यह ख़बर 22 मार्च, 2013 को प्रकाशित हुई थी

खेलों के लिए चुनाव आयोग गठन का विकल्प ढूंढ़ रही सरकार

खेलों के लिए चुनाव आयोग गठन का विकल्प ढूंढ़ रही सरकार

खास बातें

  • केंद्रीय खेल मंत्रालय विभिन्न राष्ट्रीय खेल महासंघों और भारतीय ओलिम्पिक संघ में चुनावी गड़बड़ियों को रोकने और खेल निकायों में निष्पक्ष चुनाव कराने के लिए खेल चुनाव आयोग (ईसीएस) के गठन का विकल्प ढूंढ़ रही है।
नई दिल्ली:

केंद्रीय खेल मंत्रालय विभिन्न राष्ट्रीय खेल महासंघों और भारतीय ओलिम्पिक संघ में चुनावी गड़बड़ियों को रोकने और खेल निकायों में निष्पक्ष चुनाव कराने के लिए खेल चुनाव आयोग (ईसीएस) के गठन का विकल्प ढूंढ़ रही है।

इस सम्बंध में मंत्रालय ने दोबारा से खेल विधेयक का मसौदा तैयार करने के लिए सेवानिवृत न्यायाधीश मुकुल मुदगल की अध्यक्षता में एक कार्यदल का गठन किया है। यह कार्यदल भारतीय ओलिम्पिक संघ और राष्ट्रीय खेल महासंघों में स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनावों के संचालन की समस्या पर भी काम करेगा और आपराधिक आरोपों का सामना कर रहे लोगों को भारत में खेलों से सम्बंधित मामलों से दूर रखेगा।

मंत्रालय ने अपने बयान में कहा, "आईओए और कुछ खेल महासंघों में बीते दिनों हुए चुनावों ने पूरे देश का ध्यान अपनी ओर आकर्षित किया था। निर्वाचक नामावलियों को तैयार करने से लेकर निर्वाचन अधिकारियों की नियुक्ति और चुनावों के संचालन के मुद्दे प्राय: विवादास्पद बन गए हैं।"

बयान में यह भी कहा गया है, "कार्यदल एक स्थायी और स्वतंत्र चुनावी तंत्र की स्थापना की सम्भावनाओं को खोजेगा ( खेल चुनाव आयोग या ईसीएस)। ईसीएस को पूरी तरह से स्वायत्त होना चाहिए और स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव सुनिश्चित करने के लिए उसके पास पर्याप्त शक्ति भी होनी चाहिए।"

आईओए, एथलेटिक्स, तीरंदाजी, मुक्के बाजी, टेबल टेनिस और फुटबॉल महासंघों के चुनावों ने खेल मंत्रालय का ध्यान इस ओर खींचा है।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


इसके अलावा मंत्रालय को यह भी लगता है कि विभिन्न खेल निकायों द्वारा निर्वाचन अधिकारियों की अनौपचारिक नियुक्ति स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनावों के संचालन के लिए पर्याप्त नहीं है।