जूनियर हॉकी वर्ल्‍डकप : लखनऊ की धुंध बनी एफआईएच की चिंता का कारण

जूनियर हॉकी वर्ल्‍डकप : लखनऊ की धुंध बनी एफआईएच की चिंता का कारण

प्रतीकात्‍मक फोटो

खास बातें

  • लखनऊ शहर में दृश्‍यता में आ गई है काफी गिरावट
  • धुंध इतनी ज्‍यादा थी कि स्‍टेडियम नजर नहीं आ रहा था
  • फाइनल सहित कई मैच रात में आयोजित होने हैं
लखनऊ:

जूनियर हॉकी वर्ल्‍डकप 2016 का मेजबान जब लखनऊ को चुना गया तो साल के इस समय उत्तर भारत में प्रतिकूल मौसम हालात हमेशा से चिंता का विषय थे लेकिन अब अंतरराष्ट्रीय हॉकी महासंघ (एफआईएच) की समस्या काफी बढ़ गई है क्योंकि 16 टीमों के टूर्नामेंट की शुरुआत से एक दिन पहले आज यहां दृश्यता में काफी गिरावट आई. शहर के बाहरी हिस्से में बने मेजर ध्यान चंद एस्ट्रोटर्फ स्टेडियम में धुंध की मोटी चादर छा गई जिससे मलेशियाई टीम को अपना अभ्‍यास सत्र आधा घंटा टालने को बाध्य होना पड़ा.

धुंध इतनी अधिक थी कि कुछ देर के लिए स्टेडियम बिलकुल भी नजर नहीं आ रहा था. कुछ देर के लिए धुंध कम हुई लेकिन फिर वापस आ गई जिससे मलेशिया की टीम को अपना ट्रेनिंग सत्र बीच में खत्म करना पड़ा. फाइनल सहित कई मैच रात को सात और आठ बजे शुरू होने हैं और ऐसे में अब एफआईएच वैकल्पिक रणनीति के बारे में सोचने लगा है जिसमें मैचों के समय में बदलाव और कुछ मैच शहर के बीचों बीच गोमती नगर नगर स्थित दूसरे हॉकी मैदान पर स्थानांतरित करना शामिल है. गोमती नगर स्टेडियम में फिलहाल टीमें अभ्‍यास कर रही हैं।

Newsbeep

एफआईएच के एक अधिकारी ने नाम जाहिर नहीं करने की शर्त पर पीटीआई से कहा, ‘आज हालात अविश्वसनीय थे. धुंध गंभीर मुद्दा बन रही है विशेषकर देर से शुरू होने वाले मैचों के लिए. एफआईएच मौसम को लेकर चिंतित है लेकिन यह हमारे हाथ में नहीं है. ऐसे प्रतिकूल मौसम की स्थिति में हम रणनीति बनाने की कोशिश कर रहे हैं.’

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)