NDTV Khabar

बैडमिंटन: अश्विनी पोनप्‍पा बोलीं, डबल्‍स में भारतीय खिलाड़‍ियों को शीर्ष पर आने में अभी समय लगेगा

अनुभवी बैडमिंटन खिलाड़ी अश्विनी पोनप्पा पेशेवर सर्किट में भारत के युगल खिलाड़ियों की प्रगति से प्रभावित हैं लेकिन कहा कि उन्होंने विश्व स्तरीय खिलाड़ियों को हराने वाले खिलाड़ी के रूप में विकसित होने में अभी समय लगेगा.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बैडमिंटन: अश्विनी पोनप्‍पा बोलीं, डबल्‍स में भारतीय खिलाड़‍ियों को शीर्ष पर आने में अभी समय लगेगा

अश्विनी पोनप्पा पेशेवर सर्किट में भारत के डबल्‍स खिलाड़ियों की प्रगति से प्रभावित हैं (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. अश्विनी ने डबल्‍स प्‍लेयर्स की प्रगति पर जताया संतोष
  2. कहा, पिछले कुछ समय में डबल्‍स में मिले अच्‍छे नतीजे
  3. राष्‍ट्रीय चैंपियनशिप में अश्विनी पोनप्‍पा ने जीते हैं दो खिताब
नई दिल्ली: अनुभवी बैडमिंटन खिलाड़ी अश्विनी पोनप्पा पेशेवर सर्किट में भारत के युगल खिलाड़ियों की प्रगति से प्रभावित हैं लेकिन कहा कि उन्होंने विश्व स्तरीय खिलाड़ियों को हराने वाले खिलाड़ी के रूप में विकसित होने में अभी समय लगेगा. पिछले कुछ समय में युगल खिलाड़ियों ने अच्छे नतीजे दिए हैं जिसमें सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी और चिराग सेन की नई पुरुष युगल जोड़ी ने कोरिया और फ्रांस में सुपर सीरीज टूर्नामेंट के क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई. प्रणव जैरी चोपड़ा और एन सिक्की रेड्डी मिश्रित युगल जोड़ी भी जापान ओपन के सेमीफाइनल में पहुंची.

यह भी पढ़ें:  पीवी सिंधु को सीधे सेटों में शिकस्त देकर साइना बनीं नेशनल चैंपियन   

हाल में संपन्न सीनियर राष्ट्रीय चैंपियनशिप में दो खिताब जीतने वाली अश्विनी ने कहा, ‘मुझे लगता है कि युगल खिलाड़ी सही राह पर हैं. लेकिन शीर्ष पर पहुंचने में अभी समय लगेगा.’ उन्होंने कहा, ‘युगल खिलाड़ियों को एक साथ ट्रेनिंग करनी होती है, देखना होता है कि दो खिलाड़ियों का संयोजन कैसा है लेकिन एकल खिलाड़ी के रूप में इतने बदलाव से नहीं गुजरना होता. लेकिन युगल खिलाड़ी सही राह पर हैं, चिराग और सात्विक अच्छा कर रहे हैं, प्रणव और सिक्की अच्छा कर रहे हैं. इससे सभी खिलाड़ियों को आत्मविश्वास और प्रेरणा मिलती है.’अश्विनी ने कल सात्विकसाईराज के साथ मिलकर मिश्रित युगल जबकि एन सिक्की रेड्डी के साथ मिलकर मिश्रित युगल का खिताब जीता.

यह भी पढ़ें: श्रीकांत को उलटफेर का शिकार बनाकर चैंपियन बने प्रणय

उन्होंने कहा, ‘यह (जीतना) अच्छा लगता है. लंबे समय से शीर्ष खिलाड़ी नहीं खेल रहे थे. इस बार सभी खेल रहे थे, इसलिए यह अलग तरह की राष्ट्रीय प्रतियोगिता थी. मेरे लिए यह विशेष है क्योंकि इससे पहले मैंने कभी मिश्रित युगल का खिताब नहीं जीता था.’बेंगलुरू की 28 साल की अश्विनी देश की अनुभवी युगल खिलाड़ियों में से एक हैं. उन्होंने ज्वाला गुट्टा के साथ मिलकर 2011 विश्व चैंपियनशिप में कांस्य पदक जीतने के अलावा राष्ट्रमंडल खेलों के नई दिल्ली और ग्लास्गो में हुए पिछले दो टूर्नामेंट में क्रमश: स्वर्ण और रजत पदक जीता. अश्विनी को तीसरी बार भी राष्ट्रमंडल खेलों में पदक की उम्मीद है लेकिन उन्होंने कहा कि यह चुनौती होगी.

टिप्पणियां
वीडियो: वर्ल्‍ड बैडमिंटन में मेडल जीतकर लौंटी पीवी सिंधु
उन्होंने कहा, ‘मैं निश्चित तौर पर अगले साल भी राष्ट्रमंडल खेलों में पदक जीतना चाहती हूं. मुझे लगता है कि यह सभी के लिए बड़ी चुनौती होगी क्योंकि सभी जीतने के लिए आते हैं.’राष्ट्रमंडल खेलों का आयोजन अगले साल चार से 15 अप्रैल तक आस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में किया जाएगा.

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement