NDTV Khabar

अगर सीट बेल्ट बांधे होते तो बच सकती थी NTR के बेटे नंदमूरी हरिकृष्णा की जान : पुलिस
पढ़ें | Read IN

तेलुगू देशम पार्टी (TDP) के संस्थापक NT Rama Rao के बेटे और तेलुगू फिल्मों के सुपरस्टार जूनियर एनटीआर (Junior NTR) के पिता नंदमूरी हरिकृष्णा (Nandamuri Harikrishna) का सड़क हादसे में निधन हो गया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
अगर सीट बेल्ट बांधे होते तो बच सकती थी NTR के बेटे नंदमूरी हरिकृष्णा की जान : पुलिस

एनटी रामा राव के बेटे नंदमूरी हरिकृष्णा का सड़क हादसे में निधन हो गया.

हैदराबाद: एनटी रामा राव के पुत्र और राज्यसभा के पूर्व सदस्य नंदमूरी हरिकृष्णा (Nandamuri Harikrishna) की तेलंगाना के नालगोंडा जिले में कार दुर्घटना में मौत हो गई. वह आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू के साले भी थे. नालगोंडा के पुलिस अधीक्षक एवी रंगनाथ ने बताया कि हरिकृष्ण की कार की गति तेज थी और उन्होंने सीट बेल्ट नहीं पहनी हुई थी. हरिकृष्ण के साथ कार में सवार दो अन्य लोग बच गए और वे मामूली रूप से घायल हुए है. 62 साल के हरिकृष्ण एक विवाह समारोह में शामिल होने के लिए आंध्र प्रदेश के नेल्लोर जिले में कावली जा रहे थे. रास्ते में नालगोंडा राजमार्ग पर उनकी कार डिवाइडर से टकराई और पलट कर सड़क के दूसरी ओर चली गई.

यह भी पढ़ें : Nandamuri Harikrishna परिवार के लिए मनहूस रहा नालगोंडा, बड़े बेटे की भी यहीं हुई थी मौत, बाल-बाल बचे थे Junior NTR

अधिकारी ने कहा, 'अगर उन्होंने सीट बेल्ट का इस्तेमाल किया होता तो शायद प्रभाव कम होता और वह बच सकते थे. कार में सवार अन्य यात्रियों के अनुसार उन्होंने सीट बेल्ट नहीं पहनी थी और कार की गति भी तीव्र थी.' नारकटपल्ली स्थित कामिनेनी अस्पताल के उप-चिकित्सा अधिकारी आमिर खान ने बताया कि हरिकृष्ण के सिर में गभीर चोट आई थी. हमें संदेह है कि कुछ आंतरिक रक्तस्राव भी हुआ होगा. मौत के वास्तविक कारण का पता लगाया जा रहा है.

यह भी पढ़ें ; सीट बेल्‍ट न लगाने पर पुलिसवाले ने पीटा, कैब ड्राइवर ने किया आत्‍मदाह

कामिनेनी अस्पताल के प्रबंध निदेशक शशिधर कामिनेनी ने कहा, 'उन्हें सिर में गंभीर चोटें आई थी. हमने उन्हें बचाने के भरपूर कोशिश की लेकिन हम इसमें सफल नहीं हो सके.' सरकारी सूत्रों ने तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चन्द्रशेखर राव के हवाले से बताया कि उनका अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ किया जाएगा. हरिकृष्ण का पार्थिव शरीर हैदराबाद में उनके आवास पर लाया गया जहां तेलंगाना और आंध्र प्रदेश दोनों के नेताओं और मंत्रियों ने उन्हें श्रद्धांजलि दी. हरिकृष्ण पेशे से अभिनेता थे और उन्होंने कई तेलुगु फिल्मों में काम किया है. उनके पुत्र कल्याणराम और तारक रामा राव (जूनियर एनटीआर) भी तेलुगू फिल्मों के मशहूर अभिनेता हैं.    

टिप्पणियां
हरिकृष्ण 1996 में चंद्रबाबू नायडू की कैबिनेट में परिवहन मंत्री रहे. हालांकि बाद में उन्होंने 1998 में अन्ना तेदेपा का गठन किया. जिसका कुछ साल बाद वापस तेदेपा में विलय हो गया. वह 2008 से 2013 तक राज्यसभा के सदस्य रहे. उन्होंने आंध्र प्रदेश के विभाजन के विरोध में उच्च सदन से इस्तीफा दे दिया था. वर्ष 2014 में हरिकृष्ण के पुत्र जानकीराम की भी सड़क हादसे में मृत्यु हो गई थी. 

(इनपुट: भाषा)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement