NDTV Khabar

येदियुरप्पा के करीबी बोपैया अस्थायी अध्यक्ष नियुक्त, कर्नाटक विधानसभा में कराएंगे शक्ति परीक्षण

कर्नाटक के राज्यपाल वजुभाई वाला ने शुक्रवार को के. जी. बोपैया को कर्नाटक विधानसभा का अस्थायी अध्यक्ष (प्रो-टेम स्पीकर) नियुक्त किया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
येदियुरप्पा के करीबी बोपैया अस्थायी अध्यक्ष नियुक्त, कर्नाटक विधानसभा में कराएंगे शक्ति परीक्षण

फाइल फोटो

खास बातें

  1. येदियुरप्पा के करीबी बोपैया अस्थायी अध्यक्ष नियुक्त
  2. कर्नाटक विधानसभा में कराएंगे शक्ति परीक्षण
  3. कांग्रेस ने राज्यपाल के इस कदम की निंदा की है
बेंगलुरु:

कर्नाटक के राज्यपाल वजुभाई वाला ने शुक्रवार को के. जी. बोपैया को कर्नाटक विधानसभा का अस्थायी अध्यक्ष (प्रो-टेम स्पीकर) नियुक्त किया. वह शनिवार को नवनिर्वाचित विधायकों को शपथ दिलाएंगे और उच्चतम न्यायालय के आदेश के अनुसार सदन में शक्ति परीक्षण कराएंगे. वहीं, कांग्रेस ने राज्यपाल के इस कदम की निंदा की है. बोपैया आरएसएस से जुड़े रहे हैं. उन्हें राज्यपाल ने अस्थायी अध्यक्ष के तौर पर शपथ दिलाई. बोपैया 2009 से 2013 के बीच विधानसभा के स्पीकर रहे थे. वह मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा के करीबी माने जाते हैं. 

कोर्ट का आदेश आते ही हैदराबाद से उल्टे पांव लौटे कांग्रेस-जेडीएस के विधायक

टिप्पणियां

उन्होंने 2011 में पिछली येदियुरप्पा सरकार की मदद के लिए विश्वासमत से पहले भाजपा के 11 असंतुष्ट विधायकों और पांच निर्दलीय विधायकों को अयोग्य घोषित कर दिया था. उनके फैसले को कर्नाटक उच्च न्यायालय ने कायम रखा था लेकिन उच्चतम न्यायालय ने पलट दिया. शीर्ष न्यायालय ने कहा था कि बोपैया ने हड़बड़ी दिखाई. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिनेश गुंडु राव ने बोपैया की नियुक्ति पर तीखी प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए कहा कि राज्यपाल का फैसला स्तब्ध करने वाला है. उन्होंने कहा, परंपरा यह रही है कि सदन के सबसे वरिष्ठ सदस्य को अस्थायी अध्यक्ष बनाया जाता है. इस मामले में आरवी देशपांडे को बनाया जाना चाहिए था. 


VIDEO: कर्नाटक: केजी बोपौया होंगे प्रोटेम स्पीकर, कांग्रेस ने जताया विरोध
उन्होंने कहा, ‘‘वजुभाई वाला जी को भाजपा के एजेंट के तौर पर काम करते देख कर दुख हो रहा है.’’ सामान्य तौर पर विधानसभा के सबसे वरिष्ठ सदस्य को अस्थायी अध्यक्ष नियुक्त किया जाता है ताकि वह नवनिर्वाचित विधायकों को शपथ दिलाएं. गौरतलब है कि कांग्रेस के आरवी देशपांडे नयी विधानसभा में सबसे वरिष्ठ सदस्य हैं.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement