डब्ल्यूएसएच ने एफआईएच के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की धमकी दी

खास बातें

  • इस साल नवंबर में शुरू होने वाले टूर्नामेंट में लगभग दस फ्रेंचाइजी टीमें दस लाख डॉलर इनामी राशि के लिए आपस में भिड़ेंगी।
New Delhi:

अंतरराष्ट्रीय हाकी महासंघ :एफआईएच: की खिलाड़ियों और राष्ट्रीय संघों को वर्ल्ड सीरिज ऑफ हाकी :डब्ल्यूएसएच: से जुड़ने पर ओलिंपिक खेलों में भाग लेने से रोकने की धमकी को खास तवज्जो न देते हुए लीग के आयोजकों ने गुरुवार को कहा कि यह टूर्नामेंट तय कार्यक्रम के अनुसार होगा और यदि जरूरी हुआ तो विश्व संस्था के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। यह नया लीग भारतीय हाकी महासंघ :आईएचएफ: और निम्बस स्पोर्ट्स चैनल के संयुक्त प्रयास से शुरू किया जा रहा है। इस साल नवंबर में शुरू होने वाले टूर्नामेंट में लगभग दस फ्रेंचाइजी टीमें दस लाख डॉलर इनामी राशि के लिए आपस में भिड़ेंगी। आईएचएफ अध्यक्ष आरके शेट्टी ने कहा, भारत सरकार ने देश में हाकी के संचालन के लिये केवल हमारी संस्था को अधिकृत किया है। उच्च न्यायालय ने हमें मान्यता दी है। एफआईएच यह कहने वाला कौन होता है कि वह हमें मान्यता नहीं देता। इससे साबित होता है कि वह अदालत का सम्मान नहीं करते। उन्होंने कहा, हम टूर्नामेंट का आयोजन करेंगे। इससे हटने का सवाल ही पैदा नहीं होता। हम खिलाड़ियों के लाभ और हाकी के विकास के लिये टूर्नामेंट का आयोजन कर रहे हैं। मुझे हैरानी है कि एफआईएच हमारे अंदरूनी मामलों में क्यों हस्तक्षेप कर रहा है। एफआईएच ने सभी संबंद्ध राष्ट्रीय संघों को पत्र लिखकर कहा है कि उसने इस तरह की किसी भी लीग को मान्यता नहीं दी है और अगर कोई खिलाड़ी और राष्ट्रीय संघ डब्ल्यूएसएच का हिस्सा बनता है तो उसे ओलिंपिक क्वालीफाइंग टूर्नामेंटों और ओलिंपिक खेलों में भाग लेने के लिये अयोग्य घोषित कर दिया जायेगा। एफआईएच ने कहा कि वे भारत के एकमात्र मान्यता प्राप्त संघ हाकी इंडिया के साथ मिलकर कुछ समय से काम कर रहे हैं ताकि देश में पेशेवर लीग शुरू की जा सके। उन्होंने कहा, एफआईएच को कुछ राष्ट्रीय खेलों से खबरें मिली हैं कि उनके कुछ खिलाड़ियों से एजेंसियों के जरिये उन फ्रेंचाइजियों ने बात की है जो इस नई लीग का हिस्सा होंगी। पत्र में कहा गया, एफआईएच डब्ल्यूएसएच को मान्यता नहीं देता है। एफआईएच साफ करना चाहता है कि डब्ल्यूएसएच और एफआईएच के प्रमुख टूर्नामेंटों की तारीखें टकरा सकती हैं जिसका असर खिलाड़ियों की भागीदारी पर पड़ सकता है। इसमें कहा गया, किसी भी खिलाड़ी या राष्ट्रीय संघ को डब्ल्यूएसएच में जुडने से पहले एफआईएच के सीईओ कैली फेयरवेदर से सलाह लेनी चाहिये। एफआईएच ने कहा कि उनकी अपनी लीग को एफआईएच और हाकी इंडिया का समर्थन हासिल होगा और इस बारे में आगे की घोषणा मार्च 2011 के पहले सप्ताह में कार्यकारी बोर्ड की बैठक के बाद की जायेगी। डब्ल्यूएसएच के शुरुआत की घोषणा पिछले महीने की गयी थी तथा आयोजकों ने भारतीय कप्तान राजपाल सिंह, संदीप सिंह, सरदारा सिंह, एड्रियन डिसूजा, धनंजय महादिक, अजरुन हलप्पा सहित कई खिलाड़ियों को अनुबंधित किया है। भारतीय खिलाड़ियों के अलावा आयोजकों ने आस्ट्रेलिया के जेमी ड्वायर सहित कई अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ियों से भी संपर्क किया है।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com