबई के एक होटल में रूके हुए बागी विधायकों ने शहर के पुलिस प्रमुख को पत्र लिखकर कहा है कि वह मल्लिकार्जुन खड़गे या कांग्रेस के किसी भी अन्य नेता से मिलना नहीं चाहते हैं.  ऐसी अटकलें हैं कि खड़गे कांग्रेस के कुछ अन्य नेताओं और कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी के साथ पोवई में स्थित रिनेसां होटल में उनसे मिलने जा सकते हैं. मुंबई के पुलिस प्रमुख को लिखे पत्र में बागी विधायकों ने कहा,' उनकी इच्छा मल्लिकार्जुन खड़गे या गुलाम नबी आजाद या कांग्रेस के किसी भी नेता से मिलने की नहीं है.' विधायकों ने पत्र में कहा है कि उन्हें खतरा महसूस हो रहा है. उन्होंने पुलिस से आग्रह किया है कि कांग्रेस नेताओं को उनसे मिलने से रोका जाए. कर्नाटक में कांग्रेस - जेडीएस गठबंधन के नेताओं ने रविवार को सरकार बचाने के लिए भविष्य के कदमों पर चर्चा की. ये नेता लगातार कुछ बागी विधायकों का दिल जीतने की कोशिश में लगे हैं क्योंकि इसी सप्ताह कुमारस्वामी सरकार का विश्वासमत होने जा रहा है. 

कर्नाटक में कांग्रेस बागी विधायकों की मांग पूरी करने को तैयार : मंत्री

टिप्पणियां

हालांकि, बागी विधायकों ने यह स्पष्ट कर दिया कि वे लोग एकजुट हैं और अपने इस्तीफे पर ‘अडिग' हैं. कर्नाटक सरकार गिरने के कगार है क्योंकि इसके 16 विधायकों ने इस्तीफा दे दिया है जिनमें से 13 विधायक कांग्रेस के हैं और तीन विधायक जद (एस) के हैं. दो निर्दलीय उम्मदीवारों ने भी सरकार से अपना समर्थन वापस ले लिया था. 

रवीश कुमार का प्राइम टाइम: कर्नाटक संकट पर क्या कहती है संवैधानिक प्रक्रिया



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement