NDTV Khabar

भारत ने मलेशिया को 3-2 से हराकर विश्वकप में पहली जीत दर्ज की

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
द हेग (नीदरलैंड):

आकाशदीप सिंह के तीन मिनट में किए गए दो गोल की बदौलत भारत ने शनिवार को हेग में पुरुष हॉकी विश्वकप के मैच में मलेशिया पर 3-2 से जीत दर्ज की।

जसजीत सिंह कुलार ने 13वें मिनट में भारत के लिए पहला गोल किया, लेकिन मलेशिया ने 45वें मिनट में मोहम्मद राजी द्वारा पेनल्टी कार्नर से किए गोल से स्कोर 1-1 से बराबर कर दिया।

इसके बाद आकाशदीप ने तीन मिनट में लगातार दो गोल कर अपनी टीम को टूर्नामेंट में पहली जीत दर्ज करने में मदद की।

पहले आकाशदीप ने 49वें मिनट में रूपिंदर पाल सिंह द्वारा जवाबी हमले वाली गेंद को आड़े क्रास से डिफ्लेक्ट कर गोल दागा। फिर दो मिनट बाद उन्होंने सर्कल के अंदर कप्तान सरदार सिंह के पास से गोल किया।

मलेशिया ने 61वें मिनट में जीत के अंतर को कम किया, उसके लिए मरहान जालिल ने भारतीय गोलकीपर पी आर श्रीजेश से रिबाउंड पर गोल किया।

भारत ने हालांकि मैच के दौरान गोल करने के कई मौके गंवाए, लेकिन उन्हें अंत में खतरनाक मलेशियाई हमलों को रोकने के लिए अपने डिफेंडरों पर भी निर्भर होना पड़ा।

इस जीत से भारत के ग्रुप-ए में चार मैचों में चार अंक हो गए हैं, जिससे सुनिश्चित हो गया है कि उसे पूल में निचले स्थान वाली टीम बनने की शर्म नहीं झेलनी पड़ी। भारत का अंतिम ग्रुप मैच गत विश्व चैम्पियन ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ होगा, जिससे वे चौथे या पांचवें स्थान पर रहेंगे। भारत, स्पेन और मलेशिया के अंतिम लीग मुकाबलों से ही ग्रुप का स्थान सुनिश्चित होगा। स्पेन अपने अंतिम लीग मुकाबले में मलेशिया से भिड़ेगा।

मलेशिया ने अपने सभी चारों मैच गंवा दिए हैं, जबकि स्पेन के चार मैचों में दो ड्रॉ हैं। मलेशिया के लिए एक जीत भारत के लिए ग्रुप में चौथे स्थान का रास्ता बना देगी और वे सातवें-आठवें स्थान के प्ले ऑफ के लिए खेलेंगे।

स्पेन को आज बेल्जियम से 2-5 से शिकस्त मिली। बेल्जियम की टीम इससे ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के साथ सेमीफाइनल की दौड़ में बन गई है।

भारत को आठवें मिनट में मलेशियाई सर्कल में घुसने का मौका मिला, जब रूपिंदर ने सर्कल के ऊपर से गेंद मंदीप सिंह की ओर भेजी लेकिन वह इसे आगे नहीं बढ़ा सके।

मलेशिया को अगले मिनट में अपना पहला पेनल्टी कार्नर मिला, लेकिन राजी के शॉट का गोलकीपर श्रीजेश ने अच्छा बचाव किया।

भारत ने इसके बाद लगातार आक्रमण शुरू किया और 13वें मिनट में अपने पहले पेनल्टी कार्नर से गोल किया। एस के उथप्पा ने कुलार को गेंद दी, जिन्होंने सर्कल के उपर से पास लेकर विपक्षी गोलकीपर सुब्रामियाम कुमार को छकाकर गोल दागा। भारत ने गोल करने के अन्य मौके भी बनाए, लेकिन इन्हें गोल में तब्दील नहीं कर सके जिससे पहले हाफ में स्कोर 1-0 रहा।

मलेशिया ने दूसरे हॉफ के 10 मिनट बाद राजी के पेनल्टी कार्नर से किए गोल से बराबरी हासिल की।

आकाशदीप का पहला गोल मलेशियाई पेनल्टी कार्नर के बाद आया जब रूपिंदर गेंद लेकर मलेशियाई डिफेंस की ओर बढ़ रहे थे और उन्होंने आकाशदीप को क्रास दिया जिन्होंने इसे डिफ्लेक्ट कर 49वें मिनट में गोल दागा।

सरदार ने दो मिनट बाद भारत के लिए तीसरे गोल का मौका बनाया, वह सेंटर से भागते हुए आए और उन्होंने इसे आकाशदीप की ओर बढ़ाया जिन्होंने इसका पूरा फायदा उठाते हुए अपने खाते में दूसरा गोल डाला।

भारत ने कई बार मौके बनाए, लेकिन स्ट्राइकर इनका लाभ नहीं उठा सके जबकि मलेशियाई टीम ने ऐसे ही एक मौके का फायदा उठाकर हार के अंतर को कम किया। जालिल ने भारतीय खेमे में हुए संदेह का फायदा उठाया और गोल दागा।

टिप्पणियां


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement