NDTV Khabar

CWG 2018 Opening Ceremony: खेलों का रंगारंग आगाज, भारतीय दल को मिलीं जमकर तालियां

बुधवार को ओपनिंग सेरेमनी के बहुत ही शानदार आयोजन के साथ ही 21वें राष्ट्र मण्डल खेलों का आगाज हो गया है. समारोह में स्थानीय कलाकारों ने अपनी प्रस्तुति से सभी का मन मोह लिया

48 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
CWG 2018 Opening Ceremony: खेलों का रंगारंग आगाज, भारतीय दल को मिलीं जमकर तालियां

कॉमनवेल्थ खेलों के उद्घाटन समारोह के दौरान की तस्वीरें

खास बातें

  1. रंगारंग कार्यक्रम की भव्य शुरुआत
  2. ओपनिंग सेरेमनी की शुरुआत ने ही बांधा समा
  3. अभी तक के सर्वश्रेष्ठ उदघाटन समारोह का दावा
नई दिल्ली: बुधवार को ऑस्ट्रेलिया के क्ववींसलैंड के गोल्ड कोस्ट में आयोजित ओपनिंग सेरेमनी के आखिरी दौर में प्रिंस चार्ल्स के आधिकारिक रूप से ऐलान के साथ ही 21वें कॉमनवेल्थ गेम्स का ऑफिशियली आगाज हो गया है. खेल प्रतिस्पर्धाओं की शुरुआत वीरवार से होगी जिसमें भारत भी स्वर्ण पदक के लिए जोर-आजमाइश करेगा.चॉर्ल्स के ऐलान से पहले ओपनिंग सेरेमनी का भव्य आगाज हुआ और स्थानीय कलाकारों की बेहतरीन प्रस्तुति ने शुरुआत से लेकर समारोह के समापन तक ऐसा भव्य समां बांधा कि दुनिया भर के खेलप्रेमी वाह-वाह कर उठे.
  कार्यक्रम की शुरुआत में मंच पर प्रिंस ऑफ वेल्स सहित कॉमनवेल्थ खेलों के चेयरमैन स्कॉटलैंड के लुईस मार्टिन के अलावा गोल्‍ड कोस्‍ट कॉमनवेल्‍थ आयोजन समिति के पीटर बैटी और ऑस्‍ट्रेलिया के प्रधानमंत्री मैल्‍कम टर्नबुल भी इस अवसर पर मौजूद थे.
विभिन्‍न द्वीपों और क्षेत्रों का लंबा सफर तय करने के बाद क्‍वींस बैटन जैसे ही स्‍टेडियम में पहुंचा, तो उपस्थित जनसमूह ने करतल ध्‍वनि के साथ उसका स्‍वागत किया. बाद में परेड ऑफ नेशंस खत्म होने के बाद ऑस्ट्रेलियाई गायक और गीतकार कैटी नूनन ने अपनी आवाज से दर्शकों को मंत्रमुग्ध करके रख दिया. बता दें कि खेलों में 71 कॉमनवेल्थ देश हिस्सा ले रहे हैं, जिनमें 19 खेलों के तहत 275 स्पर्धाओं का आयोजन किया जाएगा. ये खेल बुधवार से शुरू होकर 15 अप्रैल तक चलेंगे. भारत का 218 सदस्यीय दल भी 15 प्रतिस्पर्धाओं में हिस्सा लेगा. उद्घाटन समारोह शुरू होने से कुछ घंटे पहले भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर भारतीय खिलाड़ियों को शुभकामनाएं दीं. समारोह के दौरान कैमरे ने सबसे पहला फोकस सबसे पहले गोल्‍ड कोस्‍ट के सूर्यास्‍त पर किया. ऐसा लगा मानो लालिमायुक्‍त सूर्य अस्‍त होते हुए कॉमनवेल्‍थ गेम्‍स के शुभारंभ के लिए रंगारंग आतिशबाजी और आकर्षक कार्यक्रमों की शुरुआत के लिए संकेत कर रहा है. समारोह की शुरुआत में ही साईबाई आईलैंड ईगल डांस ने समां बांध दिया. इस नृत्‍य में ऑस्‍ट्रेलिया के मूल निवासियों के परंपरागत लोकनृत्‍य की झलक मिली. आदिवासी वेशभूषा में सजे डांसर्स को के इस परफारमेंस पर अनाउंसर ने कहा कि सुनहरा अतीत हमारे साथ-साथ चल रहा है.
 
भारतीय दल की बात करें, तो बैटमिंटन स्टार पीवी सिंधु ने 'परेड ऑफ दे नेशन' में भारतीय दल की ध्वजवाहक की भूमिका निभाई. सभी खिलाड़ी ब्लेजर और ट्राउजर में दिखाई पड़े. थोड़ा चौंकाने वाली बात यह देखने को मिली कि इस बार एक भी भारतीय महिला खिलाड़ी पारंपरिक ड्रैस साड़ी में नजर नहीं आई. एनाउंसर द्वारा भारतीय दल का नाम लेते ही पूरा स्टेडियम तालियों और शोर से गूंज उठा. दर्शकों ने बहुत ही जोश के साथ भारतीय दल का स्वागत किया. जवाब में भारतीय खिलाड़ियों ने भी हाथ हिलाकर इन दर्शकों का अभिवादन किया. सभी खिलाड़ी परेड में हिस्सा लेते हुए बहुत ही गौरवान्वित और उत्साहित थे. ज्यादातर भारतीय खिलाड़ी परेड के दौरान मोबाइल से सेल्फी लेते और इस ऐतिहासिक लम्हों को अपने कैमरे में रिकॉर्ड करते दिखाई पड़े.
बता दें कि उदघाटन समारोह के जरिए दुनिया भर में अपनी छाप छोड़ने के लिए ऑस्ट्रेलिया ने जमकर पैसा बहाया है. इसकी जानकारी उदघाटन समारोह के कला और सांस्कृतिक विभाग के प्रमुख डेविड जॉकवर ने दी. जॉकवर इससे पहले भी दुनिया भर में कई खेल समारोह और बाकी दूसरे आयोजनों को सफल अंजाम दे चुके हैं. वह पिछले दो दशकों से इस पेशे में जुड़े हैं, लेकिन क्वींसलैंड से वह सबसे ज्यादा प्रभावित हुए हैं. इस समारोह को अपने करियर का सर्वश्रेष्ठ आयोजन बनाने में जॉकवर ने सबकुछ झोंक दिया. बता दें कि डेविड जॉकवर एथेंस 2004 और बीजिंग 2008 ओलंपिक खेलों के उद्घाटन समारोह से भी जुड़े रहे हैं. 

यह भी पढ़ें: ज्वाला गुट्टा ने उठाया सायना नेहवाल पर सवाल, नहीं खेलने की धमकी क्या सही है?
  जाहिर कि अब जब आयोजन ऑस्ट्रेलिया में होने जा रहा है, तो डेविड ऑस्ट्रेलिया की जड़ों और सांस्कृति अंदाज को दुनिया के सामने परोसने में अपनी टीम के साथ जमकर मेहनत की. उन्होंने कहा कि गोल्ड कोस्ट का अनुभव मेरे लिए अभी तक पूरी तरह अलग और सबसे जुदा रहा है, लेकिन मुझे यहां घर जैसा महसूस हो रहा है. ओपनिंग सेरेमनी की तैयारी जॉकवर ने साल 2016 में ही शुरू कर दी थी.

VIDEO: बैटन रिले ऑस्ट्रेलिया के करीब हर शहर से होकर गुजरी. चलिए नजर दौड़ा लीजिए. 
  और अब जब डेविड जॉकवर के करीब तीन साल के अध्ययन और तैयारी सीधे प्रसारण के जरिए दुनिया भर के सामने आई, तो हर कोई वाह-वाह कर उठा. तैयार रचनात्मक प्रस्तुतियों के जरिए जॉकवर ने ऑस्ट्रेलियाई संस्कृति के हर उस पहलू को दर्शाने की कोशिश की, जो वह कर सकते थे. और जिसके लिए उन्होंने अपनी टीम के साथ पिछले कुछ समय में जमकर मेहनत की. 
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement