कोहली का प्रयास बेकार, भारत ने गंवाया मैच

खास बातें

  • कोहली की नाबाद 87 रन की बेहतरीन पारी के बावजूद भारत को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ चौथे वनडे में डकवर्थ लुईस पद्वति से 48 रन से हार झेलनी पड़ी।
पोर्ट एलिजाबेथ:

युवा बल्लेबाज विराट कोहली की नाबाद 87 रन की बेहतरीन पारी के बावजूद भारत को दूसरे छोर से लगातार विकेट गंवाने के कारण दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ चौथे एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में डकवर्थ लुईस पद्वति से 48 रन से हार झेलनी पड़ी। दक्षिण अफ्रीका इस तरह से शृंखला 2-2 से बराबर करने में सफल रहा। दूसरी तरफ भारत को दक्षिण अफ्रीकी सरजमीं पर पहली बार सीरीज जीतने के लिए अब रविवार को होने वाले पांचवें और अंतिम एकदिवसीय मैच में अपना पूरा जोर लगाना होगा। दक्षिण अफ्रीका ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए हाशिम अमला (64) की प्रवाहमय पारी के बावजूद बीच में युवराज सिंह (34 रन पर तीन विकेट) की शानदार गेंदबाजी और रन लेने में हडबड़ाहट के कारण 118 रन पर पांच विकेट गंवा दिए थे। जेपी डुमिनी (नाबाद 71) ने इसके बाद जोहान बोथा (44) के साथ 70 और रोबिन पीटरसन (31) के साथ 54 रन की साझेदारी करके टीम को सात विकेट पर 265 रन के मजबूत स्कोर तक पहुंचाया। बारिश ने जब पहली बार व्यवधान डाला, तब भारत ने 31.3 ओवर में छह विकेट पर 137 रन बनाए थे। खेल शुरू हुआ तो भारत को 46 ओवर में 260 रन का लक्ष्य मिला, लेकिन अभी केवल आठ गेंद ही डाली गई थी कि फिर से बारिश आ गई। अंपायरों ने जब मैच समाप्त कर दक्षिण अफ्रीका को विजेता घोषित किया तब भारत ने 32.5 ओवर में छह विकेट पर 142 रन बनाए थे। भारत को शुरू से ही विकेट गंवाने का खामियाजा भुगतना पड़ा। केवल कोहली ही पूरे विश्वास के साथ बल्लेबाजी कर पाए। उन्होंने अपनी पारी में 92 गेंद खेली तथा सात चौके और दो छक्के लगाए। युवराज (12) ने जोहान बोथा पर लांग ऑन पर छक्का जड़कर अपने तेवर दिखाए, लेकिन इसी ओवर में वह पैडल स्वीप करने के प्रयास में ग्रीम स्मिथ को कैच देकर पैवेलियन लौटे। कोहली ने दबाव की ऐसी परिस्थितियों में बेहतरीन बल्लेबाजी का नजारा पेश किया और सुरेश रैना के साथ मिलकर एक-दो रन लेकर पारी आगे बढ़ाई। इस बीच कोहली ने 67 गेंद पर पांच चौकों की मदद से अपना 12वां एकदिवसीय अर्धशतक पूरा किया। उन्होंने विशेष रूप से स्पिनर पीटरसन को निशाने पर रखा और उन पर अपनी पारी का पहला छक्का जमाया। रैना हालांकि इसी ओवर में स्टंप आउट हो गए और इस तरह से उनके और कोहली के बीच की साझेदारी 63 रन पर टूट गई। पीटरसन की सीधी गेंद खेलने के लिए रैना आगे निकल आए, लेकिन वह चूक गए और विकेट के पीछे एबी डिविलियर्स ने अपनी भूमिका निभाने में देर नहीं लगाई। संयोग देखिए कि कोहली ने पीटरसन के अगले ओवर में भी लांग ऑफ पर छक्का जड़ा और बायें हाथ के इस स्पिनर ने दूसरे छोर के बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी (2) को आउट करके जश्न मनाया। भारतीय कप्तान ने एक्स्ट्रा कवर पर फाल टू प्लेसिस को आसान कैच थमाया। पिछले मैच में भारत की जीत के नायक यूसुफ पठान (2) ने आते ही मोर्ने मोर्कल की ऑफ स्टंप से बाहर निकलती खूबसूरत गेंद को छेड़ने की सजा भुगती और विकेट के पीछे कैच देकर पैवेलियन लौटे।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com