NDTV Khabar

विश्व खिताब जीतने के बाद पांच दिन बाद ही निको रोसबर्ग ने फॉर्मूला वन से संन्यास लिया

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
विश्व खिताब जीतने के बाद पांच दिन बाद ही निको रोसबर्ग ने फॉर्मूला वन से संन्यास लिया

निको रोसबर्ग

वियना:

निको रोसबर्ग ने मर्सीडीज के लिए विश्व खिताब जीतने के बाद पांच दिन बाद ही शुक्रवार को फॉर्मूला वन से संन्यास लेने की घोषणा करके मोटर रेसिंग जगत को स्तब्ध कर दिया. यह 31 वर्षीय जर्मन ड्राइवर एलेन प्रोस्ट (1993) के बाद पहले ऐसे खिलाड़ी हैं जिन्होंने मौजूदा चैंपियन रहते हुए संन्यास लिया.

उन्होंने फिनाले में अपनी टीम के साथी लुइस हैमिल्टन को हराकर खिताब जीता था. रोसबर्ग ने अंतर्राष्ट्रीय आटोमोबाइल महासंघ (एफआईए) के वाषिर्क पुरस्कार समारोह से पूर्व वियना में यह बड़ी घोषणा की. रविवार को अबुधाबी ग्रांप्री में हैमिल्टन के बाद दूसरे नंबर पर आकर विश्व चैंपियन बनने वाले रोसबर्ग ने कहा, "मैंने यहां अपना फार्मूला वन करियर समाप्त करने का फैसला किया है."

उन्होंने कहा कि चैंपियनशिप जीतने के बाद उन्होंने अपना यह फैसला किया. रोसबर्ग ने कहा, "सोमवार से ही इस पर विचार करना शुरू कर दिया था. मैंने इसमें थोड़ा समय लिया लेकिन आखिर नतीजे पर पहुंच गया. कहानी खत्म. अगला कदम एक पिता और पति की भूमिका निभाना है और मैं इसके लिए पूरी तरह से तैयार हूं."


टिप्पणियां

मर्सीडीज टीम के प्रमुख टोटो वोल्फ ने कहा, "टीम के लिहाज से यह अप्रत्याशित स्थिति है और रोमांचक भी. निको ने साहसिक फैसला किया और इससे उनके जज्बे का पता चलता है. उन्होंने अपने करियर के शिखर पर रहते हुए एक विश्व चैंपियन के रूप में अलविदा करने का फैसला किया. उन्होंने अपने बचपन का सपना पूरा करके संन्यास लिया." रोसबर्ग ने अब अपनी पत्नी और बचपन की मित्र विवियन सिबोल्ड के साथ समय बिताना चाहते हैं. उनकी एक बेटी आलिया है जिसका जन्म पिछले साल अगस्त में हुआ था.

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement