Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

बैडमिंटन : इंडोनेशिया और ऑस्‍ट्रेलिया ओपन सुपर सीरीज चैंपियन श्रीकांत का यह है अगला लक्ष्‍य....

टखने की चोट से उबरकर वापसी करने वाले के. श्रीकांत पिछले कुछ सप्ताहों की सफलता से खुश हैं.

बैडमिंटन :  इंडोनेशिया और ऑस्‍ट्रेलिया ओपन सुपर सीरीज चैंपियन श्रीकांत का यह है अगला लक्ष्‍य....

श्रीकांत ने कहा, मैं खिताब जीतने के उद्देश्य से ही विश्व चैंपियनशिप में हिस्सा लूंगा (फाइल फोटो)

खास बातें

  • श्रीकांत ने विश्‍व चैंपियनशिप जीतने का इरादा जताया
  • कहा-मैं जीत के बारे में सोच रहा हूं, रैंकिंग के बारे में नहीं
  • एचएस प्रणय और साई प्रणीत के प्रदर्शन को भी सराहा
हैदराबाद:

भारत के बैडमिंटन स्‍टार किदांबी श्रीकांत इन दिनों बेहतरीन प्रदर्शन कर रहे हैं. इंडोनेशिया और ऑस्‍ट्रेलिया ओपन सुपर सीरीज खिताब जीतकर श्रीकांत ने भारतीय खेलप्रेमियों को जश्‍न मनाने का मौका उपलब्‍ध कराया है. खास बात यह है कि अपने खिताबी अभियान के दौरान इस शटलर ने अपने से ऊंची वरीयता वाले कई खिलाड़ि‍यों को पराजित किया. करियर की इन दो बड़ी जीतों को बाद श्रीकांत का फिर से दुनिया के शीर्ष 10 बैडमिंटन खिलाड़ि‍यों में स्‍थान बनाना तय है. दो सुपरसीरीज खिताब जीतने के बाद उत्‍साह से लबरेज इस बैडमिंटन खिलाड़ी का लक्ष्‍य अब प्रतिष्ठित विश्व चैंपियनशिप के खिताब जीतना है.

इस 24 वर्षीय खिलाड़ी ने कहा कि वह खिताब जीतने के उद्देश्य से ही अगस्त में होने वाली विश्व चैंपियनशिप में हिस्सा लेंगे. श्रीकांत ने हैदराबाद लौटने पर पत्रकारों से कहा, 'शीर्ष दस में फिर से जगह बनाना अच्छा है लेकिन मैंने टॉप-10 में वापसी के लिये इन टूर्नामेंट में हिस्सा नहीं लिया था. मैं जीतने के लिये उनमें खेला था.' उन्होंने कहा, 'यहां तक कि विश्व चैंपियनशिप में भी मैं निश्चित तौर पर जीतने के लिए खेलूंगा. मैं अभी केवल इस के बारे में सोच रहा हूं, रैंकिंग मेरे दिमाग में नहीं है.' टखने की चोट से उबरकर वापसी करने वाले श्रीकांत पिछले कुछ सप्ताहों की सफलता से खुश हैं.

उन्होंने कहा, 'पिछले दो सप्ताह शानदार रहे. न केवल मेरे लिए बल्कि दो अन्‍य भारतीय खिलाड़ी एचएस प्रणय और साई प्रणीत के लिए भी. प्रणय ने वास्तव में अच्छा खेल दिखाया तथा लगातार मैचों में चोंग वेई और चेन लोंग को हराया. पहले कोई भी खिलाड़ी ऐसा नहीं कर पाया था.' श्रीकांत ने कहा, 'इस तरह का प्रदर्शन करने के लिए मैं प्रणय को बधाई देता हूं. यह दुर्भाग्यपूर्ण था वह सेमीफाइनल में हार गया.' रियो ओलिंपिक के बाद ही श्रीकांत टखने की चोट के कारण बाहर हो गए थे. इसस वह पिछले साल के अंतिम सत्र में नहीं खेल पाए थे. (एजेंसी से इनपुट)