NDTV Khabar
होम | दक्षिण भारत

दक्षिण भारत

  • वायनाड में एक पुल को लेकर राहुल गांधी और स्थानीय विधायक के बीच ठनी, जानें- पूरा मामला
    वायनाड लोकसभा क्षेत्र के सांसद राहुल गांधी द्वारा जिला कलेक्टर ए. आर. अजय कुमार को लिखा गया पत्र मार्क्‍सवादी कम्युनिस्ट पार्टी(माकपा) के विधायक ओ. आर. केलू को नागवार गुजरा है. गांधी ने कालिंदी नदी पर एक स्थायी पुल के निर्माण के लिए क्लेक्टर से अनुरोध किया था, जिस पर केलू की तीखी प्रतिक्रिया आई है. 
  • चेन्नई के डॉक्टरों ने पांच घंटे की सर्जरी के बाद 7 साल के बच्चे के मुंह से निकाले 526 दांत, जानें पूरा मामला
    चेन्नई के एक अस्पताल में डॉक्टरों ने एक 7 साल के बच्चे के मुंह से 526 दांत निकाले. शहर के सविता डेंटल कॉलेज और अस्पताल में यह दुर्लभ सर्जरी की गई. डॉक्टरों ने बताया कि 'कम्पाउंड कम्पॉजिट ओनडोन्टओम' के एक दुर्लभ मामले से पीड़ित इस बच्चे को उसके दाहिने जबड़े में सूजन के साथ अस्पताल में लाया गया था.
  • CCD के मालिक सिद्धार्थ की मौत को लेकर चौंकाने वाला तथ्य, पोस्टमार्टम से सुलझेगी गुत्थी
    कैफे कॉफी डे (CCD) के मालिक वीजी सिद्धार्थ का शव उनके गायब होने के लगभग 30 घंटे के बाद बुधवार को मेंगलुरु के पास नेत्रावती नदी में मिला. चौंकाने वाला तथ्य यह सामने आया है कि दो दिन से अधिक वक्त बीतने के बावजूद शव फूला नहीं था. यह वास्तव में अब गहन जांच का विषय है. दूसरी तरफ कर्नाटक के पूर्व मुख्य सचिव और आईएएस अधिकारी एसवी रंगनाथ सिद्धार्थ की जगह सीसीडी के नए अध्यक्ष बनाए गए हैं.
  • कर्नाटक के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के तीन दिन बाद ही येदियुरप्पा ने रद्द किया 'टीपू जयंती' समारोह
    बीएस येदियुरप्पा (BS Yediyurappa) ने कर्नाटक के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद राज्य में 'टीपू जयंती' समारोह को रद्द कर दिया. पूर्ववर्ती मैसूर साम्राज्य के 18वीं सदी के विवादित शासक टीपू सुल्तान की जयंती पर समारोह का आयोजन 2015 से हो रहा था.
  • कर्नाटक विधानसभा अध्यक्ष का पद छोड़ने के बाद बोले रमेश कुमार- 'अगर मुझसे कोई गलती हुई हो तो...'
    कर्नाटक विधानसभा में मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा के विश्वासमत हासिल करने के ठीक बाद स्पीकर केआर रमेश कुमार ने इस्तीफा दे दिया.
  • कर्नाटक में बीजेपी सरकार, कांग्रेस हुई 'नर्वस नाइंटीज' का शिकार, 5 बड़ी बातें
    कर्नाटक में बीएस येदियुरप्पा ने आखिरकार विश्वासमत हासिल कर लिया है. सरकार के पक्ष में 105 वोट पड़े हैं जबकि कांग्रेस के पक्ष में 99 वोट पड़े. क्रिकेट की भाषा में कहें तो कांग्रेस 'नर्वस नाइंटीज' का शिकार हो गई है. दरअसल 16 विधायकों को स्पीकर की ओर से अयोग्य घोषित किए जाने के बाद से बीजेपी के लिए राह आसान हो गई थी क्योंकि सदन में बहुमत का आंकड़ा 105 पहुंच गया था. विश्वास मत पर चर्चा के दौरान बीएस येदियुरप्पा ने कहा, ' मैं बदले की राजनीति में शामिल नही हैं. मैं भूलने और माफ करो के सिद्धांत में विश्वास करता हूं. गौरतलब है कि 16 विधायकों का सरकार से समर्थन वापस लेने के बाद राज्य में कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन की सरकार गिर गई थी. इसके बाद येदियुरप्पा की ओर से सरकार बनाने का दावा पेश किया गया. राज्यपाल की मंजूरी के बाद उन्होंने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली और उन्हें एक हफ्ते का समय दिया गया. वहीं दूसरी ओर से अयोग्य घोषित किए गए विधायकों ने कहा है कि वे स्पीकर के फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में अपील करेंगे.
  • Karnataka: सरकार बनाने के लिए बीएस येदियुरप्पा की राह क्यों है आसान, 10 बातें
    कर्नाटक के नए मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा (BS Yeddyurappa) को आज विधानसभा में बहुमत साबित करना है. जेडीएस और कांग्रेस के 17 बाग़ी विधायकों को अयोग्य क़रार दिए जाने के बाद बहुमत का आंकड़ा 105 रह गया है. अकेले बीजेपी के पास यह आंकड़ा मौजूद है, साथ ही एक निर्दलीय विधायक का भी साथ है. ऐसे में येदियुरप्पा को बहुमत साबित करने में कोई मुश्किल नहीं आएगी. वहीं कांग्रेस और JDS के पास स्पीकर समेत 100 विधायक हैं. बीजेपी ने जेडीएस को बाहर से समर्थन का ऑफ़र भी दिया है साथ ही बीजेपी ने बाग़ी विधायकों को अदालती लड़ाई में समर्थन देने की बात भी कही है. दल-बदल क़ानून के तहत अयोग्य ठहराए गए 17 बाग़ी विधायक स्पीकर के फ़ैसले के ख़िलाफ़ सुप्रीम कोर्ट में गुहार लगा सकते हैं. अयोग्य विधायक अदालत से मामले में जल्द सुनवाई की भी मांग कर सकते हैं.. कर्नाटक विधान सभा अध्यक्ष रमेश कुमार ने दलबदल क़ानून के तहत जेडीएस कॉन्ग्रेस के 14 बचे हुए विधयाको को भी अयोग्य घोषित कर दिया इस तरह सभी 17 बागी विधायक अब कर्नाटक विधान सभा के सदस्य नही रहे. उन्होंने 3 विधायकों को शुक्रवार को निष्कासित किया था.
  • जहां दलित MLA ने दिया धरना, वहां युवा कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने किया 'शुद्धिकरण', किया गाय के गोबर का छिड़काव
    त्रिशूर के समीप चेरप्पू में शनिवार को नत्तिका की विधायक गीता गोपी इलाके में सड़क की ‘खराब दशा’ के विरूद्ध लोक निर्माण विभाग के इंजीनियर के कार्यालय के बाहर धरने पर बैठी थीं. उनके विरोध में युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने मार्च निकाला और आरोप लगाया कि धरना लोगों को ‘बेवकूफ’ बनाने की हरकत है. जहां पर गीता धरने पर बैठी थीं, वहां युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने प्रतीकात्मक शुद्धिकरण के तौर पर गाय के गोबर मिश्रित पानी का छिड़काव भी किया.
  • बागी विधायकों के निष्कासन के बाद येदियुरप्पा के लिए आसान हो गया विश्वास मत हासिल करना, समझें पूरा गणित
    कर्नाटक विधानसभा के स्पीकर केआर रमेश कुमार ने कांग्रेस-जेडीएस के 14 और बागी विधायकों को निष्कासित कर दिया. इसके बाद मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा के लिए विश्वास मत हासिल करना आसान हो गया.
  • बहुमत साबित करने से पहले कर्नाटक के CM बीएस येदियुरप्पा का बड़ा बयान, कही यह बात
    बीएस येदियुरप्पा ने विधानसभा में बहुमत साबित करने से पहले बड़ा बयान दिया है. उन्होंने दावा किया है कि मैं विधानसभा में 100 फीसदी बहुमत साबित करूंगा.
  • बीएस येदियुरप्पा फिर बने कर्नाटक के 'किंग', चौथी बार ली मुख्यमंत्री पद की शपथ
    कर्नाटक में जेडीएस-कांग्रेस की गठबंधन सरकार गिरने के बाद बीजेपी के वरिष्ठ नेता बीएस येदियुरप्पा एक बार फिर राज्य के मुख्यमंत्री बन गए हैं. कर्नाटक भाजपा अध्यक्ष येदियुरप्पा (BS Yeddyurappa) को राज्यपाल वजुभाई वाला ने मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाई.
  • येदियुरप्‍पा के सरकार गठन का दावा पेश करने को मंजूरी खुद अमित शाह ने दी, एक वीडियो कॉल बनी वजह : सूत्र
    कर्नाटक में एच.डी. कुमारस्वामी के नेतृत्व वाली गठबंधन सरकार के विश्वासमत हारकर गिर जाने के तीन दिन बाद BJP ने आश्चर्यजनक तेज़ी दिखाते हुए बी.एस. येदियुरप्पा को सरकार गठन का दावा पेश करने की शुक्रवार सुबह मंज़ूरी दे दी.
  • दो दिन पहले सुप्रीम कोर्ट में थे आमने-सामने बीएस येदियुरप्पा और डीके शिवकुमार, अब दोनों मिलकर अपना बचाव करते दिखे
    कर्नाटक के 'नाटक' में इस आमने-सामने दो प्रमुख चेहरे हैं एक ओर बीजेपी से बीएस येदियुरप्पा और दूसरी ओर कांग्रेस के डीके शिवकुमार. सुप्रीम कोर्ट में यही दो दिग्गज आमने-सामने थे. लेकिन आज कुछ ऐसा हुआ कि दोनों एक साथ आ गए. दरअसल कर्नाटक के कथित जमीन घोटाला मामले में आरोपी हैं. जब यह घोटाला हुआ तो डीके शिवकुमार, बीएस येदियुरप्पा सरकार में मंत्री थे. दो दिन पहले येदियुरप्पा और शिवकुमार में राजनीतिक ड्रामे को लेकर प्रधान न्यायाधीश की अदालत में आमने-सामने थे. डीके शिवकुमार के वकील अभिषेक मनु सिंघवी थे तो दूसरी ओर येदियुरप्पा की ओर से मुकुल रोहतगी पेश हुए थे. लेकिन आज जस्टिस अरुण मिश्र और एमआर शाह की बेंच में दोनों एक साथ अपना बचाव करते दिखे.  शुक्रवार को कोर्ट ने कहा कि वो तय ये तय करेगा कि तीसरा पक्ष मामले में दखल दे सकता है या नहीं. 
  • राज्यपाल से मिलकर बीएस येदियुरप्पा ने सरकार बनाने का दावा पेश किया, आज शाम 6 बजे लेंगे शपथ
    कर्नाटक में बीजेपी अध्यक्ष  बीएस येदियुरप्पा ने राज्यपाल से मिलकर सरकार बनाने का दावा पेश कर दिया है. सूत्रों का दावा है कि बीएस येदियुरप्पा आज शाम 6 बजे पद और गोपनीयता की शपथ लेंगे. राज्य में 3 दिन पहले ही कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन की सरकार गिरी है. इससे यहां पर नाटकीय घटनाक्रम हुए हैं और मामला सुप्रीम कोर्ट तक पहुंच गया. गुरुवार को कर्नाटक विधानसभा के अध्यक्ष के आर रमेश कुमार ने बृहस्पतिवार को कांग्रेस के तीन बागी विधायकों को दलबदल विरोधी कानून के तहत अयोग्य ठहराया. कुमार के इस कदम से कांग्रेस-जदएस गठबंधन गिरने के दो दिन बाद राज्य में नई सरकार के गठन पर अनिश्चितता और बढ़ गई. कुमार ने फैसला किया कि तीनों विधायकों के इस्तीफे ‘‘स्वैच्छिक एवं स्वाभाविक नहीं हैं’’ और इसलिए उन्हें 2023 में मौजूदा विधानसभा का कार्यकाल खत्म होने तक तत्काल प्रभाव से दलबदल विरोधी कानून के तहत अयोग्य करार दिया. अपना फैसला सुनाते हुए अध्यक्ष ने कहा कि वह अगले कुछ दिनों में शेष 14 मामलों पर फैसला करेंगे. स्पीकर ने कहा कि वह ‘‘अगले कुछ दिन में’’ 14 अन्य विधायकों के संबंध में उनके पास लंबित इस्तीफे और अयोग्यता याचिकाओं पर फैसला करेंगे. गौरतलब है कि 23 जुलाई को विधानसभा में हुए शक्ति-परीक्षण में कुमारस्वामी सरकार अल्पमत में आ गई थी. 
  • कुमारस्वामी सरकार से समर्थन वापस लेने वाले तीन बागी विधायकों को स्पीकर रमेश कुमार ने अयोग्य घोषित किया
    कर्नाटक (Karnataka) की एचडी कुमारस्वामी (HD Kumaraswamy) सरकार से समर्थन वापस लेने वाले तीन बागी विधायकों को विधानसभा के स्पीकर केआर रमेश कुमार (Ramesh Kumar) ने अयोग्य घोषित कर दिया है. इनमें निर्दलीय विधायक विधायक आर शंकर भी शामिल है.
  • कर्नाटक को लेकर असमंजस में बीजेपी, टिकाऊ सरकार के लिए इंतजार; या येदियुरप्पा का सपना करे साकार
    भारतीय जनता पार्टी (BJP) कर्नाटक में टिकाऊ सरकार चाहती है और इसके लिए राज्य में विधानसभा चुनाव ही एक मात्र विकल्प है. दूसरी तरफ बीजेपी के वरिष्ठ नेता बीएस येदियुरप्पा की नजर मुख्यमंत्री की कुर्सी पर टिकी हुई है. बीजेपी ने कर्नाटक की कांग्रेस-जेडीएस सरकार के पतन के दो दिन बाद भी सरकार के गठन के लिए दावा पेश नहीं किया है. जबकि राज्य को 31 जुलाई के पहले वित्त विधेयक पारित करना होगा और तब तक नई सरकार के अस्तित्व में न आने के हालात में राष्ट्रपति शासन लगाना बाध्यता होगी.
  • क्या कर्नाटक में लग सकता है राष्ट्रपति शासन? BJP बागी विधायकों पर स्पीकर के फैसले का कर रही इंतजार
    कर्नाटक में विधानसभा अध्यक्ष केआर रमेश कुमार द्वारा कांग्रेस-जेडीएस के 15 बागी विधायकों के इस्तीफे पर फैसला होने तक राष्ट्रपति शासन लग सकता है, क्योंकि भारतीय जनता पार्टी (BJP) भी अनिश्चितता के बीच सरकार बनाने के लिए दावा करने की जल्दी में नहीं है.
  • येदियुरप्पा को ताजपोशी के लिए करना पड़ेगा लंबा इंतजार! BJP फूंक-फूंक कर रख रही कदम, जानें पूरा मामला
    कर्नाटक में BJP नेता बीएस येदियुरप्पा (BS Yeddyurappa) को मुख्यमंत्री बनने के लिए अभी लंबा इंतज़ार करना पड़ सकता है, क्योंकि मौजूदा हालात में बीजेपी का केंद्रीय नेतृव उनकी ताजपोशी करके पिछली बार की तरह इस बार भी अपनी किरकिरी नहीं करवाना चाहता.
  • तेलंगाना में सोशल मीडिया पर कमेंट को लेकर इंजीनियरिंग छात्र की सीनियरों ने की पिटाई
    तेलंगाना के खम्मम जिले के सथुपल्ली शहर में एक इंजीनियरिंग के छात्र की पिटाई का मामला सामने आया है. आरोप है कि छात्र ने सोशल मीडिया पर अपमानजनक पोस्ट की थी, जिसके बाद सीनियर छात्रों ने उसकी बेरहमी से पिटाई की. आरोपियों की पहलना आफरीदी, मनितेजा और साई किरण के रूप में हुई है. 
  • चेन्नई में 'तलवारें' लहराते बस में चढ़े कॉलेज विद्यार्थी, विरोधियों पर किया हमला
    वीडियो में बसे के डरे हुए मुसाफिरों को भागते हुए देखा जा सकता है, और जो लोग भागने में कामयाब नहीं हुए, वे भी डर की वजह से अपनी सीटों पर ही दुबककर बैठे रहे. दोनों विद्यार्थियों को सवारियों पर हमला करने से पहले बस के दोनों दरवाज़ों को रोकते और मुसाफिरों को धमकाने के अंदाज़ में सीढ़ियों पर अपने हथियार फटकारते हुए देखा जा सकता है.
«1234567»

Advertisement