NDTV Khabar

NDTV Exclusive: कोच विमल कुमार बोले, भारतीय बैडमिंटन एकजुट, दरार जैसी बात कहीं नहीं है

वर्ल्ड बैडमिंटन चैंपियनशिप ख़त्म होने के बाद से चैंपियन खिलाड़ी और कोच के स्वागत का सिलसिला बरक़रार है. खेल मंत्री विजय गोयल ने बैडमिंटन की टीम को दिल्ली बुलाकर सम्मानित करने का फ़ैसला किया. साइना नेहवाल के कोच विमल कुमार ने NDTV से ख़ास बात करते हुए कहा कि भारतीय बैडमिंटन की एका की तस्वीरें अब मीडिया में ज़रूर आई हैं लेकिन जो दरार मीडिया में दिखाई गई है वैसी कभी थी ही नहीं:

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
NDTV Exclusive: कोच विमल कुमार बोले, भारतीय बैडमिंटन एकजुट, दरार जैसी बात कहीं नहीं है

विमल कुमार से कोचिंग लेने वाली साइना नेहवाल ने कांस्‍य पदक हासिल किया

नई दिल्‍ली: वर्ल्ड बैडमिंटन चैंपियनशिप ख़त्म होने के बाद से चैंपियन खिलाड़ी और कोच के स्वागत का सिलसिला बरक़रार है. खेल मंत्री विजय गोयल ने बैडमिंटन की टीम को दिल्ली बुलाकर सम्मानित करने का फ़ैसला किया. खेल मंत्री ने हमेशा की तरह याद दिलाया कि खेल और खिलाड़ियों के लिए काफ़ी कुछ किया जा रहा है. खिलाड़ियों और दोनों ही कोच विमल कुमार और गोपीचंद ने भरोसा दिलाया कि अगर सब कुछ ठीक चलता रहा तो आने वाले दिनों में बैडमिंटन के कई और खिलाड़ी बुलंदियों पर दिखाई देंगे. साइना नेहवाल के कोच विमल कुमार ने NDTV से ख़ास बात करते हुए कहा कि भारतीय बैडमिंटन की एका की तस्वीरें अब मीडिया में ज़रूर आई हैं लेकिन जो दरार मीडिया में दिखाई गई है वैसी कभी थी ही नहीं:

सवाल: खिलाड़ी और कई जानकार इसे भारतीय बैडमिंटन का 'गोल्डन टाइम' कह रहे हैं. निजी तौर पर क्या इसे आप अपने कोचिंग करियर का भी बेहतरीन वक्त कह सकते हैं?
विमल कुमार: एक साथ कई भारतीय खिलाड़ी अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं. साइना, सिंधु, साई प्रणीत, प्रणॉय और श्रीकांत सबने हाल में अच्छा प्रदर्शन किया है. यही नहीं जूनियर स्तर पर भी वर्ल्ड नंबर 1 खिलाड़ी- लक्ष्य सेन (अल्मोड़ा के 16 साल के खिलाड़ी)..भारतीय हैं. कई भारतीय खिलाड़ी अच्छा कर रहे हैं. मेरे लिए भी ज़रूर ये बड़ी कामयाबी है.

यह भी पढ़ें :साइना बोलीं, फिटनेस ठीक रही तो फिर से बन सकती हूं वर्ल्‍ड नंबर वन

सवाल: वहां से कई तस्वीरें आईं जिसमें आप, गोपीचंद, साइना और सिंधु शायद पहली बार इस तरह एक साथ दिखाई दिये.. ये जो यूनिटी दिखाई दे रही है, क्या इससे भारतीय बैडमिंटन के आगे बढ़ने में कितनी मदद मिलेगी?
विमल कुमार: देखिए, ये समझना होगा कि बैडमिंटन एक टीम गेम नहीं, इंडिविज़ुअल गेम है. हम इसे इस तरह से नहीं देख सकते जैसा कि क्रिकेट या हॉकी में देखते हैं. बैडमिंटन या टेनिस जैसे खेल में खिलाड़ी निजी तौर पर आगे बढ़ने के लिए अगल राय, अलग तरीके ढूंढते रहते हैं. मुझे लगता है भारतीय लोग बहुत भावुक होते हैं और उनके सामने मीडिया ने इसे लेकर एक अलग तरह की तस्वीर पेश की है. इसलिए आपस में हमारे संबंध अच्छे रहे हैं. आपस में दरार की जैसी बात कही जा रही है, वैसी कोई बात नहीं है.

सवाल: इस बार दो कोच और दो खिलाड़ी एक साथ वर्ल्ड चैंपियनशिप के पोडियम पर रंग जमाते दिखे. क्या दूसरे बैडमिंटन के पावरहाउस भारतीय खिलाड़ियों से खौफ़ खाते हैं या इन पर ख़ास नज़र रखते हैं?
विमल कुमार: बिल्कुल. 5-6 साल पहले से दुनिया के बड़े देश इन्हें अलग तरीके से देखते हैं. पहले डबल्स में ज्वाला-दिजु ने खूब नाम कमाया.  शायद डबल्स में हमें अपना बेस और बढ़ाने की ज़रूरत है. लेकिन सिंगल्स में हमारी पहचान अलग ज़रूर बनी है.

सवाल: आपका या भारतीय टीम का अगला बड़ा लक्ष्य क्या है?
विमल कुमार: मैं ज़रूर चाहूंगा कि भारतीय खिलाड़ी थॉमस और उबर कप जीतें. ऐसा हो सका तो भारतीय बैडमिंटन अलग मुकाम पर दिखाई देगा. अगले साल थाईलैंड में होने वाले थॉमस और उबेर कप में भारतीय जीत हासिल करने की कोशिश कर सकते हैं. 2020 टोक्यो ओलिंपिक्स इसके बाद बड़ा टारगेट होगा. खिलाड़ी वर्ल्ड नंबर 1 बन सकते हैं, वर्ल्ड चैंपियनशिप में हम पदक जीत रहे हैं लेकिन थॉमस और उबर कप की जीत बहुत बड़ी जीत हो सकती है.

सवाल: भारतीय खेलप्रेमी आने वाले दिनों में किन खिलाड़ियों से उम्मीद रख सकते हैं?
विमल कुमार: कई खिलाड़ी हैं. सिंधु, सायना और श्रीकांत को मैं सबसे आगे रखूंगा. और भी कई खिलाड़ी हैं जैसे एचएस प्रणॉय और साई प्रणीत जैसे खिलाड़ी भी अच्छा कर रहे हैं. अपने दिन ये किसी भी बड़े खिलाड़ी को मात दे सकते हैं. लेकिन इन सबको थोड़ा और बेहतर करने की ज़रूरत है.

वीडियो : किदांबी श्रीकांत बोले, रैंकिंग पर नहीं रहता फोकस

टिप्पणियां

सवाल: साइना से आप क्या उम्मीद रखते हैं?
विमल कुमार: साइना को अपनी हेल्थ और फ़िटनेस पर काफ़ी काम करने की ज़रूरत है. अगर वो खुद को शारीरिक तौर पर खुद को दुरुस्त रख पाती हैं तो बाक़ी चीज़ें अपने-आप अच्छी हो जाएंगी. वो अच्छा मूव कर रही हैं, अच्छा खेल रही हैं..लेकिन मुझे लगता है उन्हें इस लिहाज़ से मेहनत करनी होगी और वो और अच्छा करेंगी.       


 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement