EXCLUSIVE रियो के दावेदार : कुश्ती संघ का यू टर्न- 'जल्दी ट्रायल होना चाहिए'

EXCLUSIVE रियो के दावेदार : कुश्ती संघ का यू टर्न- 'जल्दी ट्रायल होना चाहिए'

सुशील और नरसिंह यादव (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

एक दिन पहले तक भारतीय कुश्ती संघ के अधिकारी परंपरा के आधार पर नरसिंह यादव के रियो जाने की वकालत कर रहे थे, लेकिन सुशील के प्रधानमंत्री को चिट्ठी लिखे जाने के बाद भारतीय कुश्ती संघ के अधिकारी अब ट्रायल करवाने का मन बनाते नजर आ रहे हैं। NDTV संवाददाता विमल मोहन से बातचीत के दौरान भारतीय कुश्ती संघ के उपाध्यक्ष राज सिंह ने ट्रायल करवाने की बात तो मानी लेकिन कहा कि यह फैसला सरकार या भारतीय ओलिंपिक संघ को करना पड़ेगा।

सवाल : नरसिंह ने पिछले साल लास वेगास में रियो का टिकट हासिल किया था। आपको नहीं लगता भारतीय कुश्ती संघ ने अपनी नीति साफ नहीं रखी और फैसला लेने में देर कर दी जिसकी वजह से इतना विवाद खड़ा हो गया। अब दोनों ही खिलाड़ियों के साथ नाइंसाफी हो सकती है? क्योंकि, दोनों रियो के लिए तैयार दिख रहे हैं।
राज सिंह : मैं सुशील की बात करता हूं। वे वर्ल्ड चैंपियनशिप में नहीं गए, क्योंकि वे उस समय चोटिल थे। वे डबल ओलिंपिक मेडलिस्ट हैं और उनकी बात समझनी चाहिए।

सवाल : लेकिन भारतीय कुश्ती संघ तो परंपरा निभाने की बात कर रहा है, जबकि अटलांटा ओलिंपिक्स (1996) के दौरान पप्पू यादव ओलिंपिक का कोटा जीत कर आए थे और तब भी उन्हें ट्रायल में जीतने के बाद ही अटलांटा में हिस्सा लेने का मौका मिला।
राज सिंह : ऐसा हुआ था, क्योंकि उस वक्त कुश्ती संघ के अध्यक्ष जीएस मंढेर पर काफी राजनीतिक दबाव डाला गया था और पहलवान पप्पू यादव को काका पवार (52 किग्रा वर्ग, ग्रीको रोमन) के खिलाफ ट्रायल खेलना पड़ा। पप्पू यादव ने ही कोटा जीता था, मगर ट्रायल में जीत के बाद ही वे अटलांटा गए।

सवाल : तो फिर, आप तो कुश्ती संघ के उपाध्यक्ष हैं, कुश्ती संघ इस ट्रायल के लिए क्यों राजी नहीं है?
राज सिंह : बात हमारे पाले में नहीं है। सरकार ने इन खिलाड़ियों पर पैसा खर्च किया है। उन्हें फैसला लेना चाहिए या फिर आईओए यह फैसला ले।

Newsbeep

सवाल : चलिए आप इस पर कोई स्टैंड नहीं लेना चाहते, लेकिन अगर कुश्ती संघ को कहा जाए कि वह ट्रायल करवाए तो तो क्या संघ ट्रायल के लिए तैयार है?
राज सिंह : मेरे खयाल से (तैयार है)। देश और खिलाड़ियों के हित में जल्दी ट्रायल करवा कर फैसला ले लेना चाहिए बेस्ट खिलाड़ी को ही रियो भेजा जाना चाहिए।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


सवाल : क्या आपको लगता है कि सुशील या नरसिंह की रियो में पदक के लिए दावेदारी मजबूत है? भारतीय कुश्ती टीम से इस बार कितनी उम्मीद कर रहे हैं?
राज सिंह : इस बार हमारी सबसे बड़ी टीम जा रही है। हमारे 8 खिलाड़ियों ने रियो के लिए क्वालिफाई किया है। महिला खिलाड़ियों में विनीश काफी मजबूत हैं। ओलिंपिक पदक विजेता योगेश्वर से काफी उम्मीद है। इन खिलाड़ियों से भी उम्मीद है। रियो में हमें ज्यादा पदक मिलने चाहिए।