NDTV Khabar

तेलंगाना में सरकारी साड़ी के लिए महिलाओं में मची होड़, खींचे एकदूसरे के बाल

स्थानीय न्यूज चैनलों पर महिलाओं में आपसी खींचतान और मारपीट के दृश्य सामने आए.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
तेलंगाना में सरकारी साड़ी के लिए महिलाओं में मची होड़, खींचे एकदूसरे के बाल

सरकार की योजना 222 करोड़ रुपये में एक करोड़ महिलाओं को साड़ी बांटने की है...

खास बातें

  1. योजना का सही ढंग से क्रियान्वयन न हो पाने से कई शहरों में हंगामा
  2. महिलाओं के बीच मारपीट की घटनाएं सामने आई हैं
  3. कई जगह साड़ी की गुणवत्ता को लेकर हंगामा हुआ
हैदराबाद:

तमिलनाडु की दिवंगत मुख्यमंत्री जे जयललिता के कार्यकाल में शुरू की गई 'अम्मा साड़ी योजना' की तर्ज पर तेलंगाना सरकार ने साड़ी बांटने की कोशिश की लेकिन बदइंतजामी के चलते किरकिरी करा बैठी. योजना का सही ढंग से क्रियान्वयन न हो पाने से कई शहरों में महिलाओं के बीच मारपीट की घटनाएं सामने आई हैं. स्थानीय न्यूज चैनल पर महिलाओं में आपसी खींचतान और मारपीट के दृश्य सामने आए. कई जगह साड़ी की गुणवत्ता को लेकर हंगामा हुआ तो कई जगह महिलाओं को मायूसी हाथ लगी. लंबे इंतजार के बाद भी उन्हें साड़ी नहीं मिली. मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव की जमकर किरकिरी हुई है.

राज्य सरकार के आला अधिकारियों ने नवरात्र की तरह नौ दिन तक चलने वाले बतुक्कम उत्सव के लिए 500 डिजायन में साड़ियां पसंद की थीं. बतुक्कम में महिलाएं सिर पर फूल सजाकर एकसाथ नाचती हैं. यह उत्सव नवरात्र के नौ दिनों तक चलता है और दशहरा को समाप्त होता है.  


यह भी पढ़ें: तेलंगाना : आवासीय कॉलेजों का अजीबोगरीब नियम, विवाहित महिलाओं के दाखिले पर मनाही, जानें क्यों

तेलंगाना सरकार में मंत्री तलसानी श्रीनिवास यादव का कहना था कि साड़ियां गरीब महिलाओं को त्योहार पर गिफ्ट है, जिसे वो बतुक्कम पर पहनेंगी. कम समय होने के कारण सरकार ने जल्दबाजी में आधी साड़ियां गुजरात के सूरत से मंगवाई गईं तो आधी तेलंगाना के पावरलूम से खरीदी गईं. तमिलनाडु की दिवंगत मुख्यमंत्री जे जयललिता के कार्यकाल में शुरू की गई 'अम्मा साड़ी योजना' की तर्ज पर तेलंगाना सरकार ने साड़ी बांटने की कोशिश की लेकिन बदइंतजामी के चलते किरकिरी करा बैठी.

यह भी पढ़ें: तेलंगाना के सीएम चंद्रशेखर राव की मन्नत हुई पूरी, अब भद्रकाली पर चढ़ाएंगे 3 करोड़ का मुकुट

टिप्पणियां

जैसे ही तेलंगाना राष्ट्र समिति के नेताओं ने आज सुबह साड़ी वितरित करना शुरू किया, कई इलाकों में औरतें आपस में भिड़ गईं. हैदराबाद के सैदाबाद में महिलाएं घंटों इंतजार करती रहीं और एक दूसरे के बाल खींचते नजर आईं. वीडियो में महिला पुलिसकर्मी उन्हें अलग करती नजर आईं. सोशल मीडिया पर महिलाओं के कई समूहों साड़ी को आग लगाते नजर आए. वहीं, सरकार इस पूरे विवाद के लिए विपक्षी पार्टी कांग्रेस को जिम्मेदार ठहरा रही है.

VIDEO : वाराणसी : एक रुपये की साड़ी के लिए मचा बवाल

सरकार की योजना 222 करोड़ रुपये में एक करोड़ महिलाओं को साड़ी बांटने की है. तेलंगाना में करीब डेढ़ साल चुनाव होने हैं. सरकार की इस कवायद को उसी से जोड़कर देखा जा रहा है.  



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement