NDTV Khabar

एशियाई खेल : स्क्वाश में भारत का ऐतिहासिक प्रदर्शन, निशानेबाजों ने जीता एक और कांस्य

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
एशियाई खेल : स्क्वाश में भारत का ऐतिहासिक प्रदर्शन, निशानेबाजों ने जीता एक और कांस्य

सौरभ घोषाल और दीपिका पल्लीकल

इंचियोन (दक्षिण कोरिया):

सौरव घोषाल और दीपिका पल्लिकल ने स्क्वाश कोर्ट पर आज इतिहास रचा, जबकि निशानेबाजों ने पदक जीतने का अभियान जारी रखा, जिससे भारत 17वें एशियाई खेलों के तीसरे दिन आज दो कांस्य पदक जीतकर अपने पदकों की संख्या छह पर पहुंचाने में सफल रहा।

घोषाल स्क्वाश के पुरुष एकल के फाइनल में पहुंचने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी बने और इस तरह से उन्होंने कम से कम रजत पदक पक्का किया। वहीं पल्लिकल सेमीफाइनल में दुनिया की नंबर एक खिलाड़ी निकोल डेविड से हार गईं, लेकिन वह एशियाड में कांस्य पदक जीतने वाली पहली महिला खिलाड़ी बन गई।

इसके अलावा वुशु में भी भारत ने कम से कम दो कांस्य पदक पक्के कर लिए हैं। थोडम सनातोई और नरेंदर ग्रेवाल ने अपनी अपनी स्पर्धाओं के सेमीफाइनल में जगह बनाकर ये पदक सुनिश्चित किए। सनातोई ने महिलाओं के सैंडा 52 किग्रा के क्वार्टर फाइनल में मंगोलिया की अमगलंगरागल को 2-0 से हराया। उनका अगला मुकाबला चीन की च्यांग लुआन से होगा। ग्रेवाल ने पुरुषों के सैंडा 60 किग्रा क्वार्टर फाइनल में पाकिस्तान के अब्दुल्लाह को 2-0 से हराकर सेमीफाइनल में जगह बनाई। उनका अगला मुकाबला फिलीपीन्स के जीन क्लाउड सासलैग से होगा।

इसके अलावा निशानेबाजी रेंज में भी भारतीय दल ने पदक बटोरने का क्रम जारी रखा। महिलाओं की पिस्टल टीम राही सरनोबत, अनिसा सय्यद और हीना सिद्धू ने 25 मीटर की टीम स्पर्धा में कांस्य पदक हासिल किया।

महिला पिस्टल टीम तथा घोषाल और पल्लिकल ने जहां अच्छा प्रदर्शन किया, वहीं अन्य खेलों में भारतीयों का प्रदर्शन निराशाजनक रहा। पुरुष फुटबाल टीम और टेनिस टीम अपनी प्रतियोगिताओं से बाहर हो गई।

टिप्पणियां


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement