NDTV Khabar
होम | दक्षिण भारत

दक्षिण भारत

  • भीषण एक्सीडेंट के बावजूद बाइक सवार को नहीं आई खरोंच, लोगों ने कहा- जाको राखे साइयां, मार सके न कोई, देखें- VIDEO
    जाको राखे साइयां, मार सके न कोई. यह कहावत तो आपने अक्सर सुनी होगी. अब तेलंगाना में यह कहावत सच साबित हुई है. दरअसल, तेलंगाना के रंगा रेड्डी ज़िले में एक बाइक और एक मिनी ट्रक की आमने-सामने टक्कर हो गई.
  • तेलंगाना : राज्य कैबिनेट की बैठक में आज नहीं हो पाया विधानसभा भंग करने का फैसला
    तेलंगाना के मुख्यमंत्री के.चंद्रशेखर राव के समय पूर्व चुनाव के लिए राज्य विधानसभा भंग करने की अटकलों के बीच रविवार को मंत्रिमंडल की बैठक हुई. लेकिन यह बैठक समय पूर्व चुनाव के मुद्दे पर बिना फैसला लिए समाप्त हो गई.
  • नीलगिरि की पहाड़ियों में हनीमून मनाने के लिये जोड़े ने बुक कराई पूरी ट्रेन
    दक्षिण रेलवे द्वारा शुरू की गई एक विशेष ट्रेन को नवविवाहित ब्रिटिश युगल ने अपना हनीमून मनाने के लिये बुक कराया. इस दंपति ने नीलगिरी की वादियों अपने हनीमून के लिये मेत्तुपलयम से उधगमंडलम के बीच सफर के लिये पूरी ट्रेन बुक कराई थी.
  • तेलंगाना में जल्द चुनाव की सुगबुगाहट तेज, मुख्यमंत्री चंद्रशेखर राव विधानसभा भंग करने का कर सकते हैं ऐलान
    ​तेलंगाना में इसी साल के अंत में विधानसभा चुनावों की घोषणा हो सकती है. सूत्रों का कहना है कि तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव आज राज्य विधानसभा भंग करने का ऐलान कर सकते हैं ताकि इस साल के अंत में चार राज्यों में होने वाले चुनाव के साथ ही यहां भी चुनाव कराया जा सके. माना जा रहा है कि मुख्यमंत्री के चंद्रशेकर राव आज एक विशाल रैली में इसका ऐलान कर सकते हैं. 
  • ...तो केरल में बाढ़ की तबाही रोकी जा सकती थी! मौसम विभाग ने किया बड़ा दावा
    मौसम विभाग ने केरल में सामान्य से अत्यधिक बारिश होने के बारे में पहले से आगाह नहीं करने के राज्य सरकार के आरोप को खारिज करते हुये कहा है कि इस बारे में अगस्त के पहले सप्ताह से ही पूर्व चेतावनी जारी कर दी गयी थी. विभाग ने शनिवार को जारी बयान में कहा है कि केरल के मुख्यमंत्री पिनारायी विजयन सहित राज्य सरकार के आला अधिकारियों के साथ समय समय पर हुई बैठकों में लगातार स्थिति से अवगत कराया जाता रहा है
  • कोयंबटूर: यात्री से भरी तेज रफ्तार बस ने मिनी वैन को मारी टक्कर, 7 की मौत 30 घायल
    शनिवार को सलेम में एक बस दुर्घटना में दो महिलाओं समेत सात लोगों की मौत हो गई और 30 लोग घायल हो गए. पुलिस ने बताया कि यह घटना यहां से 150 किलोमीटर दूर सलेम की बाहरी सीमा पर देर रात दो बजे घटी जब तेज रफ्तार से कृष्णागिरी जा रही बस ने राष्ट्रीय राजमार्ग पर खड़ी एक मिनी वैन को टक्कर मार दी और फिर सामने से आ रही एक बस से टकरा गई.
  • कोयंबटूर में बस दुर्घटना में सात लोगों की मौत, 30 घायल
    कोयंबटूर में शनिवार को एक बस दुर्घटना में दो महिलाओं समेत सात लोगों की मौत हो गई और 30 लोग घायल हो गए. पुलिस ने बताया कि यह घटना यहां से 150 किलोमीटर दूर सलेम की बाहरी सीमा पर देर रात दो बजे घटी जब तेज रफ्तार से कृष्णागिरी जा रही बस ने राष्ट्रीय राजमार्ग पर खड़ी एक मिनी वैन को टक्कर मार दी और फिर सामने से आ रही एक बस से टकरा गई.
  • सुप्रीम कोर्ट बोला- केरल को विदेशी फंड दिया जाए या नहीं, यह आदेश देने वाले हम कौन होते हैं
    केरल में आई सदी की सबसे बड़ी त्रासदी यानी बाढ़ के मामले में केरल में राहत के लिए विदेशी फंड की याचिका पर सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि हम ये कैसे कह सकते हैं कि राज्य को विदेशी फंड दिया जाए या नहीं. इसके साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने जल्द सुनवाई की मांग वाली याचिका खारिज कर दी. बता दें कि कुछ समय पहले ऐसी खबरें आईं थी कि संयुक्त अरब अमीरात ने केरल को 700 करोड़ रुपये की मदद की पेशकश की थी. हालांकि, बाद में खुद यूएई के राजदूत ने इस बात का खंडन किया था कि अभी तक यूएई सरकार ने ऐसा कोई प्रस्ताव केरल को नहीं दिया है. 
  • Kerala Flood: बाढ़ से तबाह केरल के लिए देशवासियों ने दिखाया बड़ा दिल, अब तक की इतने करोड़ की मदद
    केरल में आई सदी की सबसे बड़ी त्रासदी यानी बाढ़ ने न सिर्फ कई जिंदगियों को काल के गाल में पहुंचाया, बल्कि वहां के लोगों को विकास के मायने में कई साल पीछे धकेल दिया. केरल में अब बाढ़ पीड़ितों के पुनर्वास के लिए जोर-शोर से काम हो रहा है. बाढ़ पीड़ितों की जिंदगी को पटरी पर लाने के लिए राहत का काम तेज कर दिया गया है. देश भर से आए दान अथवा मदद के रूप में केरल मुख्यमंत्री राहत कोष में अब तक 1027 करोड़ रुपये जमा हो गये हैं, जो मोदी सरकार द्वारा दी गई सहायता राशि से काफी ज्यादा है. हालांकि, मुख्यमंत्री राहत कोष में जितने पैसे आए हैं, उनमें राज्य सरकारों, जनता, कॉरपोरेट्स और संगठन की ओर से दी गई सहायता राशि भी शामिल है. बता दें कि बाढ़ से तबाह केरल को मोदी सरकार ने 600 करोड़ रुपये की अग्रिम आर्थिक मदद की है. 
  • गठबंधन को ‘ज़हर-सरीखा’ बताने वाले कुमारस्वामी ने अब कहा, कर्नाटक सरकार से खुश हैं राहुल गांधी
    जनता दल सेक्यूलर (JDS) के नेता तथा कर्नाटक में कांग्रेस के साथ मिलकर चलाई जा रही सरकार के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात के बाद दावा किया कि राज्य सरकार के कामकाज से कांग्रेस अध्यक्ष खुश हैं. कुमारस्वामी का यह बयान इसलिए अहम है, क्योंकि राज्य में गठबंधन सरकार बनने से लेकर अब तक दोनों पार्टियों के बीच संबंध सामान्य नहीं होने की ख़बरें लगातार सामने आती रही हैं, और खुद मुख्यमंत्री भी 'गठबंधन सरकार चलाने को ज़हर सरीखा' बता चुके हैं.
  • ट्रेन में चूहे ने काट लिया था,  मिले 25 हजार रुपये और इलाज का खर्च भी
    एक उपभोक्ता शिकायत मंच ने रेलवे को एक ट्रेन में चूहे के काटने से घायल व्यक्ति को 25 हजार रुपये का मुआवजा देने का निर्देश दिया. रेलवे को चिकित्सा खर्च के रूप में दो हजार रुपये अलग से देने का निर्देश भी दिया गया.
  • अगर सीट बेल्ट बांधे होते तो बच सकती थी NTR के बेटे नंदमूरी हरिकृष्णा की जान : पुलिस
    एनटी रामा राव के पुत्र और राज्यसभा के पूर्व सदस्य नंदमूरी हरिकृष्णा (Nandamuri Harikrishna) की तेलंगाना के नालगोंडा जिले में कार दुर्घटना में मौत हो गई. वह आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू के साले भी थे. नालगोंडा के पुलिस अधीक्षक एवी रंगनाथ ने बताया कि हरिकृष्ण की कार की गति तेज थी और उन्होंने सीट बेल्ट नहीं पहनी हुई थी. हरिकृष्ण के साथ कार में सवार दो अन्य लोग बच गए और वे मामूली रूप से घायल हुए है. 62 साल के हरिकृष्ण एक विवाह समारोह में शामिल होने के लिए आंध्र प्रदेश के नेल्लोर जिले में कावली जा रहे थे. रास्ते में नालगोंडा राजमार्ग पर उनकी कार डिवाइडर से टकराई और पलट कर सड़क के दूसरी ओर चली गई.
  • आंध्र प्रदेश के पूर्व सीएम NT Rama Rao के बेटे और एक्टर नंदमुरि हरिकृष्णा की सड़क हादसे में मौत, उपराष्ट्रपति ने जताया दुख
    आंध्र प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एनटी रामा राव के बेटे नंदमुरि हरिकृष्णा की आज तेलंगाना में सड़क हादसे में मौत हो गई. 62 साल के एन हरिकृष्णा पूर्व सांसद और एक्टर रह चुके थे. वह आंध्र प्रदेश के वर्तमान मुख्यमंत्री चंद्र बाबू नायडू के साले भी थे.  
  • DMK अध्यक्ष बनने के तुरंत बाद ही स्टालिन ने मोदी सरकार के खिलाफ खोला मोर्चा, दिया यह बयान...
    भाजपा की तरफ द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (DMK) के झुकाव की अटकलों पर विराम लगाते हुए नवनिर्वाचित अध्यक्ष एमके स्टालिन (MK Stalin) ने मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तीखा हमला बोला. स्टालिन ने कहा कि मोदी सरकार भारत का भगवाकरण करने की कोशिश कर रही है. स्टालिन ने पार्टी अध्यक्ष पद की शपथ लेने के बाद अपने पहले संबोधन में कहा, 'आइए भगवाकरण की कोशिश कर रही मोदी सरकार को सबक सिखाएं.' यहां महापरिषद की बैठक में सैकड़ों पार्टी प्रतिनिधियों के बीच स्टालिन ने कहा, 'हम उस किसी भी पार्टी का विरोध करेंगे, जो एक भाषा का प्रभुत्व चाहती है.' स्टालिन ने कहा कि राज्य सरकारों के अधिकारों को रौंदा जा रहा है और मोदी सरकार को सबक सिखाने की जरूरत है.
  • आंध्र प्रदेश में सांप काटने की घटनाएं बढ़ीं तो सरकार ने नाग देवता को 'खुश' करने के लिए उठाया ये कदम
    पिछले दो महीनों में कृष्णा जिले में सांप के काटने की कई घटनाएं होने के बाद सर्प देवता को प्रसन्न करने के लिए आंध्र प्रदेश सरकार की सर्पयज्ञम योजना की कई तबकों द्वारा आलोचना की गयी है. सांप के काटने के कारण दो लोगों की मौत हो गयी है जबकि 100 से ज्यादा लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया.
  • इस वजह से एम. के. स्टालिन का सीधे DMK का राजा बनना तय
    दिवंगत द्रमुक नेता एम. करुणानिधि के पुत्र और उनके वास्तविक राजनीतिक वारिस एम. के. स्टालिन का मंगलवार को द्रमुक पद चयन होना लगभग तय है.
  • दक्षिण भारत में 40 प्रतिशत जिले में कम बारिश हुई : मौसम विभाग
    क्षेत्र के 125 जिलों में से 54 में कम बारिश हुयी और दो अन्य में अनुमान से बहुत कम बारिश हुई.
  • केरल बाढ़ राहत कार्यक्रम में सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस समेत शामिल होंगे कई जज, जस्टिस केएम जोसेफ गाएंगे गाना
    सर्वोच्च न्यायालय के न्यायाधीशों की तरफ से केरल के मुख्यमंत्री आपदा राहत कोष में योगदान दिए जाने के बाद अब बाढ़ प्रभावित लोगों की मदद के लिए आयोजित एक कार्यक्रम में सोमवार को शीर्ष न्यायालय के न्यायाधीश न्यायमूर्ति के.एम. जोसेफ गीत गाएंगे. प्रधान न्यायाधीश न्यायमूर्ति दीपक मिश्रा कार्यक्रम के मुख्य अतिथि होंगे, जहां न्यायमूर्ति जोसेफ दो गीत गाएंगे, जिसमें एक मलयाली और एक हिंदी गीत होगा.
  • केरल के पूर्व मुख्यमंत्री ओमन चांडी ने कहा- सरकार की चूक से हुई बाढ़ की त्रासदी
    केरल के पूर्व मुख्यमंत्री ओमन चांडी ने कहा कि राज्य में भारी बारिश और बाढ़ के चलते हुई त्रासदी मौजूदा राज्य सरकार की स्थिति का अनुमान लगाने में सक्षम नहीं होने की कमी का नतीजा है. चांडी ने बताया कि हालांकि, यह त्रासदी को राजनीतिक रंग देने का समय नहीं है, फिर भी वह यह कहने के लिए मजबूर है, जिसका संकेत खुद मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने दिया है.
  • केरल में बाढ़ से तबाही : 417 की मौत, 8.69 लाख शिविरों में और 7000 घर नष्ट, 10 बड़ी बातें
    केरल में बारिश व बाढ़ की विभीषिका में अब तक 417 लोग जान गंवा चुके हैं। मुख्यमंत्री पिनारई विजयन ने शुक्रवार को यह जानकारी दी. मुख्यमंत्री ने कहा कि सैकड़ों लोग राहत शिविरों से घरों को लौट रहे हैं, फिर भी अभी 8.69 लाख लोग 2,787 राहत शिविरों में हैं. विजयन ने मीडिया से कहा कि 29 मई से मानसून की बारिश शुरू होने से मौतें होनी शुरू हो गईं थीं लेकिन आठ अगस्त से 265 लोगों के मौत होने की सूचना है, जब मूसलाधार बारिश की वजह से राज्य में भयावह बाढ़ आ गई. केरल में यह सदी की सबसे भयावह बाढ़ है.
«1234567»

Advertisement