NDTV Khabar

एचएस प्रणय ने भारतीय बैडमिंटन में आए बदलाव का श्रेय इन दो खिलाड़ि‍यों को दिया...

स्टार शटलर एचएस प्रणय ने भारतीय बैडमिंटन में आए सकारात्‍मक बदलाव का श्रेय शीर्ष महिला शटलर पीवी सिंधु और साइना नेहवाल को दिया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
एचएस प्रणय ने भारतीय बैडमिंटन में आए बदलाव का श्रेय इन दो खिलाड़ि‍यों को दिया...

एचएस प्रणय को पुरुष वर्ग में 11वीं वरीयता हासिल है (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. कहा-सिंधु और साइना ने हमारी मानसिकता बदली
  2. पहले हम विपक्षी प्‍लेयर को देते थे बहुत अधिक सम्‍मान
  3. सिंधु, साइना ने हमें बड़े मैच जीतने का भरोसा दिया है
मुंबई: स्टार शटलर एचएस प्रणय ने भारतीय बैडमिंटन में आए सकारात्‍मक बदलाव का श्रेय शीर्ष महिला शटलर पीवी सिंधु और साइना नेहवाल को दिया है. प्रणय ने कहा कि कड़े प्रतिद्वंद्वियों का सामना करते वक्त अन्य भारतीय खिलाड़ियों की सकारात्मक मानसिकता में इन दोनों ने अहम भूमिका अदा की. प्रणय ने यहां कहा, ‘हम सभी खिलाड़ियों में जो एक चीज बदली है, वह है जीत हासिल करने का भरोसा. पिछले पांच से छह वर्षों में मैं यह बदलाव देख सकता हूं.’दुनिया के 11वें नंबर के पुरुष खिलाडी प्रणय ने कहा,‘इससे पहले हम टूर्नामेंट में जब बड़े खिलाड़ियों का नाम देखते थे तो हम कहा करते थे कि यह कठिन है। अब जब भी हम बड़े खिलाड़ियों का नाम देखते हैं तो हम ज्यादा आत्मविश्वास से भरे होते हैं.’

यह भी पढ़ें: वायरल सेक्‍स वीडियो पर मलेशियाई बैडमिंटन स्‍टार ली चोंग ने दी यह सफाई..

टिप्पणियां
प्रणय यहां महान बैडमिंटन खिलाड़ी नंदू नाटेकर और मुख्य राष्ट्रीय कोच पुलेला गोपीचंद के साथ 25वें जी डी बिरला मेमोरियल मास्टर्स इंटर-क्लब बैडमिंटन टूर्नामेंट के पुरस्कार वितरण समारोह में मौजूद थे. उन्होंने कहा, ‘पहले जब हम, दूसरे देशों के दिग्‍गज खिलाड़ि‍यों से खेला करते थे तो उन्हें काफी ज्यादा सम्मान देते थे.जब मैंने बैडमिंटन खेलना शुरू किया तो मैंने कभी नहीं सोचा था कि मैं इतने बड़े खिलाड़ियों के खिलाफ खेल सकता हूं या इस सुपर सीरीज स्तर या विश्व चैम्पियनशिप में इनके खिलाफ खेलूंगा.’

वीडियो: वर्ल्‍ड चैंपियनशिप में मेडल जीतकर लौटीं पीवी सिंधु
एचएस प्रणय ने कहा कि जब साइना और सिंधु ने बड़े टूर्नामेंट जीतना शुरू किया और चीनी खिलाड़ियों को हराना शुरू किया. जल्‍द ही अन्य भारतीय खिलाड़ियों को भी विश्वास होना शुरू हो गया कि वे भी इस तरह की उपलब्धि हासिल कर सकते हैं.(इनपुट: एजेंसी)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement