तूतिकोरिन में हुई हिंसा पर बोले तमिलनाडु के सीएम, पुलिस ने अपने बचाव के लिए कदम उठाया

प्रदर्शनकारियों पर पुलिस की गोलीबारी का मामला अब तूल पकड़ता जा रहा है और चारों ओर से सरकार से यही सवाल पूछे जा रहे हैं कि आखिर पुलिस को फायरिंग के आदेश किसने दिये.

तूतिकोरिन में हुई हिंसा पर बोले तमिलनाडु के सीएम, पुलिस ने अपने बचाव के लिए कदम उठाया

तमिलनाडु के सीएम ईके पलानीस्वामी

नई दिल्ली:

तमिलनाडु के तूतीकोरिन में स्टरलाइट कॉपर यूनिट  के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान पुलिस की गोलीबारी में मरने वालों की संख्या 13 हो गई है. वहीं तमिलनाडु के मुख्यमंत्री ने ईके पलानास्वामी ने पुलिसकर्मियों का पक्ष लेते हुए कहा है कि इगर कोई किसी पर हमला करता है तो खुद को बचाने के लिए कोई कुछ भी करेगा. पुलिस ने जो कुछ भी किया वह बचाव में की गई कार्रवाई थी. तमिलनाडु के सीएम ने कहा कि जो तूतीकोरन में जो कुछ भी हुआ वह राजनीतिक दलों, एनजीओ, कुछ आसमाजिक तत्वों की वजह से हुआ है जो विरोध को गलत रास्ते पर लेकर गए. 
 


तमिलनाडु के तूतीकोरिन हिंसा का मामला पहुंचा दिल्ली हाईकोर्ट, शुक्रवार को सुनवाई

गौरतलब है कि प्रदर्शनकारियों पर पुलिस की गोलीबारी का मामला अब तूल पकड़ता जा रहा है और चारों ओर से सरकार से यही सवाल पूछे जा रहे हैं कि आखिर पुलिस को फायरिंग के आदेश किसने दिये. 22 मई को हुई गोलीबारी में न सिर्फ मरने वालों की संख्या बढ़ी है, बल्कि करीब 70 लोग अभी भी गायल बताए जा रहे हैं, जिनका इलाज चल रहा है. हालांकि, घटना की संवेदनशीलता को देखते हुए भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती कर दी गई है. 

वीडियो : प्रदूषण बोर्ड ने तूतिकोरिन प्लांट बंद करने का आदेश दिया

वहीं तमिलनाडु में विपक्ष डीएमके ने तुतकोरिन की घटना को पंजाब के जलियांवाला बाग हत्याकांड से तुलना की है, जो ब्रिटिश हुकूमत के समय आज से करीब सौ साल पहले हुआ था, जिसमें निहत्थे लोगों पर अंग्रेजों ने गोलियां चलाई थी. 
 

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com