NDTV Khabar

टेनिस : मारिया शारापोवा को फ्रेंच ओपन में वाइल्ड कार्ड नहीं

महिला टेनिस खिलाड़ी मारिया शारापोवा को फ्रेंच ओपन के लिये वाइल्ड कार्ड नहीं दिया गया. वे इस साल टूर्नामेंट में खेलती दिखाई नहीं देंगी.

49 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
टेनिस : मारिया शारापोवा को फ्रेंच ओपन में वाइल्ड कार्ड नहीं

फ्रेंच टेनिस महासंघ ने वाइल्‍ड कार्ड के मारिया शारापोवा के अनुरोध को ठुकरा दिया (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. इस साल रोला गैरां में खेलती नहीं दिखेगी रूस की यह टेनिस स्‍टार
  2. रोम मास्‍टर्स के दूसरे दौर के मैच के दौरान रिटायर हुईं मारिया
  3. पुरुष वर्ग में टॉप सीडेड एंडी मरे को हार का सामना करना पड़ा
रोम: मारिया शारापोवा रोम मास्टर्स टेनिस टूर्नामेंट दूसरे दौर के मैच के दौरान चोट के कारण रिटायर हो गईं जबकि गत चैम्पियन एंडी मरे दूसरे दौर में फैबियो फोगनिनी से करारी शिकस्त झेलकर बाहर हो गए. दुनिया के नंबर एक मरे की रोम मास्टर्स में खिताब जीतने की उम्मीद टूट गई उन्हें स्थानीय प्रबल दावेदर से महज 90 मिनट में 2-6, 4-6 से पराजय मिली. उन्हें पहले दौर में बाई मिली थी। शारापोवा को कुछ घंटे पहले ही फ्रेंच ओपन के लिये वाइल्ड कार्ड नहीं दिया गया. उनकी बायीं जांघ में पट्टी बंधी हुई थी उन्हें क्रोएशिया की मिरजाना लुसिच-बारोनी के खिलाफ रिटायर होने के बाध्य होना पड़ा, तब वह 4-6, 6-3, 2-1 से बढ़त बनाए हुई थी.

दो बार की चैम्पियन शारापोवा इस साल रोलां गैरां में नहीं खेल पाएंगी क्योंकि फ्रेंच टेनिस महासंघ (एफएफटी) ने उन्हें वाइल्ड कार्ड देने से इनकार कर दिया. एफएफटी अध्यक्ष बर्नार्ड गिडीसेली ने कहा, ‘कोई भी रोलां गैरां पर जीते गए उनके दो खिताब से उन्हें महरूम नहीं कर सकता, लेकिन आज मैं उनकी वाइल्डकार्ड देने की मांग को नहीं मानूंगा.’ उन्होंने कहा, ‘उन्होंने यहां जो खिताब जीते थे, वो उन्होंने नियमों के अंतर्गत जीते थे.’ गिडीसेली ने कहा,‘जबकि वाइल्ड कार्ड उन खिलाड़ियों के लिये होते हैं जो चोट से वापसी करते हैं इसलिये डोपिंग प्रतिबंध के बाद वापसी करने के लिये ऐसा कुछ नहीं होता.’

गौरतलब है कि शारापोवा को मेलोडोनियम के इस्तेमाल के लिये दो साल के लिए प्रतिबंधित किया गया था, लेकिन खेल पंचाट ने इस प्रतिबंध को बाद में कम कर दिया था क्योंकि उन्होंने जानबूझकर डोपिंग नहीं की थी. यह प्रतिबंध 26 अप्रैल को खत्म हुआ, जिसके बाद शारापोवा स्टुटगार्ट ओपन में वापसी करते हुए सेमीफाइनल तक और मैड्रिड ओपन के अंतिम 32 में पहुंची थी. गिडीसेली ने कहा, ‘मुझे मारिया के लिए बहुत दुख है और उनके प्रशंसकों से माफी मांगता हूं. वे भले ही काफी निराश होंगे और वह भी शायद निराश होगी. लेकिन खेल के ऊंचे मानकों का सम्मान करना मेरी जिम्मेदारी और मेरा मिशन है कि खेल बिना किसी डोपिंग के खेला जाए. ’ शारापोवा ने कहा, ‘मैं चोट के कारण मैच से हटने के लिये माफी मांगती हूं. मैं सारी जांच कराऊंगी, उम्मीद करती हूं कि यह चोट गंभीर नहीं हो.’ रोम में हारने का मतलब है कि इस 30 वर्षीय खिलाड़ी ने विम्बलडन के मुख्य ड्रॉ के लिए क्वालीफाई करने का मौका भी गंवा दिया क्योंकि वह रोम में सेमीफाइनल में पहुंचने से वह ऐसा कर सकती थीं.

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement