जेल में विशेष सुविधाएं दिए जाने की मेरी रिपोर्ट की एसएचआरसी रिपोर्ट ने पुष्टि की : पूर्व डीआईजी रूपा

रूपा ने अपनी रिपोर्ट से सियासी गलियारे में हलचल पैदा कर दी थी. उन्होंने इसमें आरोप लगाया था कि अन्नाद्रमुक नेता वीके शशिकला को जेल में विशेष सुविधा दी जा रही है.

जेल में विशेष सुविधाएं दिए जाने की मेरी रिपोर्ट की एसएचआरसी रिपोर्ट ने पुष्टि की : पूर्व डीआईजी रूपा

कर्नाटक में पूर्व डीआईजी डी रूपा (फाइल फोटो)

बेंगलुरु:

कर्नाटक में पूर्व डीआईजी डी रूपा ने सोमवार को कहा कि बेंगलुरु के पारप्पना अग्रहारा केंद्रीय कारागार में जेल अधिकारियों द्वारा प्रभावशाली कैदियों को विशेष सुविधाएं दिए जाने और कुछ कैदियों को प्रताड़ित किए जाने के विषय पर राज्य मानवाधिकार आयोग (एसएचआरसी) की रिपोर्ट उनकी आंतरिक जांच रिपोर्ट की पुष्टि करती है. गौरतलब है कि रूपा ने अपनी रिपोर्ट से सियासी गलियारे में हलचल पैदा कर दी थी. उन्होंने इसमें आरोप लगाया था कि अन्नाद्रमुक नेता वीके शशिकला को जेल में विशेष सुविधा दी जा रही है. ये भी आरोप थे कि जेल में विशेष सुविधाओं के लिए शशिकला रिश्वत के तौर पर दो करोड़ रुपया दिया है. रूपा ने कहा कि आयोग की रिपोर्ट मेरी बात की पुष्टि करती है जिसे मैंने अपने वरिष्ठ अधिकारियों को सौंपा था.

उन्होंने बताया, ‘‘आयोग की रिपोर्ट में कहा गया है कि कुछ जेल अधिकारियों ने राजनीतिक पहुंच रखने वाले कैदियों को विशेष सुविधाएं दी जबकि जेल विभाग से मेरे तबादले के खिलाफ प्रदर्शन करने वाले कैदियों को प्रताड़ित किया गया.’’ पूर्व डीआईजी (कारागार) ने तत्कालीन डीजीपी (कारागार) सत्यनारायण राव को रिपोर्ट सौंपी थी. रूपा ने राव के खिलाफ आरोप भी लगाये थे.

रूपा ने कहा, ‘‘15 जुलाई को मैं अपनी ड्यूटी पर जेल गयी थी. कुछ कैदियों ने कुछ वरिष्ठ अधिकारियों के खिलाफ शिकायत के साथ आवाज उठाई. जब मैं वहां से चली आई, तब मुझे पता चला कि उन्हें बेरहमी से पीटा गया. वहीं, 16 जुलाई को करीब 32 कैदियों (जो मुखर थे) को अन्य जेलों में भेज दिया गया, जबकि इस बारे में मुझे सूचना नहीं दी गई.’’

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO: जेल में शशिकला को VVIP ट्रीटमेंट को लेकर विवादों के बीच दो वरिष्ठ अफसरों का तबादला

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)