NDTV Khabar

राजस्थान में WBO ओरिएंटल खिताब बचाने उतरेंगे विजेंदर सिंह  

सवाई मानसिंह इंडोर स्टेडियम में 23 दिसंबर को आयोजित होने वाले इस मुकाबले में विजेंदर अफ्रीकी चैंपियन एर्नेस्ट अमुजु के खिलाफ अपने डब्ल्यूबीओ ओरिएंटल और एशिया पेसेफिक मिडलवेट खिताब को बचाने के लिए रिंग में उतरेंगे.

141 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
राजस्थान में WBO ओरिएंटल खिताब बचाने उतरेंगे विजेंदर सिंह  

भारतीय बॉक्सर विजेंदर सिंह.

नई दिल्ली: दिग्गज भारतीय पेशेवर मुक्केबाज विजेंदर सिंह जयपुर में होने वाली 'राजस्थान रुम्ब्ले' में अपना खिताब बचाने उतरेंगे. सवाई मानसिंह इंडोर स्टेडियम में 23 दिसंबर को आयोजित होने वाले इस मुकाबले में विजेंदर अफ्रीकी चैंपियन एर्नेस्ट अमुजु के खिलाफ अपने डब्ल्यूबीओ ओरिएंटल और एशिया पेसेफिक मिडलवेट खिताब को बचाने के लिए रिंग में उतरेंगे.

यह भी पढ़ें : प्रो बॉक्सिंग में विजेंदर सिंह की जीत का सिलसिला जारी, चीन के बॉक्‍सर को भी किया चित

डब्ल्यूबीओ रैंकिंग में नौवें स्थान पर काबिज हरियाणा के 32 वर्षीय मुक्केबाज विजेंदर जयपुर में अमुजु से अपने इस खिताब को बचाए रखने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं. गौरतलब है कि इस साल मुंबई में चीन के दिग्गज शीर्ष स्तरीय मुक्केबाज जुल्पिकर मेमेताली को मात देकर विजेंदर ने डब्ल्यूबीओ ओरिएंटल सुपर मिडलवेट खिताब जीता था और सफल रूप से अपना डब्ल्यूबीओ एशिया पेसेफिक खिताब बचाया था। 

यह भी पढ़ें : जानें जीत के बाद विजेंदर ने क्यों कहा, 'मैं यह बेल्ट जुल्फिकार को वापस देना चाहता हूं'

राजस्थान में होने वाली इस भिड़ंत के बारे में विजेंदर ने कहा, मैं जयपुर में अपनी 10वीं बाउट के लिए पूरी तरह से तैयार और उत्साहित हूं. मैं पिछले दो माह से रिंग में कड़ा प्रशिक्षण ले रहा हूं और अब भी मेरी अगली भिड़ंत में तीन सप्ताह का समय है. मुझे इस खिताब को जीतने का इंतजार है. विजेंदर ने कहा,  मैं आश्वस्त हूं कि जयपुर के लोगों के लिए यह भिड़ंत रोमांचक होगी. मुझे आशा है कि इस खेल को पसंद करने वाले बड़ी संख्या में स्टेडियम पहुंचेंगे और मेरा समर्थन करेंगे.

टिप्पणियां
VIDEO :  विजेंद्र सिंह से खास बातचीत


अमुजु ने कहा, मैं जानता हूं कि विजेंदर एक अच्छे मुक्केबाज हैं और अब तक अपने पेशेवर करियर में अविजित हैं, लेकिन 23 दिसंबर को होने वाले मैच में मैं उन्हें बड़ी टक्कर देने वाला हूं. मैं आश्वस्त हूं कि विजेंदर अपने दोनों खिताब मुझसे हार जाएंगे और वह भी अपने देश के लोगों के सामने. उन्होंने अब तक मेरे जैसे प्रतिद्वंद्वी का सामना नहीं किया होगा.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement