NDTV Khabar

CWG 2018 live: हीना सिद्धू को स्वर्ण, पांच मुक्केबाजों ने कांस्य पदक सुनिश्चित किए

प्रतियोगिता के छठे दिन भारत का प्रदर्शन मिश्रित सफलता वाला रहा है. गगन नारंग का चूकना बता गया कि स्टार निशानेबाज अब अपने उतार पर हैं

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
CWG 2018 live: हीना सिद्धू को स्वर्ण, पांच मुक्केबाजों ने कांस्य पदक सुनिश्चित किए

कॉमनवेल्थ खेलों का लोगो

खास बातें

  1. छठे दिन की समाप्ति पर भारत के कुल 21 पदक हुए
  2. पांचों मुक्केबाजों ने क्वार्टरफाइनल में जीत दर्ज की
  3. स्कवॉश में मिक्स्ड डबल्स की दोनों जोड़ियां आगे बढ़ीं
गोल्ड कोस्ट: ऑस्ट्रेलिया में चल रहे 21वें कॉमनवेल्थ खेलों का छठा दिन भारत के लिए मिला-जुला रहा. निराशाजनक सुबह के बाद भारतीय शूटर हीना सिद्धू ने करोड़ों भारतीय खेलप्रेमियों के चेहरे पर स्वर्ण जीतकर जल्मुद ही मुस्कान ला दी. उन्होंने 25 मी. पिस्टल वर्ग में स्वर्ण जीता, जो छठे दिन भारत को मिलने वाला इकलौता स्वर्ण पदक रहा. वहीं मुक्केबाज नमन तंवर, अमित पंघाल, मौहम्मद हुसामुद्दीन, मनोज कुमार और सतीश कुमार ने अपने-अपने वर्ग में सेमीफाइनल में पहुंचकर भारत के लिए पांच कांस्य पदक सुनिश्चित कर दिए हैं.भारतीय महिला हॉकी टीम ने भी मंगलवार को दक्षिण अफ्रीका को मात 1-0 से हराकर सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया है. पुरुष टीम पहले ही अंतिम चार में जगह बना चुकी है.इनके अलावा पैरा पावरलिफ्टिंग में सचिन चौधरी ने भी अपनी कैटेगिरी में भारत के लिए कांस्य पदक झटकने में कामयाब रहे.

INDIA WINS GOLD
बहरहाल छठे दिन शूटिंग में भारत की दिन की शुरुआत खराब रही, जब दावेदार और भारत के स्टार निशानेबाज गगन नारंग और चैन सिंह 50 पिस्टल वर्ग के फाइनल में पदक नहीं जीत सके. लेकिन इस मायूसी को हीना सिद्धू ने खत्म कर दिया. 

यह भी पढ़ें: CWG 2018: गगन नारंग और चैन सिंह की 50 मी. राफइल के फाइनल में चूके
  इसके अलावा मुक्केबाजी में भी छठा दिन भारत के लिए बहुत ही बड़ा रहा और पांचों बॉक्सरों ने भारत के लिए पांच कांस्य  सुनिश्चित कर दिए. नमन तंवर ने 91 किग्रा और अमित पंघाल ने 46-49 किग्रा, मौहम्मद हुसामुद्दीन ने 56 किग्रा, मनोज कुमार ने 69 किग्रा और सतीश कुमार ने 91 किग्र भार वर्ग भार वर्ग सेमीफाइनल में पहुंचकर भारत के लिए पांच कांस्य पदक सुनिश्चत कर दिए हैं. इन चारों को ये पदक मिलना तय है. देखने की बात यह होगी कि इन चार कांस्यों में कितने स्वर्ण में बदलते हैं, और कितने रजत में. 
 
हॉकी में भी भारतीय पुरुष और महिला दोनों ही टीमों ने उम्मीदों को बरकरार रखते हुए सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया है.पहले पुरुष टीम ने मलेशिया को 2-1, तो बाद में महिला टीम ने दक्षिण अफ्रीका को 1-0 से हराकर सेमीफाइनल का टिकट हासिल किया. 

स्कवॉश की बात करें, तो मिक्स्ड वर्ग में दीपिका पल्लीकल और सौरव घोषाल ने जीत हासिल की, तो इसी वर्ग जोशना चिनप्पा और पॉल सिद्धू भी अपना मैच जीतने में कामयाब रहे. लॉन बॉल में भारत को निराशा हाथ लगी और भारत को आयरलैंड के खिलाफ हार मिली. 

टिप्पणियां
बैडमिंटन के मिक्स्ड वर्ग में सात्विक साईराज रंकीरेड्डी और अश्विनी पोनप्पा ने विजयी आगाज करते हुए इस वर्ग के अंतिम 32 जोड़ियों में जगह बना ली है. 
 
एथलेटिक्स में 400 मीटर रेस के सेमीफाइनल में हिमा दास ने अपना निजी सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए फाइनल के  लिए क्वालीफाई कर लिया. हिमा दास सेमीफाइनल में 51.53 का समय निकालकर तीसरे स्थान पर रहीं. वहीं, पुरुष वर्ग में मौहम्मद अनस 400 मीटर में राष्ट्रीय रिकॉर्ड बनाकर भी पदक से चूक गए.  वह फाइनल में चौथे स्थान पर रहे. उन्होंने 45.31 सेकेंड का समय निकाला. लेकिन इसके बावजूद मौहम्मद अनस ने भारतीय एथलेटिक्स में इतिहास रच दिया. केरल का यह धावक साल 1958 में महान मिल्खा सिंह के बाद से कॉमनवेल्थ खेलों की 400 मी. रेस के फाइनल में हिस्सा लेने वाले सर्वकालिक दूसरे एथलीट बन गए.

VIDEO: कुछ दिन पहले ही भारतीय हॉकी कप्तान मनप्रीत सिंह ने एनडीटीवी से बात की थी.

कुल मिलाकर छठा दिन अभी तक भारत के लिए मिश्रित सफलता वाला रहा है. बाकी बची स्पर्धाओं में तीन पदकों के लिए होड़ होगी. मतलब यह है कि दिन की समाप्ति पर भारत की पदकों की संख्या में इजाफा हो सकता है. 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement