Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

स्‍क्‍वॉश: भारत विश्‍व पुरुष टीम चैम्पियनशिप की खिताबी दौड़ से बाहर

आठवीं वरीयता प्राप्त भारत डब्ल्यूएसएफ विश्व पुरुष टीम स्‍क्‍वॉश चैम्पियनशिप की खिताब दौड़ से बाहर हो गया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
स्‍क्‍वॉश: भारत विश्‍व पुरुष टीम चैम्पियनशिप की खिताबी दौड़ से बाहर

प्रतीकात्‍मक फोटो

खास बातें

  1. दूसरी वरीयता प्राप्‍त इंग्‍लैंड ने पराजित किया
  2. भारत के तीनों खिलाड़ी अपने मैच हारे
  3. अब पांचवें से आठवें स्‍थान के लिए खेलेगी टीम
नई दिल्ली:
टिप्पणियां

आठवीं वरीयता प्राप्त भारत डब्ल्यूएसएफ विश्व पुरुष टीम स्‍क्‍वॉश चैम्पियनशिप की खिताब दौड़ से बाहर हो गया है. दूसरी वरीयता प्राप्त इंग्लैंड ने फ्रांस के मार्शेले में चल रही इसचैम्पियनशिप के क्वार्टर फाइनल में भारत को मात देकर उसे खिताबी दौड़ से बाहर कर दिया. भारत के शीर्ष खिलाड़ी सौरव घोषाल (विश्व रैंकिंग में 16वें स्थान पर) को छठीं रैंकिंग वाले खिलाड़ी निक मैथ्यूज से पांच गेम चले कड़े मुकाबले में 11-6, 6-11,11-7, 10-12, 11-9 से शिकस्त दी. हरिंदर पाल संधु दूसरे मुकाबले में डार्यल सेल्बे के खिलाफ कुछ खास नहीं कर सके और सीधे गेमों में 11-2,11-4, 11-2 से हार गए. इसके बाद औपचारिक मैच में विक्रम मल्होत्रा को भी हार का सामना करना पड़ा. उन्हें जेम्स विलस्ट्रोप ने 11-4, 9-11, 11-8 से पराजित किया.

भारतीय टीम अब पांचवें से आठवें स्थान के लिए खेलेगी. इससे पहले भारतीय टीम ने महेश मनगांवकर के उम्दा प्रदर्शन के दम पर सातवीं वरीयता वाली जर्मनी को 2-1 से हराकर क्वार्टर फाइनल में जगह पक्की की थी. महेश कोर्ट पर आये तब स्कोर 1-1 से बराबर था.उन्होंने 31 मिनट तक चले मुकाबले में 11-6, 11- 7, 11- 4 से जीत दर्ज की.

वीडियो: विश्‍व बैडमिंटन चैंपियनशिप में मेडल जीतकर लौटीं सिंधु
विक्रम ने शुरुआती मुकाबले में रूडी रोरमूलर को 11-8, 11-1, 11-8 से हराकर भारत को बढ़त दिलाई थी. दूसरे मुकाबले में घोषाल को जर्मन नंबर एक सिमोन रोसनेर ने 11-9, 4 -11, 11-5, 6-11, 11-3 से हराया था. (इनपुट: एजेंसी)




Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... दिल्ली में कोरोना के खतरे के बीच हजारों की संख्या में लोग पहुंचे बस अड्डे, विपक्षी नेताओं ने सरकार पर बोला हमला

Advertisement