NDTV Khabar

बैडमिंटन के नियमों में बदलाव के प्रस्ताव से HS प्रणय नाखुश, कहा-ये हैं खिलाड़ि‍यों के खिलाफ

बैडमिंटन की स्‍कोरिंग प्रणाली में बदलाव और कोच पर कोचिंग में कटौती के विश्‍व बैडमिंटन महासंघ (बीडब्‍ल्‍यूएफ) के ताजा प्रस्‍ताव पर देश के स्‍टार खिलाड़ी एचएस प्रणय ने नाराजगी जाहिर की है.प्रणय बदलाव के इस प्रस्ताव से नाखुश हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बैडमिंटन के नियमों में बदलाव के प्रस्ताव से HS प्रणय नाखुश, कहा-ये हैं खिलाड़ि‍यों के खिलाफ

एचएस प्रणय का मानना है कि इस तरह के बदलावों से खेल की ब्रांड वैल्यू में बढ़ोत्री नहीं होगी (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. कहा, इसमें खेल की ब्रांड वैल्‍यू नहीं बढ़ेगी
  2. लेमन ब्रेक में कटौती के पक्ष में है BWF
  3. हर गेम के आखिरी में कोचिंग में भी चाहता है कटौती
नई दिल्ली: बैडमिंटन की स्‍कोरिंग प्रणाली में बदलाव और कोच पर कोचिंग में कटौती के विश्‍व बैडमिंटन महासंघ (बीडब्‍ल्‍यूएफ) के ताजा प्रस्‍ताव पर देश के स्‍टार खिलाड़ी एचएस प्रणय ने नाराजगी जाहिर की है.प्रणय बदलाव के इस प्रस्ताव से नाखुश हैं. उन्होंने कहा कि इस तरह के बदलावों से खेल की ब्रांड वैल्यू में बढ़ोत्री नहीं होगी. गौरतलब है कि बीडब्ल्यूएफ परिषद ने प्रस्ताव रखा है कि 11 अंक के लेमन ब्रेक और हर गेम के आखिर तक कोर्ट पर मिलने वाली कोचिंग में कटौती की जाए. यह भी सुझाव दिया गया है कि अंकों के बीच लिये जाने वाले समय में भी कटौती की जाए. मई में बैंकॉक में बीडब्ल्यूएफ की सालाना आम बैठक में इस प्रस्ताव को रखा जाएगा.

यह भी पढ़ें: एचएस प्रणय ने पीबीएल में किदांबी श्रीकांत को हराकर किया धमाका

टिप्पणियां
इस प्रस्‍ताव पर प्रतिक्रिया जताते हुए एचएस प्रणय ने कहा,‘बैडमिंटन काफी तेज रफ्तार खेल है. ब्रेक नहीं मिलने पर आपके पास सांस लेने की भी फुर्सत नहीं होती. आप पसीना नहीं सुखा सकते, पानी नहीं पी सकते. ये सभी नियम खिलाड़ियों के खिलाफ हैं .’

वीडियो: बैडमिंटन खिलाड़ी साइना नेहवाल से खास बातचीत
उन्होंने कहा,‘कई बार हालात अनुकूल नहीं होते तो आपको कोचों की जरूरत पड़ती है क्योंकि वे ही सबसे अच्छे से बता सकते हैं.’ इसके अलावा मौजूदा तीन गेम के ढांचे को बेस्ट ऑफ फाइव में बदलने का भी प्रस्ताव है. प्रणय ने कहा,‘मैं इस प्रारूप का पक्षधर नहीं हूं क्‍योंकि 21 प्वाइंट का प्रारूप उबाऊ नहीं है.यह उनके लिए फायदेमंद होगा जो फिट नहीं है.’ (इनपुट:एजेंसी)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement