इटली के गोलकीपर बुफोन ने अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल को अलविदा कहा

चार बार की चैम्पियन इटली के 60 साल में पहली बार फीफा वर्ल्‍डकप में जगह बनाने से चूकने के बाद गोलकीपर जियांलुइगी बुफोन ने अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल को अलविदा कह दिया.

इटली के गोलकीपर बुफोन ने अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल को अलविदा कहा

बुफोन ने अपना आखिरी मैच स्वीडन के खिलाफ खेला

खास बातें

  • बुफोन ने इटली के लिए 175वां मैच खेला
  • स्‍वीडन से यह मैच गोलरहित बराबरी पर छूटा
  • फीफा वर्ल्‍डकप में स्‍थान नहीं बना पाया इटली
मिलान:

चार बार की चैम्पियन इटली के 60 साल में पहली बार फीफा वर्ल्‍डकप में जगह बनाने से चूकने के बाद गोलकीपर जियांलुइगी बुफोन ने अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल को अलविदा कह दिया. बुफोन ने इटली के लिये 175वां और आखिरी मैच स्वीडन के खिलाफ खेला जो गोलरहित ड्रॉ रहा. इटली को स्वीडन के खिलाफ औसत के आधार पर 1-0 से पराजय झेलनी पड़ी. बुफोन ने इतालवी प्रसारक राइ से कहा,‘ मैं इतालवी फुटबॉल से माफी मांगता हूं. इस तरह से विदा लेने का मुझे खेद है.’इटली के आंद्रिया बार्जागली और मिडफील्डर डेनियल डे रोस्सी ने भी अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल को अलविदा कह दिया.

इस मैच में चार बार की पूर्व चैंपियन इटली ने गेंद को अधिक समय अपने कब्जे में रखा लेकिन पर्याप्त मौके बनाने में नाकाम रही. वर्ष 2006 की चैंपियन इटली की टीम 74000 प्रशंसकों की मौजूदगी में भी पूरे मैच के दौरान गोल के लिए तरसती रही. प्लेऑफ के पहले चरण में मिडफील्डर जैकब जोहानसन के गोल ने स्वीडन को 1-0 से जीत दिलाई थी.

वीडियो: नेमार के गोल से ब्राजील ने ओलिंपिक गोल्‍ड जीता
वर्ल्‍डकप में पहुंचने के लिए इटली को अपने घर में किसी भी हालत में स्वीडन को कम से कम 2-0 के अंतर से हराना था लेकिन वह कामयाब नहीं हो सकी. इटली की नाकामयाबी का मतलब यह है कि स्वीडन की टीम 2006 के बाद पहली बार वर्ल्‍डकप के लिए क्वालीफाई करने में सफल रही है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com