NDTV Khabar

तमिलनाडु के मंत्री का खुलासा, शशिकला के डर से जयललिता की सेहत के बारे में झूठ बोला गया

तमिलनाडु के वरिष्ठ मंत्री और अन्नाद्रमुक नेता डिंडीगुल श्रीनिवासन ने दावा किया है कि शशिकला के डर से पार्टी नेताओं ने पिछले साल जयललिता के स्वास्थ्य के बारे में झूठ बोला.

3 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
तमिलनाडु के मंत्री का खुलासा, शशिकला के डर से जयललिता की सेहत के बारे में झूठ बोला गया

5 दिसंबर को जयललिता की मौत दिल का दौरा पड़ने से हो गई थी.

खास बातें

  1. मंत्री ने कहा, पार्टी नेताओं ने जयललिता के स्वास्थ्य के बारे में झूठ बोला
  2. ऐसा इसलिए हुआ ताकि लोगों में विश्वास रहे की उनकी हालत सुधर रही
  3. श्रीनिवासन ने एक जनसभा में झूठ के लिए जनता से मांगी माफी
मदुरै/कोडागु (कर्नाटक): तमिलनाडु के वरिष्ठ मंत्री और अन्नाद्रमुक नेता डिंडीगुल श्रीनिवासन ने दावा किया है कि शशिकला के डर से पार्टी नेताओं ने पिछले साल जयललिता के स्वास्थ्य के बारे में झूठ बोला. उन्होंने कहा कि ऐसा इसलिए किया गया ताकि लोगों को यह विश्वास रहे कि उनकी हालत सुधर रही है. उन्होंने कहा कि किसी को भी दिवंगत मुख्यमंत्री से मिलने की अनुमति नहीं दी गई. जो भी वहां आते शशिकला के रिश्तेदार उन्हें यह बताते कि वह (जयललिता) 'ठीक' हैं.

यह भी पढ़ें : मंत्री ने वीडियो जारी किया जिसमें जयललिता शशिकला की आलोचना कर रही हैं

श्रीनिवासन ने एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि वह जयललिता के स्वास्थ्य के बारे में झूठ बोलने के लिए अन्नाद्रमुक कार्यकर्ताओं और जनता से क्षमा मांगते हैं. दरकिनार किए गए अन्नाद्रमुक नेता टीटीवी दिनाकरण ने मंत्री के बयानों पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कर्नाटक के कोडागु में पत्रकारों से कहा कि उनके पास अस्पताल में जयललिता का इलाज किए जाने की फुटेज है और इसे 'उपयुक्त समय' पर सौंपेगे.

यह भी पढ़ें : AIADMK की बैठक में बड़ा फैसला, शशिकला को पार्टी महासचिव के पद से हटाया गया

​VIDEO:जेल में शशिकला को वीआईपी ट्रीटमेंट, तस्‍वीरें और वीडियो आए सामने

5 दिसंबर को हुई थी जयललिता की मौत
जयललिता को चेन्नई के अपोलो अस्पताल में 22 सितंबर 2016 को भर्ती कराया गया था.संक्रमण और अन्य बीमारियों के लंबे इलाज के बाद गत 5 दिसंबर को जयललिता की मौत दिल का दौरा पड़ने से हो गई थी. मुख्यमंत्री के पलानीस्वामी ने जयललिता की मौत की जांच के लिए एक आयोग की हाल में घोषणा की थी.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement