NDTV Khabar

कर्नाटक : मंगलुरु में पुलिस पर मोरल पुलिसिंग के आरोप, गृह मंत्री ने दिये कड़ी कार्रवाई के आदेश

मोरल पुलिसिंग की घटना सामने आने के बाद राज्य के गृह मंत्री ने आरोपी पुलिस कर्मियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के आदेश दिये हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कर्नाटक : मंगलुरु में पुलिस पर मोरल पुलिसिंग के आरोप, गृह मंत्री ने दिये कड़ी कार्रवाई के आदेश

प्रतीकात्मक तस्वीर

मंगलुरु: कर्नाटक के तटीय शहर मंगलुरु में मोरल पुलिसिंग की दो घटनाये सामने आई है. एक घटना में पुलिस एक महिला से जबरन एक लड़के पर केस करवाती है और लड़के की जमकर पिटाई करती है. इस घटना के सामने आने के बाद पुलिस खुद कटघरे में आ गई है. मोरल पुलिसिंग की घटना सामने आने के बाद राज्य के गृह मंत्री ने आरोपी पुलिस कर्मियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के आदेश दिये हैं. दरअसल, सोशल मीडिया पर इन दिनों एक एक महिला का वीडियो वायरल हो रहा है. 

इस वीडियो में महिला कहती दिख रही है "हाय, मैं अनुषा बोल रही हूं. सुब्रमण्या में जो वारदात हुई, उससे मेरा कोई सम्बन्ध नहीं है. हम दोनों सिर्फ दोस्त हैं. मैंने मंदिर के पास सिर्फ उसे मिलने के लिए बुलाया था. हम दोनों ने एक फ़िल्म में साथ काम किया है. इसीलिये मैंने उसे बुलाया. मैं उसे अपने साथ पूजा करने ले जाना चाहती थी लेकिन कुछ लोगों ने विरोध कर दिया. जिसके बाद मुझसे मेरी आईडी कार्ड के बारे में पूछा गया. मेरे पास कोई आईडी प्रूफ नहीं था. इतने में पुलिस आ गई और मुझे स्टेशन ले गई. मेरे दोस्त को भी वहां बुलाया गया. उसे अपनी बात रखने का मौका भी नहीं दिया गया और पुलिस उसे बेहरहमी से पीटने लगी. पिछले कुछ दिनों से लगातार ये खबर बढ़ती जा रही है. मुझे लगा कि सब शान्त हो जाएगा लेकिन ये बढ़ता ही जा रहा है. इसीलिए मैं आपको सच बताना चाहती हूं. मैंने सिर्फ उसे मिलने के लिए बुलाया था, सिर्फ इस बात पर उसकी पिटाई कर दी गई. पुलिस स्टेशन में मुझ पर दबाव डाला गया कि मैं उसके खिलाफ बोलूं, नहीं तो मुझ पर आतंकी होने का झूठा मुकदमा चलाया जाएगा. इतना ही नहीं, पुलिस ने मेरी बहन की शादी को रुकवा देने की धमकी भी दी. इसलिए मैंने केस किया. हम सिर्फ दोस्त हैं. हम दोनों के रिश्ते को लेकर झूठी खबर फैलाई गई जिसके चलते हम दोनों का करियर खराब हो रहा है."

यह भी पढ़ें - यूपी में पुलिस को दी जा रही ट्रेनिंग- असली 'रोमियो' कैसे पकड़ें?

बता दें कि मंगलुरु के सुब्रमण्या मन्दिर के पास से इन दोनों को पुलिस पकड़ कर ले गई थी. क्योंकि किसी ने पुलिस को ख़बर दी थी कि दो अलग-अलग धर्मों के युवाओं को कुछ लोगों ने साथ घूमते हुए पकड़ा है और हंगामा खड़ा हो गया है. हालांकि बताया जा रहा है कि इस महिला के खिलाफ उसके माता पिता ने गुमशुदगी का मामला दर्ज करवाया था.

दक्षिण कन्नडा ज़िला के एसपी सुधीर कुमार रेड्डी ने कहा कि सुब्रमण्या पुलिस स्टेशन के हेड कॉन्स्टेबल और कॉन्स्टेबल पर आरोप लगा है. जांच में अगर बात सही पाई गई तो इन दोनों के खिलाफ करवाई की जाएगी. 

यह भी पढ़ें - कर्नाटक : युवती ने मारपीट में जिसके बचाव की कोशिश की उसी पर कराया मामला दर्ज

टिप्पणियां
कर्नाटक के गृह मंत्री राम लिंगा रेड्डी ने कहा कि पुलिसकर्मियों द्वारा एक लड़के की पिटाई का मामला सामने आया है. मैंने वरिष्ठ अधिकारियों को इन पुलिसकर्मियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के आदेश दिए हैं. वहीं, दूसरी तरफ एक और मामला सामने आया जो कि सोमवार का बताया जा रहा है. इस घटना में 2 हिन्दू लड़कियां मुस्लिम लड़कों के साथ घूम रही थी. पुलिस उन्हें अलग हटा रही थी, तभी एक लड़का इन लड़कियों की पीठ पर मुक्का मारता है. कहा जा रहा है कि ये लड़का एक दक्षिण पन्थी संगठन से जुड़ा है. जिस लड़के ने मुक्का मारा था उसे पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है.

VIDEO: मेरठ में हिन्दू युवा वाहिनी पर मोरल पुलिसिंग का आरोप


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement