NDTV Khabar

महिला प्रोफेसर ने छात्रों को अधिकारियों के साथ दी थी 'संबंध' बनाने की सलाह, जांच समिति गठित

आरोपी लेक्चरर की इस कथित सलाह को यौन संबंध बनाने के इशारे के तौर पर देखा जा रहा है.

243 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
महिला प्रोफेसर ने छात्रों को अधिकारियों के साथ दी थी 'संबंध' बनाने की सलाह, जांच समिति गठित

पुलिस ने महिला लेक्चरर के आवास पर उन्हें गिरफ्तार कर लिया.

खास बातें

  1. महिला प्रोफेसर ने छात्रों को अधिकारियों के साथ 'संबंध' बनाने की सलाह दी
  2. आरोपी महिला प्रोफेसर को गिरफ्तार कर लिया गया
  3. राज्यपाल ने जांच समिति गठित की
चेन्नई: एक स्थानीय निजी कॉलेज की एक महिला लेक्चरर को इस आरोप में गिरफ्तार किया गया उन्होंने छात्रों को कथित सलाह दी वह ज्यादा अंक और पैसे की एवज में ‘‘विश्वविद्यालय के कुछ अधिकारियों के साथ तालमेल बिठाएं.’’  आरोपी लेक्चरर की इस कथित सलाह को यौन संबंध बनाने के इशारे के तौर पर देखा जा रहा है. तमिलनाडु के राज्यपाल एवं मदुरै कामराज यूनिवर्सिटी, जिससे यह कॉलेज संबद्ध है, के कुलाधिपति बनवारीलाल पुरोहित ने एक उच्चाधिकार प्राप्त जांच समिति का गठन किया ताकि लेक्चरर से जुड़ी ‘ कुछ अनैतिक ’ घटनाओं की छानबीन की जा सके.चेन्नई से करीब 500 किलोमीटर दूर विरुद्धनगर जिले के अरुप्पूकोट्टई के देवांग आर्ट कॉलेज की लेक्चरर ने कथित टिप्पणी करीब एक महीने पहले की थी, लेकिन उनके और कुछ छात्रों के बीच हुई कथित बातचीत का ऑडियो कल सोशल मीडिया में वायरल होने के बाद यह मामला सामने आया. ऑडियो में महिला लेक्चरर को यह कहते सुना जा रहा है कि ‘‘85 फीसदी अंक और पैसे ’’ हासिल करने के लिए लड़कियों को कुछ (शिक्षा) अधिकारियों से तालमेल बिठाना चाहिए. 

यह भी पढ़ें: सरकार को 25 राजमार्ग खंडों मुद्रीकरण से तीन अरब डॉलर जुटाने के प्रयास में

कॉलेज और महिलाओं के एक स्थानीय संगठन की ओर से शिकायत दर्ज कराए जाने के कुछ घंटों बाद पुलिस ने  विरूद्धनगर जिले में महिला लेक्चरर के आवास पर उन्हें गिरफ्तार कर लिया. पुलिस ने बताया कि उन पर आईपीसी की धारा 370 एवं 511 और सूचना प्रौद्योगिकी कानून की धाराओं के तहत केस दर्ज किया गया है. महिला लेक्चरर की गिरफ्तारी के वक्त काफी ड्रामा हु , क्योंकि उन्होंने खुद को घर में बंद कर लिया और फिर करीब 50 सदस्यों वाली पुलिस टीम को पीछे के दरवाजे तोड़कर उन्हें हिरासत में लेना पड़ा. राज्यपाल ने चेन्नई में एक बयान में कहा कि सेवानिवृत आईएएस अधिकारी आर संतानम जांच करेंगे और यूनिवर्सिटी की एक रिपोर्ट के आधार पर फैसला किया गया. पुरोहित ने कहा कि यूनिवर्सिटी के कुलाधिपति की हैसियत से उन्होंने यह फैसला किया. इससे पहले महिला लेक्चरर की कथित टिप्पणी पर विवाद पैदा होने के बाद तमिलनाडु सरकार और विपक्षी पार्टियों ने उन पर निशाना साधा. 

यह भी पढ़ें: PM मोदी के खिलाफ गीत गाने को लेकर तमिल गायक कोवन गिरफ्तार

मत्स्यपालन मंत्री डी जयकुमार ने चेन्नई में पत्रकारों से कहा कि सरकार आरोपी लेक्चरर के खिलाफ कार्रवाई करेगी. कॉलेज प्रबंधन ने पिछले महीने ही लेक्चरर को जांच पूरी होने तक निलंबित कर दिया था। कुछ छात्रों की ओर से उनके खिलाफ की गई शिकायत के बाद उन्हें निलंबित किया गया था. बहरहाल , आरोपी लेक्चरर ने अपनी कथित सलाह में यौन संबंधों का पहलू होने से इनकार किया और दावा किया कि उन्होंने बगैर किसी गलत मंशा के टिप्पणी की थी. कॉलेज के सचिव रामासामी ने कहा कि कॉलेज के तीन प्रोफेसरों ने पहले दौर की जांच पूरी कर ली है और उन्होंने अपनी रिपोर्ट सौंप दी गई है, जिसके आधार पर आरोपी लेक्चरर को निलंबित किया था. आरोपी से कहा गया है कि वह छात्रों को दी गई सलाह के बाबत स्पष्टीकरण दे. 

टिप्पणियां
यह भी पढ़ें: स्टरलाइट मामले को लेकर रजनीकांत ने अन्नाद्रमुक सरकार को घेरा

द्रमुक के कार्यकारी अध्यक्ष एम के स्टालिन ने इस मामले में सीबीआई जांच की मांग की है.पीएमके नेता एवं लोकसभा सांसद अंबुमणि रामदॉस ने भी मामले की सीबीआई जांच कराने की मांग की.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement