NDTV Khabar

CWG 2018: आखिरी 40 सेकेंड में भारत ने हॉकी में इंग्लैंड से जीत छीनी

भारत ने बुधवार को इंग्लैंड के खिलाफ पूल बी के आखिरी लीग मैच में यह दिखा दिया यह हॉकी टीम अंतिम पलों में गोल खाती ही नहीं, बल्कि उसे गोल करना भी आता है

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
CWG 2018: आखिरी 40 सेकेंड में भारत ने हॉकी में इंग्लैंड से जीत छीनी

मैच जीतने के बाद दर्शकों का अभिवादन स्वीकारती भारतीय टीम

खास बातें

  1. आखिरी तीन मिनट पहले तक दिख रही थी हार
  2. वरुण ने गोल कर मैच किया बराबर और..
  3. ..मनदीप सिंह ने मैदानी गोल दाग दिला दी जीत
गोल्ड कोस्ट: न्यूजीलैंड के खिलाफ 21वें कॉमनवेल्थ खेलों में पुरुष हॉकी में खेले जाने वाले सेमीफाइनल मुकाबले से पहले भारत ने बुधवार को इंग्लैंड के खिलाफ पूल बी के आखिरी लीग मैच में यह दिखा दिया यह हॉकी टीम अंतिम पलों में गोल खाती ही नहीं, बल्कि उसे गोल करना भी आता है. अभी कुछ दिन पहले ही भारत आखिरी 8 सेकेंड में पाकिस्तान के खिलाफ ड्रॉ खेलने पर मजबूर हुआ था, लेकिन इंग्लैंड के खिलाफ भारतीय टीम ने आखिरी 40 सेकेंड में दिख रहे ड्रॉ को जीत में तब्दील कर ग्रुप में टॉप पर रहने के साथ ही सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड से भिड़ने का अधिकार हासिल कर लिया.  वैसे एक समय में भारत हारता दिखाई पड़ रहा था. कारण यह था कि खेल के 57वें मिनट तक इंग्लिश टीम 3-2 से आगे थी. लेकिन आखिरी दो मिनट में पहले वरुण और मंदीप सिंह द्वारा किए गए दो गोलों के दम पर भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने इंग्लैंड के मुंह से जीत छीनते हुए उसे करीबी मुकाबले में 4-3 से चुभने वाली शिकस्त दी.
  भारत पहले ही सेमीफाइनल में प्रवेश कर चुका था. भारत ने पूल-ए में टॉप किया है. ऐसे में सेमीफाइनल में उसका सामना न्यूजीलैंड से होगा, जबकि इंग्लैंड दूसरे सेमीफाइनल में ऑस्ट्रेलिया से भिड़ेगा. दोनों टीमों ने एक-दूसरे को कड़ी टक्कर दी. पहले क्वार्टर के छठे मिनट में ही गोलकीपर पी.आर. श्रीजेश ने शानदार प्रदर्शन करते हुए इंग्लैंड की ओर से गोल की कोशिश को नाकाम कर दिया. 

यह भी पढ़ें: CWG 2018: इस स्कोर के साथ श्रेयसी सिंह ने जीता गोल्ड, वर्षा रमन एक प्वाइंट से कांस्य से चूकीं इसके बाद, 13वें मिनट में भी इंग्लैंड का आक्रामक खेल भारत के डिफेंस के आगे थोड़ा कमजोर नजर आया और पहला क्वार्टर गोल रहित रहा. दूसरे क्वार्टर की शुरुआत के अगले मिनट में आकाशदीप सिंह के पास गोल करने का सुनहरा मौका था, लेकिन वह इसे भुना नहीं पाए. इंग्लैंड ने 17वें मिनट में अवसर का पूरा फायदा उठाते हुए गोल कर बढ़त हासिल की. डेविड कोनडोन ने मार्क ग्लेनहोर्ने की ओर से मिले पास को भारत के नेट तक पहुंचाया और टीम 1-0 की बढ़त दी. अगले ही मिनट में इंग्लैंड को पेनल्टी कॉर्नर मिला, लेकिन श्रीजेश ने इसे सफल नहीं होने दिया.
  तीसरे क्वार्टर में कप्तान मनप्रीत ने भारत को खेल में वापसी दिलाई. 33वें मिनट में मनप्रीत ने मंदीप से मिले पास को इंग्लैंड के नेट पर पहुंचाया और 1-1 से बराबरी करवाई. चौथे क्वार्टर में मैच दोनों टीमों के बीच रोमांचक रहा. काफी संघर्ष के बाद भारत को 51वें मिनट में पेनल्टी कॉर्नर हासिल हुआ, जिसे रुपिंदर पाल सिंह ने भुनाते हुए रुपिंदर पाल सिंह ने गोल किया और टीम को 2-1 की बढ़त दे दी. भारतीय खिलाड़ी अपनी जीत को लगभग पक्का ही समझ चुके थे और इंग्लैंड के खिलाड़ियों को गुमराह करने की कोशिश कर रहे थे, लेकिन अगले ही मिनट में इंग्लैंड को भी पेनल्टी कॉर्नर मिले और उसने भी इसे खाली नहीं जाने दिया.
  इंग्लैंड के लिए लियाम एंसेल ने पेनाल्टी कॉर्नर पर मिले अवसर को गोल में तब्दील किया और स्कोर 2-2 से बराबर कर लिया. भारत के लिए 53वें मिनट में ललित उपाध्याय एक बार फिर गोल के अवसर में असफल रहे. अंतिम क्वार्टर के दौरान 56वें मिनट में इंग्लैंड ने एक बार फिर पेनल्टी कॉर्नर हासिल किया और सैम वार्ड ने गोल कर अपनी टीम को 3-2 से बढ़त दे दी.हार के डर से जूझ रही भारतीय टीम को पेनल्टी कॉर्नर ने बराबरी पर लाकर खड़ा किया। 58वें मिनट में इसी पेनाल्टी कॉर्नर को भुनाकर वरुण ने गोल किया और स्कोर 3-3 से बराबर कर लिया.

VIDEO: भारतीय हॉकी टीम के कप्तान मनप्रीत सिंह ने खेलों से पहले एनडीटीवी से बात की थी.
मैच के आखिरी मतलब 59वें मिनट के 21वें सेकेंड  में मंदीप ने शानदार फील्ड गोल करते हुए भारत को 4-3 से जीत दिला दी.
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement